Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रेहड़ी चालकों और पुलिस में विवाद, जाम हटवाने आए पुलिस कर्मचारियों से हाथापाई

इसी दौरान बुढलाडा रोड पर बस स्टैंड के नजदीक कुछ रेहड़ी चालक वहां से गुजर रहे थे तो पुलिस कर्मचारियों का रेहड़ी चालकों के साथ विवाद हो गया। रेहड़ी चालक गुरप्रीत सिंह व बाबर सिंह ने आरोप लगाया कि पीसीआर में तैनात पुलिस कर्मचारी ईएसआई जीत सिंह व अन्य कर्मचारियों ने उनकी डंडों से पिटाई करनी शुरू कर दी। इसके बाद

रेहड़ी चालकों और पुलिस में विवाद, जाम हटवाने आए पुलिस कर्मचारियों से हाथापाई
X

जाम लगा रहे रेहड़ी चालकों से बातचीत करते ड्यूटी मजिस्ट्रेट और रतिया थानाध्यक्ष, बहस होने के बाद पुलिस कर्मचारी के साथ हाथापाई करते रेहड़ी चालक।

हरिभूमि न्यूज : रतिया

नागरिक अस्पताल के सामने शुक्रवार दोपहर बाद पुलिस कर्मचारियों द्वारा रेहड़ी चालकों की डंडों से पिटाई करने के विरोध स्वरूप रेहड़ी चालकों ने रतिया-बुढलाडा स्टेट हाइवे पर जाम लगा दिया। इस दौरान रेहड़ी चालकों की पिटाई करने वाले पुलिस कर्मचारी जब जाम खुलवाने आए तो रेहड़ी चालकों की पुलिस कर्मचारियों के साथ हाथापाई हो गई और उन्होंने पुलिस कर्मचारियों को धक्के मारकर वहां से दूर भगा दिया। बाद में ड्यूटी मजिस्ट्रेट आनंद प्रकाश व सिटी थाना अध्यक्ष जय भगवान मौके पर पहुंचे और पिटाई करने वाले पुलिस कर्मचारियों कि ड्यूटी बदलने का आश्वासन देकर जाम खुलवाया। इसके बाद रेहड़ी चालकों ने चेतावनी दी कि अगर उक्त पुलिस कर्मचारियों की ड्यूटी पीसीआर पर लगाई गई तो उनका कड़ा विरोध किया जाएगा।

मिली जानकारी के अनुसार प्रदेश सरकार द्वारा दोपहर 12 बजे के बाद दुकानें खोलने पर लगाई गई पाबंदी को लागू करवाने के लिए पुलिस कर्मचारी पीसीआर पर गश्त कर रहे थे। इसी दौरान बुढलाडा रोड पर बस स्टैंड के नजदीक कुछ रेहड़ी चालक वहां से गुजर रहे थे तो पुलिस कर्मचारियों का रेहड़ी चालकों के साथ विवाद हो गया। रेहड़ी चालक गुरप्रीत सिंह व बाबर सिंह ने आरोप लगाया कि पीसीआर में तैनात पुलिस कर्मचारी ईएसआई जीत सिंह व अन्य कर्मचारियों ने उनकी डंडों से पिटाई करनी शुरू कर दी। जिस कारण उन्हें हाथ व कंधे पर गहरी चोट आ गई और पिटाई करने के बाद उक्त पुलिस कर्मचारी पीसीआर गाड़ी लेकर वहां से चले गए। घायल रेहड़ी चालकों को अस्पताल में दाखिल करवाया गया। रेहड़ी चालकों की पिटाई की सूचना जैसे ही अन्य रेहड़ी लगाने वाले लोगों को लगी तो काफी संख्या में रेहड़ी चालक नागरिक अस्पताल के गेट के बाहर पहुंच गए और उन्होंने पिटाई करने वाले पुलिस कर्मचारियों के खिलाफ स्टेट हाईवे पर जाम लगाकर नारेबाजी करनी शुरू कर दी।

बताया गया है कि इसी दौरान जिन पुलिस कर्मचारियों पर रेहड़ी चालकों की पिटाई का आरोप लगा था वही पुलिस कर्मचारी पीसीआर पर जाम खुलवाने के लिए पहुंच गए। इनको देखकर रेहड़ी संचालक भड़क गए और उन्होंने उनके खिलाफ जोरदार नारेबाजी करनी शुरू कर दी। इस दौरान रेहड़ी चालकों की पुलिस कर्मचारियों के साथ हाथापाई हो गई और पुलिस कर्मचारियों को धक्के मार कर मौके से दूर भगा दिया। मामला गर्म होता देख पुलिस कर्मचारी अपनी गाड़ी लेकर वहां से वापस चले गए। रेहड़ी चालकों ने आरोप लगाया कि पीसीआर गाड़ी में तैनात पुलिस कर्मचारी अक्सर उनके साथ दुर्व्यवहार करते रहते हैं और कई पुलिस कर्मचारी उनके रेहड़ी से सब्जी तथा फ्रूट लेकर उसके पैसे भी नहीं देते थे और डर के कारण वह उनसे पैसे नहीं मांगते थे। आज पुलिस कर्मचारियों ने उनकी डंडों से पिटाई कर दी जिस उनमें रोष है। सूचना मिलने पर ड्यूटी मजिस्ट्रेट आनंद प्रकाश व सिटी थाना अध्यक्ष जय भगवान मौके पर पहुंचे और उन्होंने रेहड़ी लगा रहे। लोगों से बातचीत की लोगों ने पिटाई करने वाले पुलिस कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई करने और उनकी ड्यूटी पीसीआर से हटाने की मांग की। इस पर ड्यूटी मजिस्ट्रेट ने पुलिस कर्मचारियों को बदलने का आश्वासन देकर जाम खुलवा दिया।

थानाध्यक्ष जय भगवान ने बताया कि 4 पुलिस कर्मचारियों के खिलाफ रेहड़ी चालकों ने मार पिटाई करने और दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाया है। इसके बारे में उच्च अधिकारियों को सूचित कर दिया गया है और पुलिस कर्मचारियों की ड्यूटी पीसीआर से बदल दी गई है।

Next Story