Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मुलाना में कौवों के मरने का सिलसिला जारी

मुलाना में अब तक कई कौवों की संदिग्ध बीमारों के चलते मौत हो चुकी है। वहीं अब मृत पाए गए कौवे का एक नया मामला मुलाना रेस्ट हॉउस में सामने आया है। बीते दिन मुलाना रेस्ट हॉउस में भी एक कौवा मृत पाया गया

मुलाना में कौवों के मरने का सिलसिला जारी
X

हरिभूमि न्यूज.मुलाना। मुलाना क्षेत्र में कौवों की संदिग्ध मौत का सिलसिला जारी है। मुलाना में आए दिन कौवों की मौत के नए मामले सामने आ रहे है। कस्बे में अलग अलग जगह मृत कौवे पाए जाने का सिलसिला निरंतर बना हुआ है।

मुलाना में अब तक कई कौवों की संदिग्ध बीमारों के चलते मौत हो चुकी है। वहीं अब मृत पाए गए कौवे का एक नया मामला मुलाना रेस्ट हॉउस में सामने आया है। बीते दिन मुलाना रेस्ट हॉउस में भी एक कौवा मृत पाया गया । जिसे बाद में पशुपालन विभाग द्वारा जमीन में दबाया गया । मुलाना क्षेत्र में इस प्रकार संदिग्ध बीमारी के चलते हो रही मौतों पर वन्य प्राणी विभाग इस मामले को गंभीरता से लेते हुए दिखाई नही पड़ रहा।

मुलाना में मृत कौवे पाए जाने के मामले में वन्य प्राणी विभाग की टीम ने कई दिन बीत जाने के बाद भी घटनास्थल का दौरा करना भी उचित नही समझा है। आए दिन मुलाना में संदिग्ध बीमारी से कौवों की मौत से क्षेत्र के पॉल्ट्री फार्म संचालक भी चिंतित है।

क्षेत्र के लोगो का मानना है कि यह मामला बर्ड फ्लू का भी हो सकता है। लेकिन संबंधित विभाग इस मामले को गंभीरता से नही ले रहा । वहीं मुलाना में मृत पाए गए कौवों का केस देख रहे पशुपालन विभाग ने भी इस केस से अपने हाथ पीछे खिंच लिए है।

पशुपालन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि पक्षियों की मौत से जुड़ा मामला उन के अधिकार क्षेत्र में नही आता बल्कि यह मामला वन्य प्राणी विभाग का अधिकार क्षेत्र है। वहीं पिछले दो दिन से कौवों के मृत पाए जाने का मामला पशुपालन विभाग देख रहा था।

यहां तक कि पशुपालन विभाग ने कौवों की मौत के दूसरे दिन संदिग्ध अवस्था मे बीमार पाए गए कौवे को अपनी निगरानी में पशु अस्पताल में रखा था। जहां रात के समय कौवे की मौत हो गई थी। उस सम्बंध में पशुपालन विभाग ने तब मृत कौवे का सैंपल ले शीघ्र रिपोर्ट आने की बात कही थी।

जांच रिपोर्ट आने के बाद ही होगी बर्ड फ्लू की पुष्टि:

वहीं पशुपालन विभाग के अनुसार कि तापमान में भारी गिरावट और कड़ाके की सर्दी के चलते कुछ पक्षियों की मौत हुई है लेकिन अधिकारिक तौर पर सैम्पल की जांच रिपोर्ट आने के बाद ही बर्ड फ्लू की पुष्टि हो सकती है । वहीं, बर्ड फ्लू की सम्भावनाओं को देखते हुए मृत मिले पक्षियों को पशुपालन विभाग के चिकित्सकों द्वारा मृत पक्षियों को दबाया गया है।

रिपोर्ट आने में अभी समय लगेगा

यह कार्य हमारे विभाग के अंतर्गत नहीं आता , यह कार्य वन्य प्राणी विभाग के अंतर्गत आता है। सिर्फ एहतियातन तौर पर हमने बीमार कौवे का सैंपल लेकर चैक कराया है। जिसकी रिपोर्ट आने में अभी समय लगेगा - देवेंद्र ढुल, एसडीओ, पशु पालन विभाग


Next Story