Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Agnipath Protest in Haryana : अग्निपथ के विरोध में हरियाणा में कांग्रेस का धरना- प्रदर्शन, सड़कों पर उतरे नेता और कार्यकर्ता

प्रदर्शन में पार्टी के सांसद, विधायक और नेता भी शामिल है। रोहतक में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा खुद मौजूद है।

Agnipath Protest in Haryana : अग्निपथ के विरोध में हरियाणा में कांग्रेस का धरना- प्रदर्शन, सड़कों पर उतरे नेता और कार्यकर्ता
X

रोहतक नगर निगम रोड पर अग्निपथ योजना के विरोध में धरने पर बैठे पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा व विधायक बीबी बतरा व कलानौर हल्के से विधायक शकुंतला खटक। 

Haryana : सेना भर्ती में अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) के विरोध में हरियाणा में कांग्रेस ने प्रदेश के सभी जिलों में सोमवार को प्रदर्शन शुरू कर दिया है। प्रदर्शन और धरने में पार्टी के सांसद, विधायक और नेता भी शामिल है। रोहतक में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा खुद मौजूद है। धरने को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा अग्निपथ योजना देश की सेना को कमजोर और उसके संख्याबल को कम करने का काम करेगी। जब देश आजाद हुआ तो देश के पास 4 लाख सैनिक थे, जो पिछले 70 सालों में बढ़कर 14 लाख हुए। लेकिन पिछले 3 साल से सेना की भर्ती नहीं होने की वजह से 2 लाख स्थायी पद खाली पड़े हैं। सरकार को चाहिए था कि वह खाली पड़े पदों पर पक्की भर्ती करती लेकिन, ऐसा करने की बजाए सरकार युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ करने वाली योजना लेकर आ गई। आखिर में हुड्डा ने कहा कि देश को आगे बढ़ाना है तो उसके लिए सबसे मजबूत नारा 'जय जवान, जय किसान' का नारा है। इसको कमजोर करके देश को मजबूत नहीं किया जा सकता।

वहीं रेवाड़ी में केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के तहत कांग्रेसी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने सोमवार को धरना देकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।सुबह कांग्रेस के बीसी सेल के राष्ट्रीय अध्यक्ष कैप्टन अजय सिंह यादव, सांसद दीपेंद्र हुड्डा और पूर्व मंत्री डा. एमएल रंगा राजीव चौक पर पहुंचे। वहां धरने पर बैठकर नारेबाजी करते हुए सरकार से इस योजना को तुरंत वापस लेने की मांग की।


सैलजा तथा हुड्डा गुट ने अलग- अलग धरना दिया


हिसार : केन्द्र सरकार की अग्निपथ योजना के विरोध में सोमवार को लघु सचिवालय के बाहर कांग्रेसियों ने विरोध प्रदर्शन किया। यह प्रदर्शन कांग्रेस द्वारा जिले की तहसील वह उप तहसील पर भी दिया गया। उकलाना में कांग्रेस के सैलजा तथा हुड्डा गुट ने अलग- अलग धरना दिया। धरने पर बैठे कांग्रेस नेताओं ने मांग की कि सरकार 'अग्निपथ' योजना को तुरंत प्रभाव से वापस ले और सेनाओं में नियमित भर्ती करके खाली पड़े पदों को भरे। उन्होंने कहा कि सरकार युवाओं के भविष्य को चौपट और देश की सेना को कमजोर करने वाला कदम न उठाएं। उन्होंने कहा कि 4 साल के बाद जिन अग्निवीरों की फौज से छुट्टी हो जाएगी उन्हें अलग-अलग मंत्रालयों, विभागों और प्राईवेट सेक्टर में प्राथमिकता देने के बड़े-बड़े वादे और दावे किये जा रहे है। सरकार बताए कि जो रिटायर्ड फौजी 15 साल की सर्विस के बाद वापिस आ रहे हैं उनमें से कितने रिटायर्ड फौजियों को सरकार ने नौकरी दी है। अग्निपथ योजना' लागू करने के निर्णय से देश भर के युवाओं में निराशा, मायूसी और गहरा रोष है। नौजवानों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हम बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि इस योजना के जरिये सरकार फौज के बुनियादी सिद्धान्त से जो खिलवाड़ कर रही है वो भी घातक साबित होगा।

नारनौल में अग्निपथ योजना के खिलाफ सत्याग्रह


नारनौल में कांग्रेस पार्टी की ओर से सोमवार लघुसचिवालय परिसर में अग्नि पथ योजना के विरोध में सत्याग्रह आरम्भ हुआ। यह पूर्व मंत्री राव नरेंद्र सिंह की अगुवाई में शुरू हुआ। इस दौरान उन्होंने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा बिना किसी व्यापक परामर्श के हाल ही में घोषित अग्निपथ योजना द्वारा सशस्त्र बलों की लंबे समय से चली आ रही परम्पराओं व नीतियों को नष्ट करने का प्रयास किया जा रहा है । देश के जवानों का मनोबल तोड़ने के इस प्रयास के चलते पूरे देश मे इस योजना के खिलाफ गुस्सा है और हर तरफ इसका विरोध किया जा रहा है । राव नरेंद्र सिंह ने बताया कि कांग्रेस आमजन हितैषी दल है , जिसके लिए गत दिनों पार्टी द्वारा जंतर मंतर व प्रदेश में इस योजना के खिलाफ शांतिपूर्ण सत्याग्रह किया था व साथ ही पार्टी के सांसदगणों ने शांतिपूर्ण मार्च निकाला व पार्टी के प्रतिनिधिमंडल ने माननीय राष्ट्रपति महोदय को ज्ञापन सौंपा जिसमे इस विवादास्पद योजना को वापस लेने व इस पर पुनः विचार विमर्श करने का अनुरोध किया गया था । राव नरेंद्र सिंह ने बताया कि इस योजना के खिलाफ कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व के निर्देशानुसार व क्षेत्र के आमजन की आवाज को मद्देनजर रखते हुए कांग्रेस शांतिपूर्ण सत्याग्रह का आयोजन कर रही है।

सिरसा : अग्निपथ योजना को वापस लेने की मांग को लेकर धरने पर बैठे


सिरसा की अनाज मंडी स्थित गांधी पार्क में सोमवार को कांग्रेसियों ने अग्निपथ के विरोध में सत्याग्रह धरना दिया जिला भर के कांग्रेसी तहसील स्तर पर भी अलग-अलग जगह अग्निपथ योजना को वापस लेने की मांग को लेकर आज धरने पर बैठे हैं। इसी कड़ी में सिरसा में पूर्व सांसद शणजीत सिंह रोड़ी प्रदेश कांग्रेस के महासचिव नवीन केडिया आदि नेताओं के नेतृत्व में कांग्रेसी सुबह गांधी पार्क पहुंचे और धरने पर बैठ गए। पूर्व सांसद एवं कांग्रेसी नेता चरणजीत सिंह रोड़ी का कहना है कि केंद्र सरकार यह योजना लाकर सीधे-सीधे सेना को कमजोर कर रही है यही नहीं इससे सेना में भर्ती के लिए तैयारी कर रहे युवाओं को भी जोरदार झटका लगा है। उन्होंने सवाल किया कि बेटा बाद में सेना में भर्ती होता है और बाप से पहले रिटायर हो जाता है यह कैसी योजना है उन्होंने केंद्र सरकार से अनुरोध किया कि राष्ट्र हित में इस योजना को तुरंत प्रभाव से वापस लिया जाए पूर्व सांसद ने कहा कि जब तक केंद्र सरकार इस योजना को वापस नहीं लेती निरंतर लोकतांत्रिक ढंग से कांग्रेस युवाओं के साथ मिलकर प्रदर्शन करेगी और इस योजना को वापिस लाकर ही दम लेगी।

कुरुक्षेत्र में उपायुक्त कार्यालय पर धरना दिया


कुरुक्षेत्र में अग्निपथ योजना के विरोध में थानेसर हलका के कार्यकर्ताओं ने उपायुक्त कार्यालय पर धरना दिया। धरने पर बैठे कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पूर्व मंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेसी नेता अशोक अरोड़ा ने कहा है कि सरकार द्वारा लाई गई अग्रिपथ योजना देश व युवाओं के साथ खिलवाड़ है। उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा को लेकर शॉर्ट टर्म नीतियां नहीं बननी चाहिए। देश की सुरक्षा कोई अल्पकालिक या अनौपचारिक विषय नहीं है। अग्रिपथ के नाम पर सैन्य भर्ती को लेकर जो खानापूर्ति करने वाला लापरवाह रवैया अपनाया जा रहा है, वह देश और देश के युवाओं के भविष्य की रक्षा के लिए घातक साबित होगा। अग्रिपथ योजना के लाए जाने से देश का युवा वर्ग असंतुष्ट और आक्रोशित है। सेना में जवानों की भर्ती की संख्या को कमी के साथ-साथ मात्र चार साल के लिए सीमित किया जा रहा है, यह युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ है। सरकार को तुरंत इस फैसले को वापिस लेना चाहिए। अशोक अरोड़ा ने कहा कि इस योजना के आने से फौज की तैयारी कर रहे युवाओं में अपने जीवन को लेकर असमंजस पैदा हो गई है। ऐसे में सरकार को चाहिए इस योजना को तुरंत वापिस ले।

यमुनानगर में प्रदर्शनकारियों ने केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नरेबाजी की

यमुनानगर में कांग्रेस के कार्यकर्ताओ ने सोमवार को अग्निपथ योजना के विरोध में जिला सचिवालय के समक्ष धरना प्रदर्शन किया। मौके पर प्रदर्शनकारियों ने केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नरेबाजी की। सोमवार सुबह कांग्रेस के जिला भर से सैकडों कार्यकर्ता वरिष्ठ नेता एवं इंटक के पुर्व प्रधान राजकुमार त्यागी के नेतृत्व मे जिला सचिवालय के समक्ष पहुंचे और धरना प्रदर्शन करने लगे। उन्होने केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नरेबाजी की। इसके बाद प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति के नाम उपायुक्त को ज्ञापन सौंपा। प्रदर्शनकारियों ने ज्ञापन में कहा है कि केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई अग्निपथ योजना देश हित में नहीं है। इस योजना से जहाँ देश की सुरक्षा को खतरा है, वहीं युवाओं का भविष्य खराब होगा। इस माैके मौके पर जसबीर सिंह, पूरी, सुरेश, मनोज, राजेश व सुखपाल आदि मौजूद रहे।

फतेहाबाद में अग्निपथ के विरोध में कांग्रेस का सत्यग्रह


फतेहाबाद : हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर सोमवार को कांग्रेस ने लघु सचिवालय के बाहर केंद्र सरकार के द्वारा लागू की गई अग्निपथ योजना के खिलाफ युवाओं के समर्थन में सत्याग्रह चलाया गया। कांग्रेस नेताओं के द्वारा सुबह 10:00 बजे से लेकर दोपहर 1:00 बजे तक लघुसचिवालय के बाहर बने पार्क में धरना दिया गया और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की गई। फतेहाबाद से पूर्व विधायक प्रह्लाद सिंह गिल्लाखेड़ा ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर तंज कसते हुए कहा कि हमारे मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा था कि 4 सालों के बाद अग्निवीरों को हरियाणा में नौकरी की गारंटी दी जाएगी। उन्होंने कहा कि अगले 2 सालों के बाद हरियाणा में विधानसभा चुनाव होंगे उसकी उसकी क्या गारंटी रहेगी कि हरियाणा की जनता आपको दोबारा सीएम बनाएगी। कांग्रेस नेता ने कहा कि अगर सरकार रोजगार की गारंटी देती है तो जो पहले रिक्त पद बचे हुए हैं उन्हें भरने का काम सरकार करें।

भिवानी : कांग्रेस पदाधिकारियों ने उपायुक्त कार्यालय के बाहर धरना दिया


भिवानी में अग्निपथ के विरोध में सोमवार को कांग्रेस द्वारा शहर में प्रदर्शन किया गया। कांग्रेस पदाधिकारियों ने उपायुक्त कार्यालय के बाहर धरना देकर अग्निपथ योजना को रद्द करने की मांग की। कांग्रेस पदाधिकारी सुबह 9 बजे से लेकर दोपहर एक बजे तक उपायुक्त कार्यालय के बाहर धरना देकर बैठे रहे तथा सरकार के ख़िलाफ़ नारेबाज़ी कर अपना रोष जाहिर किया।

जींद में अग्निपथ के विरोध में धरना



और पढ़ें
Next Story