Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मजबूरी ने ली जान, पिता की टांग टूटने पर काम पर गया था बालक

16 वर्षीय साहिल मंगलवार की सुबह 8 बजे घर से गुरदास कंबोज के घर पुराना मकान तोड़ने के लिए 350 रुपये प्रतिदिन मजदूरी पर जाकर लग गया था। इसी दौरान एक दीवार अचानक साहिल पर आ गिरी और वह नीचे दब गया।

मजबूरी ने ली जान, पिता की टांग टूटने पर काम पर गया था बालक
X
प्रतीकात्मक तस्वीर। 

हरिभूमि न्यूज : फतेहाबाद (भूना)

हिसार रोड स्थित खैरी चौक पर एक पुराने मकान की दीवार तोड़ते समय दबने से नाबालिग बालक की मौत होने का समाचार है। मृतक अपने पिता की सड़क दुर्घटना में टांग टूटी होने के कारण मजदूरी करने गया था, क्योंकि वह घर में चार भाई-बहनों में सबसे बड़ा था। नाबालिग बच्चे की मौत के बाद चंदननगर में मातम पसरा हुआ है। पुलिस ने मृतक के पिता के बयान पर इत्तफाकिया कार्रवाई की है।

पुलिस को दिए बयान में चंदन नगर वार्ड नंबर 14 निवासी कृष्ण कुमार ने बताया कि वह मेहनत मजदूरी का काम करता था, लेकिन पिछले दिनों उसका एक्सीडेंट होने के कारण टांग टूट गई थी। घर की आर्थिक हालात को देखकर उसका बड़ा बेटा 16 वर्षीय साहिल मंगलवार की सुबह 8 बजे घर से गुरदास कंबोज के घर पुराना मकान तोड़ने के लिए 350 रुपये प्रतिदिन मजदूरी पर जाकर लग गया था। इसी दौरान एक दीवार अचानक साहिल पर आ गिरी और वह नीचे दब गया। हालांकि लोगों ने हाथों-हाथ साहिल को दीवार के नीचे से निकाल लिया और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में दाखिल करवाया था, परंतु वहां पर इलाज के दौरान साहिल की मौत हो गई। मृतक के पिता बताया कि साहिल की मौत काम करते समय अचानक दीवार गिरने के कारण नीचे दबने से हुई है।

पुलिस ने शव का पंचनामा करके पोस्टमार्टम के लिए फतेहाबाद भेज दिया था। मंगलवार शाम को पोस्टमार्टम कार्रवाई के बाद साहिल के शव का गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस संबंध में पुलिस जांच अधिकारी ईश्वर सिंह ने बताया कि मृतक नाबालिग बच्चे के पिता कृष्ण कुमार के बयान पर इत्तफाकिया कार्रवाई की है।

Next Story