Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Cm Manohar lal बोले- हम वोटों के सौदागर नहीं, देखें खास बातचीत

सीएम ने दोहराया कि केंद्र सरकार और मंत्री बार बार किसानों से बातचीत कर रहे हैं। कानून में कमियां और संशोधन आदि के बारे में पूछ चुके हैं। लेकिन कुछ लोग इस आंदोलन को लंबा खींचने में लगे हुए हैं, साथ ही यह भी चाहते हैं कि किसी भी तरह से इसका कोई समाधान नहीं निकले अर्थात इसके पीछे कोई ना कोई सियासी मकसद लेकर खेल करने में लगा हुआ है।

Cm Manohar lal बोले- हम वोटों के सौदागर नहीं, देखें खास बातचीत
X

सीएम मनोहर लाल।

योगेंद्र शर्मा. चंडीगढ़

हरियाणा के सीएम मनोहरलाल ने चंडीगढ़ स्थित अपने आावास पर हरिभूमि प्रमुख संवाददाता के साथ में हर विषय पर खुलकर बातचीत की। उन्होंने वर्तमान में सियासी हलचल, किसान आंदोलन से लेकर आने वाले बजट, डीजीपी को एक्सटेंशन, एसडीओ भर्ती, बिजली के छापों सहित हर विषय पर बेबाकी से जवाब दिए और साफ कर दिया कि हम पिछली सरकारों की तरह से वोटों के सौदागर नहीं बल्कि अंत्योदय की भावना से पारदर्शी सिस्टम देने की दिशा में लगातार आगे बढ़ रहे हैं।

मुख्यमंत्री का कहना है कि हमारी सरकार अंत्योदय की भावना के साथ में काम कर रही है, हम वोटों के लिए कोई काम नहीं करते ना ही सौदेबाजी करने वालों के सामने झुकने वाले नहीं हैं। अब से पहले देश औऱ प्रदेश का दुर्भाग्य रहा है कि वोटों के लिए काम करने वाले लोगों ने विकास औऱ पात्र लोगों को पीछे छोड़ दिया था। मुख्यमंत्री का कहना है कि हमारा मूल मंत्र सुशासन है, जिसमें पारदर्शिता, भ्रष्टाचार को समाप्त करने औऱ अंत्योदय की भावना इन सभी बातों को ध्यान में रखकर हमारी सरकार काम कर रही है।

किसान आंदोलन के पीछे कोई ना कोई तो खेल है

सीएम ने दोहराया कि केंद्र सरकार और मंत्री बार बार किसानों से बातचीत कर रहे हैं। कानून में कमियां और संशोधन आदि के बारे में पूछ चुके हैं। लेकिन कुछ लोग इस आंदोलन को लंबा खींचने में लगे हुए हैं, साथ ही यह भी चाहते हैं कि किसी भी तरह से इसका कोई समाधान नहीं निकले अर्थात इसके पीछे कोई ना कोई सियासी मकसद लेकर खेल करने में लगा हुआ है। सीएम ने एक अन्य प्रश्न के उत्तर में कहा कि कुछ लोग किसानों को बरगलाकर दूध नहीं बेचने, फसल को खराब कर देने, खेत में ही खत्म करने की सलाह दे रहे हैं, इसत रह के तत्व कभी भी किसानों के हितैषी नहीं हो सकते। सीएम ने यह भी कहा जहां पर कोई झगड़ा हो, वहां पर समाधान कराया जाता है, वहां पर कोई भी किसी तरह का विवाद नहीं है। सरकार के दरवाजे हमेशा किसानों के लिए खुले हुए हैं। सीएम ने कहा कि कईं बार आंदोलन को गलत दिशा में ले जाने के पीछे कौन लोग साजिश रच रहे हैं, आप सभी जानते हैं। हमने किसानों के हितों को लेकर तमाम फैसले लिए हैं, अब सीधा पैसा उनके खातों में जाने लगा है, हमारी तर्ज पर कईं राज्यों ने इसे अपना लिया है। लेकिन एमएसपी को लेकर कानून बनाने के कईं तरह के साइड इफेक्ट भी होंगे, अगर सजा का प्रावधान होगा, तो भी किसानों के लिए कईं तरह की परेशानी उत्पाद बेचने के काम में खड़ी हो जाएगी। देश और दुनियांभर में डिमांड और आपूर्ति का सिद्धांत लागू होता है। दूसरा बेचने और लोने वाली सहमति पर निर्भर करता है

बड़बोले नेता खुद ही अपनी पोल खोलने का करते हैं काम

सीएम ने एक निर्दलीय विधायक के यहां पर आयकर के छापों को लेकर कहा कि यह विषय राज्य का नहीं है, आयकर विभाग ने पहले से कोई तैयारी अथवा सर्वे आदि कर लिया होगा। उन्होंने विधायक का बिना नाम लिए कहा कि कुछ वीडियो भी वायरल हो रहे हैं, जिसमें बड़बोला व्यक्ति खुद ही अपने बारे में बयान कर रहा है कि वो कितने हजार करोड़ का मालिक बन गया है।

पंचायत चुनाव कराएंगे, कोई दिक्कत नहीं

सीएम ने पंचायत चुनावों को लेकर कहा कि इसमें कईं कारणों से देरी हो गई है लेकिन हम इसके लिए तैयार हैं। इसी तरह से कालका और एलनाबाद सीटों पर होने वाले उपचुनाव को लेकर जब चुनाव आयोग की ओऱ से तारीख का एलान किया जाएगा, उसी वक्त देखा जाएगा। सीएम ने यह भी कहा कि गठबंधन जजपा नेताओ के साथ में बैठकर विचार मंथन करेंगे, जिसके बाद में कोई फैसला लिया जाएगा। उन्होंने चुनाव में देरी औऱ प्रशासक बैठा देने और विपक्ष द्वारा आरोप प्रत्यारोप पर कहा कि अगर हम समय से चुनाव कराने का फैसला लेते, तो यह लोग कहते कि आंदोलन खत्म कराने के लिए दबाव बना रहे हैं। इसीलिए हम इंतजार करेंगे, जैसे ही चुनाव आयोग तारीख की घोषणा करेगा, उसके बाद में सारा कुछ साफ कर दिया जाएगा।

बच्चों को परीक्षा के लिए तैयार रखना होगा

सीएम ने एसडीओ भर्ती पर सवाल खड़े करने को लेकर कहा कि गेट के स्कोर के आधार पर पारदर्शी भर्ती की गई है। इस भर्ती में 95 हरियाणा और 69 बाहर के हैं। लेकिन एससी बीसी का आरक्षण भी भर्ती में देखना होॆता है, विपक्ष के नेताओं के पास बरगलाने के अलावा कुछ नहीं हैं। यह भर्ती पूरी तरह से पारदर्शी औऱ योग्य युवाओं को मिली है। देश में कोई भी राज्य डोमिसाइल आदि की शर्त नहीं लगा सकता हरियाणा के कईं होनहार बच्चे यूपी सिविल सर्विस व बाकी नौकरियों में जाते हैं। विपक्षी नेता लोगों को भ्रम में डालने का काम करने से बाज आएं क्योंकि यह कोई अच्छी परंपरा नहीं हैं। उन्होंने कहा कि निजी क्षेत्र में पहले कईं कईं साल से काम करने वालों को ध्यान में ऱखते हुए हमने मूल निवास की अवधि को कम से कम पांच साल किया है, ताकि यहां परिवार सहित रहकर काम कर रहे लोगों को कानून बनने के बाद में दिक्कत नहीं हो। सरकारी नौकरियों में सभी को मौका दिया जाता है, कोई भी प्रदेश मूल निवास के आधार पर कोई पाबंदी नहीं लगा सकता, यह संवैधानिक बात है। सीएम ने कहा कि हमें बच्चों को परीक्षा के लिए तैयार करना होगा ताकि वे कहीं भी अपनी योग्यता के आधार पर नौकरी प्राप्त कर सकें।

डीजीपी की की एक्सटेंशन पर सीएम ने कहा

डीजीपी मनोज यादव की एक्सटेंशन पर सीएम ने कहा कि यह ठीक है कि दो साल के लिए तैनाती की गई थी लेकिन हमने एक्टेंशन देने के साथ ही एमएचए और आईबी सहित सभी को सूचित कर दिया था। सीएम ने उक्त पूरे मामले को लेकर कहा कि कोई किसी भी तरह का संशय इसमें नहीं है, हां इतना जरूर है कि मनोज यादव का केंद्र आईबी की ओर से आब्जर्व कर लिया गया था। आने वाले वक्त में अधिकारी लगाने नहीं लगाने को लेकर वक्त आने पर देख लेंगे।

अंत्योदय की भावना से करेंगे अंतिम पंक्ति में खड़े लोगों का कल्याण

सीएम का कहना है कि हम अंत्योदय की भावनासे काम कर रहे हैं, जो लोग पाात्र हैं, और घर बैठे हुए हैं, उनको सुविधाएं देना हमारा काम है। हम बीपीएल की आय सीमा को बढ़ाकर एक लाख 80 हजार कर चुके हैं। मांगने वालों और दबाव बनाने वालों को नहीं बल्कि पाात्र व जरूरत को मदद मिलनी चाहिए। सीएम ने कहा कि पीपीपी परिवार पहचान पत्र इस मामले में बेहद ही अहम दस्तावेज होगा और आने वाले वक्त में वैरिफिकेशन के बाद ही योजनाओं के लाभ दिए जाएंगे कार्ड के आधार पर नहीं।

कोविड संक्रमण को रोकने के लिए फिर उठाएंगे कदम

सीएम ने एक बार फिर से संक्रमण बढ़ जाने की बात को स्वीकार किया औऱ कहा कि सोमवार को खुद स्वास्थ्य मंत्री बैठक लेर समीक्षा करेंगे, जिसके बाद में मैं खुद ही प्रदेश टास्क फोर्स की मीटिंंग कर पूरे प्रदेश का अपडेट लूंगा।

जहरीली शराब मामले में चल रहा अध्ययन

सीएम ने जहरीली शराब और एसआईटी की रिपोर्ट को लेकर कहा कि जहरीली शराब रिपोर्ट पर अध्ययन किया जा रहा है, इसमें वक्त लगता है,इसके बाद विचार किया जाएगा फिलहाल अधिकारी अध्ययन कर रहे हैं। सीएम ने राजस्व मामले में मंडलायुक्तों को सौंपी जांच को लेकर कहा कि दोषियों पर हमारी सरकार लगातार कार्रवाई कर रही है।

स्वास्थ्य पर रहेगा बजट का फोकस

सीएम ने एक सवाल के जवाब में कहा कि कोविड की चुनौती के बाद भी हमने बेहतर काम किया सैलरी व पेंशन समय पर दी हैं। इस बार का राज्य का बजट कैसा होगा, इसका आकार बढ़ेगा या नहीं अभी से यह खुलासा नहीं किया जा सकता लेकिन प्रदेश के लोगों के स्वास्थ्य को लेकर हम फोकस करेंगे। सीएम ने कहा कि राज्य का बजट केंद्र के साथ में लिंक्ड होता है, इसीलिए आप लोग इसे केंद्रीय बजट की झलक भी कह सकते हैं।

मेडिकल कालेज खोलने की प्रक्रिया तेज होगी

सीएम ने कहा कि राज्य में मेडिकल की दो हजार सीटें करने का लक्ष्य रखा है। जिन कालेजों की प्रक्रिया जारी हो चुकी है, उनको खोलने की दिशा में कदम उठाए जा रहे हैं, फिलहाल 1720सीटें हैं। गोल्डल फील्ड मेडिकल कालेज सरकार द्वारा खरीद लिए जाने को लेकर सीएम ने कहा कि हमारी मंशा पूरी तरह से साफ है, राज्य में डाक्टरों की कमी नहीं रहने देंगे। पहले काफी कम सीटें औऱ मेडिकल कालेज थे लेकिन हमारी सरकार लगातार इस दिशा में कदम उठा रही है।

राज्य के पौने तीन करोड़ लोग ही मेरा परिवार

सीएम का कहना है कि अब राज्य के 65 लाख परिवार व पौने तीन करो़ड़ लोगों को ही मेरा परिवार कहा जा सकता है, इनके हितों को ध्यान में रखकर ही बजट बनाया जाएगा। सीएम ने कहा कि किसी भी घर के मुखिया को ही सारे सदस्यों का ध्यान रखना होता है, इसीलिए मैं इस बात का बजट में खास ध्यान रखूंगा। मैने प्रदेश के सांसदों की दिल्ली में बजट को लेकर बात सुनी है, इसके अलावा विधायकों से भी सुझाव मांगे हैं। जैसे, जैसे आ रहे हैं, उनका अध्ययन करने के बाद ही कुछ कहा जा सकेगा।

प्रलोभन देकर धर्म परिवर्तन करने वालों पर होगी कार्रवाई

सीएम ने राज्य में कुछ लोगों द्वारा लालच देकर अथवा किसी अन्य तरह के दबाव डालकर धर्म परिवर्तन के मामले में कहा कि हम इस बार के बजट सत्र में कानून लेकर आएंगे। दबाव, लालच और किसी भी तरह से गुमराह करने वालों के विरुद्ध कार्रवाई की तैयारी है। वैसे, कोई स्वैच्छा से बिना किसी दबाव के अगर अपना धर्म बदलता है, तो उसको आजादी है।

बिजली बकायेदारों पर चलेगी कार्रवाई

सीएम ने कहा कि हेराफेरी कर सराकरी खजाने को चूना लगाने वाले लोगों के विरुद्ध हमने कड़ी कार्रवाई का आदेश दिया है, पहली बार इतनी बडी़ कार्रवाई की गई है। अब इस तरह के लोगों को भी नहीं बख्शा जाएगा, जो मोटा बकाया होने की स्थिति में दूसरे नामों से काम करने लगते हैं। सीएम ने साढ़े चार करोड़ कीराशि के डिफाल्टरद्वारा एक जिले में उसी संपत्ति के अंदर दूसरा कनेक्शन लेने वाले का उदाहरण दिया साथ ही कहा कि आने वाले वक्त में सभी बातों का ध्यान रखकर कनेक्शन देंगें। बिजली चोरी रोकने और लाइन लास घटाने की दिशा में बेहतर कामकाज किया जा रहा है। सही लोगों को छेड़ा नहीं जाएगा लेकिन गोलमाल करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। 236 टीमें फील्ड में काम कर रही हैं, पहली बार इतनी बड़ी टीम बनाई गई है। इसी तरह से हमने हरको बैंक के बकायेदाराें को स्कीम देकर छह से सात लाख परिवारों को डिफाल्टरों की सूची से बाहर कर दिया है क्योंकि उन्होंंने स्कीम कका फायदा उठाते हुए पैसा जमा कर दिया था।

लीगल पचड़ों के कारण रद् करनी पड़ रही भर्ती, वर्षों से लटते थे मामले

हरियाणा के मुख्यमँत्री मनोहरलाल ने टीजीटी अंग्रेजी और संस्कृत अध्यापकों की भर्ती रद् करने के प्रश्न के उत्तर में कहा कि कईं कईं साल से भर्ती लटकी हुुई थी, प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ती जिससे किसी भी पक्ष को कोई फायदा नहीं होता बस अदालत की ओऱ से स्टे मिल जाने के कारण इनके मामले बरसों से लटके हुए थे। भर्ती प्रक्रिया को रद् कर नए सिरे से पदों को भरने के लिए आवेदन मांगे जाएंगे, ताकि प्रक्रिया को जल्द से जल्द पूरा किया जा सके। सीएम ने पुराने आवेदकों को उम्र सीमा में छूट दिए जाने के सवाल पर कहा कि सभी को नए सिरे से आवेदन करना होगा, अभी इस तरह का कोई विचार नहीं हैं। लेकिन नए सिरे से आवेदन करने वालों का कम से कम वक्त तो बचेगा, पहले भी अगर स्टे था, तो भर्ती तो नहीं हो सके थे। सीएम ने यह भी कहा कि अब हम पारदर्शी तरीके से भर्ती करने के साथ ही ज्वायनिंग में बेहद कम समय लेते हैं, कईं बार ज्वायनिंग को लेकर भी लोग अदालत में चले जाते हैं लेकिन ज्वायनिंग के पहले तक सरकार के पास अधिकार होता है, इसीलिए वे भर्ती को रद् करने का भी अधिकार है।

ग्रुप डी के लिए चल रही प्रक्रिया, पोर्टल पर जारी पंजीकरण

सीएम ने कहा कि हमने सभी विभागों में ग्रुप डी और सी के लिए पोर्टल पर एक ही बार कागज अपलोड करने व फीस भरने का विकल्प दिया है। जिसका काफी बडी संख्या में युवा लाभ ले रहे हैं। सीएम ने कहा कि इससे उन्हें अलग अलग वेकेंसी के लिए बार बार फीस जमा करने सहित कईं परेशानियों से बचाया जा रहा है। प्रक्रिया में कामन टैस्ट लिया जाएगा, जिसके बाद में मेरिट के हिसाब से भर्ती होती रहेगी।

75 फीसदी निजी क्षेत्र में युवाओं को आरक्षण की प्रक्रिया रही चल

मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने निजी क्षेत्र में हरियाणा के युवाओं को 75 फीसदी आरक्षण को लेकर कहा कि हमने ड्राफ्ट तैयार कर एडवोकेट जनरल के आफिस में भेजा था ताकि किसी भी तरह से कानूनी कमी पेशी नहीं रहे। इस संबंध में प्रक्रिया जारी है।

मंत्रीमंडल विस्तार के सवाल पर कहा, जब करेंगे बता देंगे

सीएम ने मंत्रीमंडल विस्तार के सवाल पर दोहराया हमारे मंत्रीमंडल में दो पद रिक्त हैं, इसमें कोई दो राय नहीं हैं, गठबंधन के साथी जजपा का एक मंत्री बनाया जाना है, इस बारे में जब कुछ करेंगे, तो बता दिया जाएगा। फिलहाल सरकार बढ़िया चल रही है, सारा कामकाज पटरी पर है। कृषि के क्षेत्र में सुधारों का सिलसिला महत्वपूर्ण है क्योंकि कृषि क्षेत्र बरसों से तमाम चुनौतियां महसूस कर रहा था। किसानों को चुनौतियों से बाहर लाने के लिए कृषि सुधार कर रहे हैं, देंश के पीएम खुद इस बात को लेकर चिंतित हैं। कांग्रेसी और कुछ अन्य लोग आंदोलनकारियों को उकसाने का खेल खेल रहे हैं।

हमारा गठबंधन विश्वास और भरोसे का गठबंधन

सीएम ने यह भी साफ कर दिया है कि जजपा के साथ में मजबूत गठबंधन के कारण विपक्षी नेताओं और कांग्रेस के पेट में दर्द होता है। गठबंधन की सरकार जन कल्याण का जो लक्ष्य लेकर बनी है। दोनों ही दलों के नेता अपनी-अपनी जिम्मेदारी को बखूबी निभा रहे हैं। सीएम ने पेंशन को लेकर कहा कि हम बुजुर्गों की पेंशन और बाकी सामाजिक पेंशन को लेकर लगातार काम कर रहे हैं। आने वाले समय में बजट आना है, देखते हैं कितनी बढ़ोत्तरी की जाए।

विधानसभा में अपनी बात रखने का विपक्ष को पूरा हक

सीएम ने कहा कि सदन में विपक्ष को अपनी बात रखने का पूरा हक है। हमारी सरकार के पास पूरा बहुमत है, इसीलिए हमे कोई परवाह नहीं हैं। विपक्ष को भी राजनीयि करने का पूरा हक है। कांग्रेस के अविश्वास प्रस्ताव को जनता पहले ही गिरा चुकी है, भाजपा को जनता की ओऱ से विश्वास हासिल है। हम विश्वास मत लाएंगे। कांग्रेस को ओछी राजनीति से दूर हटकर प्रदेश के कल्याण करेंगे।

Next Story