Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

महेंद्रगढ़ : भ्रूण लिंग जांच करवाता क्लीनिक संचालक रंगे हाथ गिरफ्तार, 45 हजार में हुआ था सौदा

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पुलिस के सहयोग से महेंद्रगढ़ के राव तुलाराम चौक के समीप स्थित कौशिक हेल्थ केयर से एक दलाल को रंगे हाथों धर-दबोचने उपरांत पुलिस के हवाले कर दिया।

महेंद्रगढ़ : भ्रूण लिंग जांच करवाता क्लीनिक संचालक रंगे हाथ गिरफ्तार, 45 हजार में हुआ था सौदा
X

आरोपित के साथ स्वास्थ्य विभाग व पुलिस की टीम। 

हरिभूमि न्यूज : नारनौल

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने एक बार फिर जिले में भ्रूण लिंग जांच का भंडाफोड़ किया है। उप सिविल सर्जन डा. हर्ष चौहान के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पुलिस के सहयोग से महेंद्रगढ़ के राव तुलाराम चौक के समीप स्थित कौशिक हेल्थ केयर से एक दलाल को रंगे हाथों धर-दबोचने उपरांत उसे पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने आरोपित पाथेड़ा निवासी सत्यपाल के विरुद्ध पीएनडीटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई शुरू कर दी है।

जानकारी मुताबिक पाथेड़ा निवासी सत्यपाल ने कनीना खंड के गांव ककराला में एक क्लीनिक खोला हुआ है और करीब 20-22 सालों से प्रेक्ट्सि कर रहा है। स्वास्थ्य विभाग नारनौल को गुप्त सूचना मिली कि सत्यपाल भ्रूण लिंग जांच करवाता है। इसके उपरांत एक डिकोय पेशेंट तैयार किया गया। जिस लगभग 45 हजार रुपये में लिंग जांच कराने की बात तय हुई। डिकोय पेशेंट करीब एक सप्ताह से उक्त सत्यपाल के संपर्क में थी और गत छह जून को उसे 20 हजार रुपये भी दे दिए गए। इसके बाद लिंग जांच करवाने के लिए 14 जून का समय दिया गया।

डिकोय पेशेंट शेष 25 हजार रुपये लेकर सत्यपाल के पास पहुंची और सत्यपाल उसे लेकर महेंद्रगढ़ के राव तुलाराम चौक के समीप स्थित कौशिक हेल्थ केयर पर ले गया और चिकित्सक से अल्ट्रासाउंड कराया गया। यह सब होने उपरांत डिकोय पेशेंट ने स्वास्थ्य विभाग की टीम को इशारा कर दिया और वहीं पर ही सत्यपाल को धर-दबोच लिया गया। जिस पर आरोपित सत्यपाल से रुपये बरामद कर लिए गए। स्वास्थ्य विभाग टीम ने आरोपित सत्यपाल को पुलिस के हवाले कर दिया। टीम ने पुलिस को डिकोय पेशेंट एवं आरोपित सत्यपाल के बीच हुई बातचीत की ऑडियो व वीडियो भी बतौर सबूत सुपुर्द कर दी हैं, ताकि केस की मजबूत पैरवी में काम ली जा सकें।

और पढ़ें
Next Story