Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Arms license रिन्यू शाखा का क्लर्क एक हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा

लॉकडाउन (Lockdown) के चलते समय पर अपने शस्त्र का लाइसेंस रिन्यू (Renew) नहीं करवाया पाया था। एसडीएम कार्यालय की शस्त्र लाइसेंस शाखा के क्लर्क विनोद ने उनसे चार हजार रुपये की रिश्वत मांगी

Arms license रिन्यू शाखा का क्लर्क एक हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा
X

हरिभूमि न्यूज . गोहाना

जिले की विजिलेंस (vigilance) की टीम ने सोमवार शाम को एसडीएम कार्यालय में शस्त्र लाइसेंस नवीनीकरण (रिन्यू) शाखा के क्लर्क को एक हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ काबू किया। क्लर्क ने कार्यालय बंद होने के बाद एक व्यक्ति को उनके शस्त्र के लाइसेंस को रिन्यू करने की एवज में रिश्वत देने के लिए फव्वारा चौक बुलाया। वहां क्लर्क (clerk) ने जैसे ही रुपये लिए टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

गांव कासंडी निवासी अनिल लॉकडाउन के चलते समय पर अपने शस्त्र का लाइसेंस रिन्यू नहीं करवाया पाया था। 3 जुलाई को उन्होंने लाइसेंस के रिन्यू के लिए फाइल जमा करवाई। तब एसडीएम कार्यालय की शस्त्र लाइसेंस शाखा के क्लर्क विनोद ने उनसे चार हजार रुपये की रिश्वत मांगी। बाद में 15 सौ रुपये में सौदा तय हो गया। अमित ने फाइल जमा करने के साथ उसी दिन पांच सौ रुपये दे दिए थे।

सोमवार को क्लर्क ने अमित को बाकी के एक हजार रुपये देने को कहा। अमित ने इस संबंध में विजिलेंस को शिकायत कर दी। सूचना मिलते ही सोनीपत से निरीक्षक प्रदीप के नेतृत्व में संदीप, अनुराग, मंजीत आदि की टीम गोहाना पहुंच गई। इसके बाद टीम ने ड्यूटी मजिस्ट्रेट चौ. देवीलाल सहकारी चीनी मिल के एमडी सुभाष चंद्र के नेतृत्व में कार्रवाई की। शाम के समय अमित ने शहर में फव्वारा चौक पर क्लर्क विनोद को एक हजार रुपये दिए तो विजिलेंस की टीम ने उसे पकड़ लिया। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

Next Story