Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हाई पावर परचेज कमेटी की बैठक : सीएम मनोहर लाल बोले- फसल खरीद का भुगतान सीधे किसानों के खातों में होगा, आगे पढ़ें

लगभग 400 करोड़ रुपये की विभिन्न विभागों द्वारा खरीद की जाने वाली वस्तुओं की सरकारी खरीद को मंजूरी दी गई है। वहीं पंजाब में बीजेपी विधायक अरुण नारंग पर हुए हमले के संबंध में पूछे गए प्रश्न का उत्तर देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह घटना निंदनीय है और इस घटना को पंजाब सरकार व केंद्र सरकार के संज्ञान में लाए हैं।

हाई पावर परचेज कमेटी की बैठक : सीएम मनोहर लाल बोले- फसल खरीद का भुगतान सीधे किसानों के खातों में होगा, आगे पढ़ें
X

मुख्यमंत्री मनोहर लाल।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल (Cm Manohar Lal) की अध्यक्षता में हाई पावर परचेज कमेटी की बैठक हुई, जिसमें लगभग 400 करोड़ रुपये की विभिन्न विभागों द्वारा खरीद की जाने वाली वस्तुओं की सरकारी खरीद को मंजूरी दी गई है।

बैठक के उपरांत पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री ने बताया कि ऑनलाइन शिक्षा को और अधिक बढ़ावा देने के लिए प्रदेश के स्कूलों को वेब बेस्ड स्मार्ट क्लासरूम में बदलने की आवश्यकता है। इसके लिए आज की बैठक में आवश्यक उपकरणों की खरीद को मंजूरी दी गई है। इसी प्रकार, स्कूलों में आउटडोर और इनडोर खेल के लिए लगभग 25 करोड़ रुपये की खेल-कूद की 38 वस्तुओं की भी खरीद को मंजूरी दी गई है।

1 अप्रैल, 2021 से शुरू होने वाली रबी खरीद सीजन के संबंध में पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि संबंधित विभागों द्वारा सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। मंडियों में भी सभी आवश्यक प्रबंध किये जा चुके हैं, किसानों और आढ़तियों को फसल खरीद प्रकिया में किसी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि इस बार फसल खरीद का भुगतान सीधे किसानों के खातों में किया जाएगा। आढ़ती और किसान के बीच का भुगतान उनके बीच का मामला है, सरकार भुगतान सीधे किसान को करेगी।

पंजाब में बीजेपी विधायक अरुण नारंग पर हुए हमले के संबंध में पूछे गए प्रश्न का उत्तर देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह घटना निंदनीय है और इस घटना को पंजाब सरकार व केंद्र सरकार के संज्ञान में लाए हैं। मनोहर लाल ने कहा कि लोकतंत्र में हर किसी को अपनी बात रखने का पूरा अधिकार है। आंदोलनकर्ता शांतिपूर्ण तरीके से अपनी बात कहें, उससे किसी को कोई समस्या नहीं है, पर अपनी बात कहने का कोई और तरीका अपनाना गलत है।

लोकतांत्रिक तरीके से चीजों को आगे बढ़ाना चाहिए। लोकतंत्र को कभी खतरे में नहीं डालना चाहिए। उन्होंने कहा कि ऐसे सभी नेता व राजनेता जो इस प्रकार के अंदोलनों की अगुवाई करते हैं, उन्हें सीमा में रहकर अपनी बात कहनी चाहिए।

अभय चौटाला द्वारा दिए गए एक बयान के संबंध में पूछे गए प्रश्न पर प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राजनीतिक या गैर राजनीतिक किसी भी व्यक्ति को इस प्रकार का बयान नहीं देना चाहिए। उन्होंने कहा कि वे सार्वजनिक तौर पर अपील करते हैं कि ऐसी बातें किसी राजनीतिज्ञ को नहीं करनी चाहिए। अगर कोई ऐसी बात करता है तो उससे सामाजिक वातावरण खराब होता है और उस नेता की साख भी गिरती है।

पार्ले जी बिस्कुट और काका नमकीन कंपनी के प्रतिनिधियों से हुई मुलाकात के संबंध में पूछे गए एक प्रश्न का जवाब देते हुए मनोहर लाल ने कहा कि बाजरा की खपत बढ़ाने के संबंध में दोनों कंपनियों से बातचीत हुई है। अन्य कंपनी जो भी इस तरह की खाने की चीजें बनाती हैं, उनसे भी बातचीत कर रहे हैं।

Next Story