Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Ambedkar Jayanti : भारतीय संविधान निर्माता को मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने श्रद्धांजलि अर्पित की

मुख्यमंत्री ने डॉ. बी. आर. अम्बेडकर राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय राई, सोनीपत में 17.19 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित दो छात्रावास स्वामी विवेकानंद और अहिल्याबाई का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उद्घाटन किया।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल
X

डॉ बी.आर अम्बेडकर की 130वीं जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने डॉ बी.आर अम्बेडकर की 130वीं जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए डॉ. बी. आर. अम्बेडकर राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय राई, सोनीपत में 17.19 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित दो छात्रावास स्वामी विवेकानंद और अहिल्याबाई का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उद्घाटन किया।

मुख्यमंत्री ने चंडीगढ़ से लोकार्पण समारोह के बाद वेबिनार को संबोधित करते हुए कहा कि भारत माता के महान सपूत डॉ. बी. आर. अंबेडकर की 130वीं जयंती के अवसर पर इन दो छात्रावासों का उद्घाटन कर डॉ. बी. आर. अंबेडकर को श्रद्धंजलि दी है। उन्होंने विश्वविद्यालय की एक विवरण पुस्तिका का भी विमोचन किया। शिक्षा मंत्री कंवर पाल भी वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से वेबिनार से जुड़े।

मनोहर लाल ने कहा कि संयोगवश आज देश में मेष संक्रांति का पावन पर्व है और पावन नवरात्र भी चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुझे आशा है कि इस संस्थान से पास होने वाले छात्र डॉ. बी. आर. अंबेडकर द्वारा दिखाई गई राह के अनुसार जीवन में शिक्षा का महत्व समझेंगे और समाज में अपना योगदान देंगे।

भारतीय संविधान के निर्माता को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए मनोहर लाल ने कहा कि डॉ. बी. आर. अंबेडकर ने हमें ऐसा संविधान दिया, जिसने हमें अनेकता में एकता की अमूल्य अवधारणा सिखाई है। उन्होंने कहा कि बाबा साहेब ने हमें एक ऐसी राजनीतिक व्यवस्था का उपहार दिया जिसमें गरीब, अमीर, स्त्री, पुरुष, छोटे और बड़े, व्यापारी, मजदूरों सभी को बिना किसी भेदभाव के समान अधिकार मिले हैं। भारत के संविधान का मसौदा तैयार करते समय डॉ. बी. आर. अंबेडकर ने एक ऐसे भारत की कल्पना की, जहां सभी लोग खुश हों, सभी को इंसाफ मिले और सभी को बराबर हक मिले।

मुख्यमंत्री ने राज्य के लोगों का आह्वान करते हुए कहा कि आज के दिन सभी को समाज से छुआछूत, जातिवाद और असमानता जैसी सामाजिक बुराइयों को दूर करने का संकल्प लेना चाहिए।

कोरोना मामलों में वृद्धि पर चिंता व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर देवी दुर्गा से इस वैश्विक महामारी को दूर करने की प्रार्थना की और सर्वकल्याण की कामना की।


Next Story