Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नहीं जाना पड़ेगा दिल्ली या चंडीगढ़ : हरियाणा का यह विश्वविद्यालय देगा आईएएस और एचसीएस की कोचिंग

विश्वविद्यालय में सरदार पटेल इंस्टीट्यूट ऑफ कंपीटेटिव इग्जाम के नाम से छात्र-छात्राओं को कोचिंग देनी शुरू कर दी है।

नहीं जाना पड़ेगा दिल्ली या चंडीगढ़ : हरियाणा का यह विश्वविद्यालय देगा आईएएस और एचसीएस की कोचिंग
X

पत्रकारों से बातचीत करते सीबीएलयू के वीसी आरके मित्तल।

हरिभूमि न्यूज.भिवानी

दक्षिण हरियाणा के भिवानी, दादरी जिलों के छात्र-छात्राओं को आईएएस तथा एचसीएस की कोचिंग के लिए अब दिल्ली या चंडीगढ़ के नामी गिरामी कोचिंग सैंटर में भारी भरकम फीस देकर जरूरत नहीं रहेंगी। क्योंकि अब हरियाणा के चौधरी बंसीलाल विश्वविद्यालय मेंं आईएएस व एचसीएस की कोचिंग दी जाएगी। इसके लिए बंसीलाल विश्वविद्यालय में सरदार पटेल इंस्टीट्यूट ऑफ कंपीटेटिव इग्जाम के नाम से विश्विद्यालय में कॉलेज के छात्र-छात्राओं को आईएएस व एचसीएस की कोचिंग देनी शुरू कर दी है।

इसको लेकर चौधरी बंसीलाल विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आरके मित्तल, रजिस्ट्रार डा. जितेंद्र भारद्वाज व कंपीटेटिव इग्जाम के एचओडी डा. कुलदीप मेहंदीरत्ता ने बताया कि सिविल सेवाएं परीक्षाओं के लिए 140 से 150 घंटों का क्त्रैश कोर्स ऑनलाईन तथा ऑफलाईन माध्यम से अब चौ. बंसीलाल विश्विद्यालय के सैंटर ऑडिटोरियम में करवाया जाएगा। सिविल सेवा की तैयारी के लिए इस कोचिंग 30 अप्रैल से 25 मई तक रविवार व शनिवार को छुट्टी वाले दिन भी होगी। उन्होंने बताया कि इस कोचिंग के लिए विश्वविद्यालय पूरे कोर्स की सामान्य छात्र से मात्र दो हजार रुपए फीस लेगा। पिछड़े वर्ग तथा लड़कियों से मात्र एक हजार रुपए की नाममात्र की फ ीस ली जाएगी।

बड़े इंस्टीटयूटों को जोड़ा जाएगा अभियान से

विश्वविद्यालय प्रशासन ने बताया कि सिविल सेवा परीक्षाओं के अलावा भविष्य में विश्वविद्यालय केंद्र व राज्य सरकार के विभिन्न विभागों की कोचिंग का भी आयोजन करेगा। इस ऑनलाइन कोचिंग में बायेजूज व अन्य कंपीटेटिव इग्जाम की तैयारी करवाने वाले बड़े इंस्टीट्यूट को भी इस कोचिंग कार्य से जोड़ा जाएगा। उन्होंने बताया कि इस कोचिंग का उद्देश्य ग्रामीण प्रतिभाओं को भिवानी शहर में ही राष्ट्रीय स्तर की कोचिंग सिविल सेवा परीक्षाओं के लिए उपलब्ध करवाना हैं।

इस कोचिंग की खास बात यह भी रहेगी कि इसमें विभिन्न जिलों के आईएएस व एचसीएस अफसर भी विद्यार्थियों को प्रशिक्षण देने के लिए पहुंचेंगे। उच्च पदों पर प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए विशेष कोचिंग की सुविधा उपलब्ध करवाना विश्वविद्यालय की अनूठी पहल है जिसका क्षेत्र के विद्यार्थियों को निश्चित तौर पर लोन मिलेगा और यहां के विद्यार्थी उच्च पदों पर आसीन होकर इस क्षेत्र का नाम रोशन करेंगे।

Next Story