Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जूते के अंदर छिपाकर चरस व स्मैक कारागार में पहुंचाने का कर रहा था प्रयास, डॉग की मदद से पकड़ा गया

गांव हसनपुर का रहने वाला अनिल कुमार जिला कारागार में बंद अपने गांव के दीपक से मुलाकात करने आया था। दीपक पर लड़की को बहकाकर ले जाने का आरोप है जिसमें उसे पकड़ा गया है। अनिल उसके लिए मुलाकात पर सामान लेकर आया था। अनिल जिस सामान को लेकर आया था उसकी जांच डॉग मिली द्वारा कराई तो उसने जूते को सुंघकर उसे उठा लिया।

फोन छीनकर भागे बदमांशों का युवक ने किया पीछा, एक को दबोचा
X

गिरफ्तार (प्रतीकात्मक फोटो)

हरिभूमि न्यूज. सोनीपत

सोनीपत-गोहाना सड़क मार्ग स्थित जिला कारागार में जूते के अंदर मादक पदार्थ छिपाकर कारागार के अंदर पहुंचाने का प्रयास कर रहे युवक को प्रशिक्षित डॉग की मदद से काबू कर लिया गया। कारागार उप अधीक्षक ने मामले को लेकर पुलिस से शिकायत दी। पुलिस ने इस संबंध में आरोपित के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया हैं। गिरफ्तार आरोपित अनिल निवासी हसनपुर का हैं। पुलिस आरोपित से पूछताछ कर रही हैं।

जेल उप अधीक्षक ने कोर्ट काम्पलेक्स चौकी पुलिस को बताया कि गांव हसनपुर का रहने वाला अनिल कुमार जिला कारागार में बंद अपने गांव के दीपक से मुलाकात करने आया था। दीपक पर लड़की को बहकाकर ले जाने का आरोप है जिसमें उसे पकड़ा गया है। अनिल उसके लिए मुलाकात पर सामान लेकर आया था। अनिल जिस सामान को लेकर आया था उसकी जांच डॉग मिली द्वारा कराई तो उसने जूते को सुंघकर उसे उठा लिया। उसका इशारा समझकर वार्डर गुलाब ने जब जूते की जांच की तो पतावा के नीचे एडी की तरफ जूता काटकर उसमें स्मैक व चरस छिपाकर रखी मिली। साथ ही पांच सिगरेट के कागज भी मिले। जिस पर आरोपित अनिल को पकड़ लिया गया। जूते से बरामद चरस व स्मैक 5-5 ग्राम मिली। मामले की सूचना कोर्ट काम्पलेक्स चौकी पुलिस को दी। पुलिस ने आरोपित को हिरासत में लेकर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने मामले में आरोपित अनिल के खिलाफ 20, 21 एनडीपीएस एक्ट व 42ए प्रिजनर एक्ट के तहत मुकदमा कर लिया हैं।

रिमांड पर लिया जाएगा

बंदी से मिलने आए युवक को प्रशिक्षित डॉग की मदद से मादक पदार्थ सहित काबू करने की शिकायत मिली हैं। इस संबंध में आरोपित के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया हैं। आरोपित को अदालत में पेश कर रिमांड पर लिया जायेगा। ताकि मादक पदार्थ के बारे में पूछताछ की जा सके। पुलिस मामले की गंभीरता से जांच कर रही हैं। - देवेंद्र सिंह, जांच अधिकारी।

Next Story