Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एक मार्च से शुरू होंगी सीबीएसई बोर्ड की प्रैक्टिकल परीक्षाएं, इन निर्देशों का करना होगा पालन

स्कूल को प्रायोगिक परीक्षा समाप्त होते ही उसी दिन ही निर्धारित प्रपत्र में अंक करने होंगे अपलोड। 25 छात्रों के बैच को सब-ग्रुप में बांटकर शारीरिक दूरी का पालन करना होगा।

एक मार्च से शुरू होंगी सीबीएसई बोर्ड की प्रैक्टिकल परीक्षाएं, इन निर्देशों का करना होगा पालन
X

एक स्कूल की प्रयोगशाला का फाइल फोटो।

हरिभूमि न्यूज. बहादुरगढ़

सीबीएसई बोर्ड की प्रैक्टिकल परीक्षाएं एक मार्च से शुरू हो रही हैं और बोर्ड परीक्षा के अंतिम दिन 11 जून तक चलेंगी। सभी स्कूलों को इन्हीं दिनों के बीच में प्रैक्टिकल परीक्षाओं को पूरा कराना होगा। इसके अलावा सीबीएसई ने 10वीं व 12वीं के प्राइवेट छात्रों को एक और मौका दिया है। वे 22 से 25 फरवरी तक ऑनलाइन पंजीकरण कराकर परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।

सीबीएसई ने आदेश जारी कर दिए हैं कि 11 जून के बाद किसी भी छात्र का प्रैक्टिकल नहीं होगा। प्रैक्टिकल के लिए 25 छात्रों के बैच को सब-ग्रुप में बांटकर शारीरिक दूरी का पालन करना होगा। हर ग्रुप के एग्जाम के बाद छात्रों, शिक्षकों के साथ लैब में ही ली गई ग्रुप फोटो सीबीएसई के प्रैक्टिकल एप पर अपलोड करनी होगी। संबंधित स्कूल को प्रायोगिक परीक्षा समाप्त होते ही उसी दिन ही निर्धारित प्रपत्र में अंक अपलोड करने होंगे। परीक्षा के लिए बोर्ड पर्यवेक्षकों के अलावा बाह्य परीक्षकों की तैनाती करेगा। परीक्षा में गड़बड़ी अथवा अन्य शिकायत मिलने पर स्कूल के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि कोरोना संक्रमण की वजह से कई प्राइवेट छात्र अपना पंजीकरण नहीं करा पाए थे। ऐसे छात्रों के लिए अब सीबीएसई ने एक और मौका दिया है। ऐसे छात्र सीबीएसई की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर पंजीकरण करा सकते हैं। स्कूल समन्वयक दिव्या राठी ने बताया कि सीबीएसई में प्राइवेट फार्म वही छात्र भर सकते है, जो पिछली बार फेल हुए थे या फिर रोल नंबर मिलने के बाद भी परीक्षा नहीं दे सके थे। छात्रों को आवेदन करने से पहले अपने सभी विवरण तैयार रखने होंगे।

ये इंतजाम करने होंगे

- प्रायोगिक परीक्षा के दौरान फिजिकल डिस्टेंसिंग।

- एप में डालनी होगी विद्यार्थियों के ग्रुप की फोटो।

- आंतरिक ग्रेड-अंक 1 मार्च से 11 जून तक भेजने होंगे।

- प्रयोगशाला को सोडियम हाइपरक्लोराइट से सेनेटाइज कराना होगा।

- 25 विद्यार्थियों के समूह को उप समूह में बांटना होगा।

- विद्यार्थियों को मास्क, सेनेटाइजर अनिवार्यता की सूचना देनी होगी।

- पारदर्शी बोतल में सेनेटाइजर, गल्व्ज और मास्क की व्यवस्था होगी।

Next Story