Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शैक्षणिक सत्र 2021-22 : कोरोना पर टिका है सीबीएसई का फैसला, परीक्षाएं ऑनलाइन होंगी या ऑफलाइन

बोर्ड ने नए शैक्षणिक सत्र 2021-22 में हर हाल में बोर्ड परीक्षाएं आयोजित करवाने की नीति पर काम करना शुरू कर दिया है। ताकि स्थितियां विपरित होने पर भी विद्यार्थियों की परीक्षा ली जा सके और उनके मूल्यांकन पर इसका कोई असर ना पड़े। अधिकारियों का कहना है कि बोर्ड इस बार दो चरणों में परीक्षा करवाएगा। इसके लिए परीक्षा प्रणाली में भी बदलाव संभव है।

CBSE 12th results 2021: सीबीएसई कक्षा 12वीं के आंतरिक मूल्यांकन के अंक अपलोड करने की अंतिम तिथि बढ़ी आगे
X

सीबीएसई कक्षा 12 अंक 

हरिभूमि न्यूज : सोनीपत

कोरोना महामारी के बढ़ते प्रभाव के चलते 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने के अपने फैसले को केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएससी) नए शैक्षणिक सत्र में दोहराना नहीं चाहता। यही कारण है कि बोर्ड ने नए शैक्षणिक सत्र 2021-22 में हर हाल में बोर्ड परीक्षाएं आयोजित करवाने की नीति पर काम करना शुरू कर दिया है। ताकि स्थितियां विपरित होने पर भी विद्यार्थियों की परीक्षा ली जा सके और उनके मूल्यांकन पर इसका कोई असर ना पड़े। अधिकारियों का कहना है कि बोर्ड इस बार दो चरणों में परीक्षा करवाएगा। इसके लिए परीक्षा प्रणाली में भी बदलाव संभव है।

वर्ष 2021 में कोरोना संक्रमण बढ़ने के कारण शैक्षणिक गतिविधियां पूरी तरह बेपटरी हो गई थी। कोरोना की भयावह होती जा रही दूसरी लहर को देखते हुए केंद्रीय माध्यमिक विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने 10वीं व 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने का निर्णय लिया था। जिसके बाद से विद्यार्थियों के अंक निर्धारण को लेकर गहन मंथन चला। उम्मीद है कि जल्द ही परीक्षा परिणाम भी घोषित कर दिया जाएगा।

दो सत्रों में ली जा सकती है परीक्षा

सीबीएसई द्वारा तय किया गया है कि परिस्थितियां चाहे कैसी भी हो, परीक्षाएं हर हाल में ली जाएंगी। यही कारण है कि पहले से ही शिक्षा प्रणाली तय कर ली गई है। इसके तहत शैक्षणिक सत्र 2021-22 में दो सत्र में परीक्षाएं होंगी। पहले सत्र की परीक्षाएं नवंबर-दिसंबर में ली जाएंगी और दूसरे सत्र की परीक्षाएं मार्च-अप्रैल में होंगी। नई प्रणाली के तहत पहले चरण की परीक्षाओं में बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाएंगे। जबकि दूसरे सत्र में विस्तृत प्रश्न पूछे जाएंगे। परीक्षा मात्र 90 मिनट की ही होगी।

स्थिति के हिसाब से ऑनलाइन या ऑफलाइन

कोरोना संक्रमण का प्रभाव कम होने के साथ ही नए सत्र की पढ़ाई शुरू हो गई है। अभी तक ऑनलाइन परीक्षाएं हो रही हैं। शिक्षाविदों की मानें तो कोरोना को लेकर स्थिति सामान्य हुई तो परीक्षाएं ऑफलाइन होगी। अगर कोरोना की स्थिति में सुधार नहीं हुआ तो बोर्ड इस बार ऑनलाइन परीक्षाओं का आयोजन करवाएगा। लेकिन परीक्षाएं हर हाल में होंगी। बच्चों को घर बैठे परीक्षा देने की सुविधा मिलेगी। जल्द ही इस विषय में दिशा-निर्देश जारी किया जा सकता है।

नए सत्र में हर हाल में परीक्षाएं आयोजित करवाने का फैसला लिया गया : कोरोना संक्रमण के बढ़ने के कारण इस बार सीबीएसई ने बोर्ड परीक्षाएं रद्द करने का निर्णय लिया है। हालांकि सीबीएसई का मानना है कि परीक्षाओं के जरिए ही विद्यार्थियों के ज्ञान की परख होती है। यही कारण है कि नए सत्र में हर हाल में परीक्षाएं आयोजित करवाने का फैसला लिया गया है। ये परीक्षाएं दो चरणों में होंगी। वर्तमान स्थिति में परीक्षाएं ऑफलाइन होगी। अगर कोरोना की स्थिति में सुधार नहीं हुआ तो ऑनलाइन माध्यम से परीक्षाएं ली जाएंगी। विद्यार्थियों को दोनों स्थिति में परीक्षा के लिए तैयार रहना होगा।- वीके मित्तल, सहोदय अध्यक्ष, सोनीपत

Next Story