Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अंबाला में प्रॉपर्टी डीलर पिता-पुत्र सहित रिटायर तहसीलदार और पटवारी पर केस दर्ज, देखें मामला

अंबाला छावनी की रहने वाली पदमा रानी ने गृहमंत्री अनिल विज को शिकायत देकर प्रॉपर्टी डीलर नरेंद्र सभरवाल, उसके पुत्र विकास सभ्रवाल, रिटायर्ड तहसीलदार प्रताप सिंह व पटवारी बालक राम पर साजिशन धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया है।

अंबाला में प्रॉपर्टी डीलर पिता-पुत्र सहित रिटायर तहसीलदार और पटवारी पर केस दर्ज, देखें मामला
X

हरिभूमि न्यूज. अंबाला

राज्य सरकार द्वारा अधिगृहित जमीन एक महिला को बेचने के आरोप में पुलिस ने प्रॉपर्टी डीलर के साथ उसके बेटे के खिलाफ केस दर्ज किया है। इसके साथ ही पुलिस ने मामले में रिटायर्ड तहसीलदार व पटवारी को भी आरोपी बनाया है। पुलिस अब मामले की गहन जांच कर रही है। जांच के बाद ही आरोपियों को गिरफ्तार करने की कार्रवाई की जाएगी। अंबाला छावनी की रहने वाली पदमा रानी ने गृहमंत्री अनिल विज को शिकायत देकर प्रॉपर्टी डीलर नरेंद्र सभरवाल, उसके पुत्र विकास सभ्रवाल, रिटायर्ड तहसीलदार प्रताप सिंह व पटवारी बालक राम पर साजिशन धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया है।

महिला का कहना है कि उसने 2012 में प्रॉपर्टी डीलर नरेंद्र कुमार से मुलाना में 9 मरला का प्लाट खरीदा था जिसकी रजिस्ट्री डीलर ने पटवारी बालक राम, तहसीलदार प्रताप सिंह से मिलजुल करवा दी थी। रजिस्ट्री के बावजूद उसे रकबा का कब्जा व निशानदेही नहीं मिल पाई। बाद में उसे पता चला कि उसे बेची गई जमीन तो सरकार पहले ही अधिगृहित कर चुकी है। परिवादी ने बताया कि इस बारे में पंचकूला गई तो वहां उसे मालूम हुआ कि उसके द्वारा खरीदी गई जमीन तो पहले ही एक्वायर हो चुकी है। महिला का आरोप है कि प्रॉपर्टी डीलर ने तहसीलदार व पटवारी से मिलकर उसके साथ साजिशन ठगी की है। उसने कई बार प्रॉपर्टी डीलर नरेंद्र से मामले लेकर बातचीत की। मगर उसके पैसे वापिस देने की बजाय नरेंद्र व उसका बेटा उसे धमकियां देते रहे। डीएसपी बराड़ा को भी मामले की शिकायत दी गई थी। तब डीलर व तहसीलदार व पटवारी ने उसकी जमीन की जल्द निशानदेही करवाने का वायदा किया था। इसके बाद किसी ने कोई निशानदेही नहीं करवाई। उल्टा उसे जमीन छोड़ने की बात कहते रहे। अब पुलिस ने चारों लोगों के खिलाफ जांच शुरू कर दी है।

Next Story