Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सावधान! वायरल लिंक मैसेज पर क्लिक करना पड़ सकता है भारी

साइबर अपराध लगातार बढ़ रहा है। अपराधी नए-नए तरीके से वारदात को अंजाम दे रहे हैं। अब नामी ई-कॉमर्स कंपनियों के नाम पर लोगों को अपने चंगुल में फंसाने का काम चल रहा है।

सावधान! वायरल लिंक मैसेज पर क्लिक करना पड़ सकता है भारी
X

व्हाट्सएप पर शेयर किया जा रहा मैसेज।

हरिभूमि न्यूज. बहादुरगढ़

यदि आपके मोबाइल (Mobile) पर किसी नामी ई-कॉमर्स कंपनी की वर्षगांठ के उपलक्ष्य में गिफ्ट मिलने का लिंक-मैसेज आया है तो उस पर क्लिक न करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो वारदात का शिकार हो सकते हैं। खुद इस नामी कंपनी व साइबर एक्सपर्ट ने लोगों को इस संबंध में जागरूकता बरतने की अपील की है।

दरअसल, इन दिनों साइबर अपराध लगातार बढ़ रहा है। अपराधी नए-नए तरीके से वारदात को अंजाम दे रहे हैं। अब नामी ई-कॉमर्स कंपनियों के नाम पर लोगों को अपने चंगुल में फंसाने का काम चल रहा है। इन दिनों एक कंपनी की 15वीं वर्षगांठ का मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है। मुफ्त मोबाइल व अन्य उपहार के लालच में लोग भी अंधाधुंध इस मैसेज को शेयर कर रहे हैं। इस वायरल मैसेज में एक लिंक भेजा जा रहा है। जिस पर क्लिक करते ही एक वेबपेज खुल जाता है। देखने में यह पेज बिलकुल नामी कंपनी जैसा है। पेज खुलते ही उस पर 15वीं एनिवर्सरी का जिक्र आता है और एक-एक करके चार आसान सवाल पूछे जाते हैं। इसके बाद कुछ गिफ्ट बॉक्स स्क्रीन पर नजर आते हैं। इस पर क्लिक करने के लिए कहा जाता है। दूसरे या तीसरे चांस पर इस बॉक्स में मोबाइल या अन्य उपहार दिखाकर विजेता होने की बधाई दे देती है।

फिर पेज पर लिखा आता है कि गिफ्ट पाने के लिए इसे ग्रुपों में शेयर करें। उधर, जब इस कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर पड़ताल की तो सामने आया है इस तरह की कोई स्कीम कंपनी ने नहीं निकाली है। कंपनी के अधिकारियों ने लोगों से सतर्क रहने की अपील की है। साइबर एक्सपर्ट भूपेश का कहना है कि लोगों को ठगने या उनका डाटा चोरी करने के लिए साइबर ठग ऐसा जाल बुनते हैं। ऐसी स्थिति में मोबाइल में मौजूद फोटो, वीडियो व अन्य जरूरी डाटा चोरी होने की प्रबल आशंका रहती है। लोगों को समझना चाहिए कि मुफ्त में कोई भी किसी को कुछ नहीं देता। इसलिए लालच से बचना चाहिए। किसी भी फिशिंग लिंक मैसेज पर क्लिक न करें और न ही इन्हें वायरल करें। यदि कोई सेल/डिस्काउंट संबंधित मैसेज भी आए तो कंपनी की आधिकारिक एप या वेबपेज पर जाकर जांच करें। तभी आगे का कदम उठाएं।

Next Story