Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नेट बैंकिंग चलाने के लिए कस्टमरकेयर पर फोन किया, खाते से निकल गए रुपये

आरोप है कि उसके ओटीपी नंबर दिए जाने के बाद तुरंत उसके खाते से 51 हजार 500 रुपये निकल गए। उसने तुरंत बैंक में जाकर अधिकारियों से बात की तो उन्होंने कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया। इसके बाद वह पुलिस में शिकायत लेकर पहुंचा तो वहां भी कोई सुनवाई नहीं की गई।

सावधान: इन ऐप्स को Install करने से आपका बैंक अकाउंट हो जाएगा साफ, लिस्ट में देखें आप तो नहीं कर रहे इस्तेमाल
X

हरिभूमि न्यूज. यमुनानगर

कस्टमकेयर के नंबर पर फोन करके नेट बैंकिंग चलाने के लिए कहना एक व्यक्ति को भारी पड़ गया। पीडि़त के मुताबिक कस्टमकेयर पर फोन किया तो आरोपित ने उसका ओटीपी नंबर पूछकर उसके खाते से 51 हजार 500 रुपये निकाल कर हड़प लिए। सीएम विंडो पर शिकायत देने के उन्नीस दिन बाद पुलिस ने मामला दर्ज तो कर लिया। मगर अभी तक आरोपित गिरफ्तार नहीं हुआ।

शहर की मॉडल कॉलोनी निवासी आत्मजीत सिंह ने बताया कि गत 22 दिसंबर को उसने अपने बैंक के खाते में से किसी को कुछ पैसे ट्रांसफर करने थे। मगर इस दौरान नेट बैकिंग नहीं चल रही थी। उसने कस्टमकेयर पर फोन करके नेट बैंकिंग शुरु करने के बारे में कहा तो उधर, से बोलने वाले ने उससे उसका ओटीपी नंबर पूछ लिया। उसने ओटीपी नंबर देने से मना किया तो आरोपित व्यक्ति ने उसे बताया कि ओटीपी नंबर दिए बिना उसका नेट बैंकिंग शुरू नहीं किया जा सकता। जिसके बाद उसने आरोपित को ओटीपी नंबर दे दिया।

आरोप है कि उसके ओटीपी नंबर दिए जाने के बाद तुरंत उसके खाते से 51 हजार 500 रुपये निकल गए। उसने तुरंत बैंक में जाकर अधिकारियों से बात की तो उन्होंने कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया। इसके बाद वह पुलिस में शिकायत लेकर पहुंचा तो वहां भी कोई सुनवाई नहीं की गई। परेशान होकर उसने सीएम विंडों पर शिकायत देकर आरोपित के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग की गई। सीएम विंडों की शिकायत के आधार पर पुलिस ने आत्मजीत सिंह की शिकायत पर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

Next Story