Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

तीन बच्चों को नहर में फेंककर पिता ने भी जहर खाकर दी जान, वजह जानकर रह जाएंगे हैरान

पानीपत के गांव बिहौली निवासी अनिल ने 14 अप्रैल को अपने तीनों बच्चों आठ वर्षीय पुत्री अंशु, छह वर्षीय पुत्र वंश व तीन साल के यश को दिल्ली पेरल नहर में फैंक दिया था और उसके बाद खुद भी जहर खा लिया था।

तीन बच्चों को नहर में फेंककर पिता ने भी जहर खाकर दी जान, वजह जानकर रह जाएंगे हैरान
X

अनिल और उसके तीनों बच्चों के फाइल फोटो।

पानीपत। पानीपत के गांव बिहौली निवासी अनिल ने 14 अप्रैल को जहर खाने से पहले अपने तीनों बच्चों आठ वर्षीय पुत्री अंशु, छह वर्षीय पुत्र वंश व तीन साल के यश को दिल्ली पेरल नहर में फैंक दिया था।वहीं थाना बापौली पुलिस के प्रयासों से बेटी अंशु व पुत्र वंश के शव सोनीपत जिला में गांव खुबडू की झाल से बरामद हुए। बापौली थाना पुलिस ने रविवार को दोनों बच्चों के शवों का पंचनामा किया और पानीपत के सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाया।

पुलिस को शक है कि अनिल ने बच्चों को जहर खिला कर नहर में फैंका होगा, इसके चलते दोनों बच्चों की मौत के सही कारण जानने के लिए पुलिस ने पोस्टमार्टम के दौरान अंशु व वंश का विसरा लेकर जांच के लिए लैब में भिजवाया है। इधर, बापौली पुलिस ने सोनीपत, रोहतक पुलिस के सहयोग से दिल्ली पेरलल नहर में तीन साल के यश की भी तलाश शुरू कर दी है। सोनीपत पुलिस व रोहतक पुलिस ने अपने जिलों में दिल्ली पेरलल नहर व इससे निकलने वाली नहर व रजवाहों में जाल लगवाए हैं और सिंचाई विभाग के गैंग मैनों को गश्त के दौरान नहर व रजवाहों पर सचेत रहने को कहा है।

पानीपत में निवास के दौरान अनिल की पत्नी आरती के साहिल नामक युवक से कथित प्रेम संबंध थे, इसका अनिल को पता चल गया, अनिल, आरती को लेकर अपने गांव बिहौली आ गया, यहां आए दिन दोनों के बीच विवाद होने लगा। विवाद खत्म कराने के लिए कई बार पंचायत हुई, लेकिन हर बार नतीजा घरेलू कलह के रूप में सामने आया। 14 अप्रैल को अनिल व आरती के बीच विवाद इतना बढ गया कि आरती अपने मायके चली गई और अनिल तीनों बच्चों को अपनी वैन में बैठा कर पानीपत ले गया। अनिल ने जहां तीनों बच्चों को नहर में फैंक दिया, वहीं स्वयं भी जहर का सेवन कर लिया था और उसकी सिविल अस्पताल में मौत हो गई थी। इधर, अनिल के भाई मंजीत की शिकायत पर थाना बापौली पुलिस ने अनिल को आत्महत्या के लिए मजबूर करने के आरोप में उसकी पत्नी पत्नी आरती, इसके मित्र साहिल, गांव निंबरी निवासी सास सुनीता, सालों संदीप व सतीश पर केस दर्ज करवाया था।

वंश की तलाश कर रही पुलिस

डीएसपी समालखा प्रदीप ने बताया कि अनिल के पुत्र यश की दिल्ली पेरलल नहर में तलाश की जा रही है, तलाश के लिए सोनीपत व रोहतक पुलिस का सहयोग लिया जा रहा है। वहीं पुलिस ने रविवार को पोस्टमार्टम के बाद मृतक अनिल की बेटी अंशु व पुत्र वंश का शव उसके परिजनों को सौंप दिया। इस मामले में अनिल की पत्नी, सास, दो सालों व एक अन्य युवक पर केस दर्ज है, पुलिस इस केस की गहन जांच कर रही है।

Next Story