Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बीएसएफ कर्मी की घरेलू कलह के चलते सुआ घोंपकर हत्या, पत्नी समेत चार लोगों पर मामला दर्ज

गांव सुरबुरा निवासी संदीप (34) बीएसएफ में मणीपुर में ड्यूटीरत था। गत 28 मार्च को वह एक माह की छुट्टी पर घर आया हुआ था। वहीं पुलिस आरोपितों की धरपकड़ के लिए छापेमारी की जा रही है।

बीएसएफ कर्मी की घरेलू कलह के चलते सुआ घोंपकर हत्या, पत्नी समेत चार लोगों पर मामला दर्ज
X

हत्या के मामले में  कागजी कार्रवाई करते पुलिसकर्मी। 

हरिभूमि न्यूज. जींद

गांव सुरबुरा में बीती रात घर छुट्टी आए बीएसएफ कर्मी की घरेलू कलह के चलते उसकी पत्नी तथा साले व कुछ अन्य लोगों ने सुआं घोंप कर हत्या कर दी। मृतक बीएसएफ कर्मी गत 28 मार्च को एक माह की छुट्टी आया था। उचाना थाना पुलिस ने मृतक के पिता की शिकायत पर पत्नी व साले सहित चार लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। हत्या आरोपियों में एक फौजी भी बताया जा रहा है। उचाना थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है।

गांव सुरबुरा निवासी संदीप (34) बीएसएफ में मणीपुर में ड्यूटीरत था। गत 28 मार्च को वह एक माह की छुट्टी पर घर आया हुआ था। गत दिवस संदीप की उसकी पत्नी ऊषा से कहासुनी हो गई। जिस पर ऊषा ने अपने भाई प्रेम नगर भिवानी निवासी मनदीप व अन्य को बुला लिया। बीती रात मनदीप अपने दो अन्य दोस्तों के साथ गांव सुरबुरा पहुंचा जहां पर उनकी संदीप के साथ कहासुनी हो गई और नौबत मारपीट तक जा पहुंची। इसी बीच ऊषा अपने दो बच्चों को लेकर मकान के बाहर खड़ी भाई की गाड़ी की तरफ बढ़ गई। संदीप भी उनके साथ गाड़ी तरफ चला गया। उसी दौरान संदीप के साले मनदीप ने अपने पास मौजूद सुए से संदीप की छाती पर वार कर दिए। जिसमें संदीप गंभीर रूप से घायल हो गया। घटना को अंजाम देकर मनदीप व उसके साथ फरार हो गए।

परिजनों द्वारा संदीप को सामान्य अस्पताल नरवाना ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने संदीप को मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना पाकर उचाना थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई और हालातों का जायजा लिया। पुलिस ने मृतक के पिता नफे सिंह की शिकायत पर पत्नी ऊषा, साले मनदीप को नामजद कर दो अन्य के खिलाफ हत्या सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।

परिवार का था इकलौता चिराग, 14 साल पहले हुई थी शादी

मृतक के पिता नफे सिंह ने बताया कि उसके बेटे की शादी 14 वर्ष पहले प्रेम नगर भिवानी निवासी आजाद की पत्नी ऊषा के साथ हुई थी। दोनों के लड़की हर्षा (12) तथा लड़का मयंक (9) है। शादी के चार साल बाद संदीप बीएसएफ में भर्ती हो गया था। जब भी संदीप घर छुट्टी आता था तो उसकी पत्नी ऊषा अक्सर झगड़ा करती थी। पांच अप्रैल को दिन में दोनों के बीच कहासुनी हुई तो ऊषा ने फोन कर अपने मायके से भाई मनदीप व अन्य को बुला लिया। जिन्होंने देर रात को सुआं घोंप कर उसके बेटे की हत्या कर दी। नफे सिंह ने बताया जिस समय उसके बेटे पर सुए से हमला किया जा रहा था उस दौरान फौजी नाम से पुकारा जा रहा था जो उसके बेटे को पकड़े हुए था।

बीएसएफ में कार्यरत था और वह छुट्टी आया हुआ था

उचाना थाना प्रभारी रविंद्र ने बताया कि दंपत्ति के बीच कहासुनी हो गई थी। जिस पर पत्नी ने अपने मायके से भाई व अन्य को बुला लिया। जिन्होंने सुआं घोंप कर हत्या कर दी। मृतक बीएसएफ में कार्यरत था और वह छुट्टी आया हुआ था। फिलहाल मृतक के पिता की शिकायत पर पत्नी सहित चार लोगों के खिलाफ हत्या सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। आरोपितों की धरपकड़ के लिए छापेमारी की जा रही है।

Next Story