Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ऑक्सीजन की कमी से बीएसएफ इंस्पेक्टर की मौत

मेवात जिले के मुरादाबाद गांव के कासिम अली वेस्ट बंगाल में इंस्पेक्टर के पद पर कार्यरत थे। ड्यूटी के दौरान उनको बुखार हुआ था, जिसके बाद उनकी तबीयत ज्यादा खराब हो गई थी।

ऑक्सीजन की कमी से बीएसएफ इंस्पेक्टर की मौत
X

कासिम अली का फाइल फोटो। 

मेवात। बीएसएफ में पश्चिम बंगाल में इंस्पेक्टर के पद पर तैनात मेवात जिले के मुरादाबाद गांव के कासिम अली की मौत किसी दुश्मन की गोली से नहीं बल्कि इलाज के दौरान ऑक्सीजन की कमी की वजह से हो गई। इंस्पेक्टर कासिम अली को गुरुवार को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई।

बता दें कि कासिम अली पुत्र रोजदार उम्र करीब 50 साल 1983 में बीएसएफ में भर्ती हुए थे। फिलहाल वे वेस्ट बंगाल में इंस्पेक्टर के पद पर कार्यरत थे। ड्यूटी के दौरान उनको बुखार हुआ था, जिसके बाद उनकी तबीयत ज्यादा खराब हो गई। उन्हें इलाज के लिए कल्याणी नदिया मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया। बताया जा रहा है कि इलाज के दौरान ऑक्सीजन नहीं मिलने की वजह से कासिम अली ने दम तोड़ दिया। गुरुवार को शहीद कासिम अली के शव को मुरादबास गांव में लेकर उनके बीएसएफ के साथी पहुंचे, तो वहां अंतिम संस्कार के समय भारी भीड़ गांव में जुट गई। बीएसएफ के जवानों ने राजकीय सम्मान के साथ अपने अधिकारी को विदा किया।

शहीद हुए बीएसएफ के जवान कासिम अली के 7 बच्चे हैं। जिनमें तीन लड़के में 4 लड़कियां हैं। इनमें से पांच की शादी हो चुकी है। कुल मिलाकर देश सेवा का जज्बा लेकर बीएसएफ में भर्ती हुए कासिम अली अब इस दुनिया में नहीं है, लेकिन उनकी ऑक्सीजन की कमी से हुई मौत कहीं ना कहीं सिस्टम की खामियों को उजागर कर गई। आम आदमी तो दूर देश सेवा के लिए मर मिटने वाले जवानों को भी ऑक्सीजन की किल्लत झेलनी पड़ रही है। जिसकी कीमत उन्हें अपनी जान देकर चुकानी पड़ रही है।

Next Story