Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

संदिग्ध हालत में नहर में गिरे भाई और बहन, बहन को लोगों ने बचाया

सुमन के मायके वालों ने आरोप लगाया कि उसके पति भूपेंद्र ने राजेश व सुमन को नहर में धक्का दिया था। वहीं पुलिस की जांच में पता चला कि सुमन व भूपेंद्र के बीच अनबन रहती थी।

बड़ा हादसा: दिल्ली के यमुना नदी में चार में से तीन नाबालिग की डूबने से मौत, पुलिस ने केस दर्ज जांच में जुटी
X

दिल्ली के यमुना नदी में चार में से तीन नाबालिग की डूबने से मौत

पानीपत। पानीपत रिफाइनरी के पास करनाल के निसिंग निवासी राजेश उर्फ राजू व इसकी बहन सुमन पत्नी भूपेंद्र निवासी गांव रेर कलां जिला पानीपत संदिग्ध हालात में दिल्ली पेरलल नहर में गिर गए। वहीं राहगीरों ने दोनों को बचाने के लिए नहर में छंलाग लगा दी। उन्होंने सुमन को तो नहर से बाहर निकाल लिया, जबकि राजेश पानी में डूब गया।

इधर, सुमन के मायके वालों ने आरोप लगाया कि उसके पति भूपेंद्र ने राजेश व सुमन को नहर में धक्का दिया था। वहीं पुलिस की जांच में पता चला कि सुमन व भूपेंद्र के बीच अनबन रहती थी, कई बार पंचायत भी हुई और कुछ समय के लिए दोनों के बीच हालात सामान्य हो जाते और फिर कलह शुरू हो जाती। भूपेंद्र जहां पानीपत रिफाइनरी में कर्मचारी है, वहीं राजेश करनाल के चावल मिल में मुनीम था। बताया जा रहा है कि पारिवारिक विवाद होने की सूचना मिलने पर राजेश, समुन के पास आया था और दोनों निसिंग जाने लगे। जबकि भूपेंद्र ने दोनों को रोकने का प्रयास किया, लेकिन सुमन नहीं मानी। भूपेंद्र का दावा है कि शुक्रवार की शाम करीब पौने पांच बजे उसे दोनों के नहर में गिरने की सूचना मिली। वहीं राकेश के पिता व बड़े भाई की पहले ही मौत हो चुकी है, अब परिवार में सुमन व उसकी मां बची है। इधर, पुलिस ने नहर से राकेश का शव बरामद कर लिया और शनिवार को पोस्टमार्टम के बाद राजेश का शव उसके परिजनों को सौंप कर इस मामले की जांच शुरू कर दी है।

Next Story