Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दुल्हन ही दहेज है : दूल्हे ने दहेज में मिले 11 लाख रुपये और 15 तोला सोना लौटाया, एक रुपया लेकर की शादी

जिस प्रकार खुद से पहल करते हुए गांव बालू के बेटे ने अनूठा विवाह रचाया है वह प्रशंसा का पात्र है। दूसरे युवाओं को भी इस प्रकार की सोच का परिचय देने का आह्वान किया गया।

दुल्हन ही दहेज है : दूल्हे ने दहेज में मिले 11 लाख रुपये और 15 तोला सोना लौटाया, एक रुपया लेकर की शादी
X

वर-वधू को आशीर्वाद देते इनेलो के प्रधान महासचिव अभय सिंह चौटाला।

हरिभूमि न्यूज. कलायत ( कैथल)

कलायत क्षेत्र एक अनोखी शादी का साक्षी बना। गांव बालू के बेटे इंडियन स्टूडैंट ऑर्गेनाइजेशन के जिला प्रधान दीप बालू ने नई वैवाहिक परंपरा की पहल की है। दूल्हा किसान परिवार से संबंध रखता है। इनका मकसद वैवाहिक और विभिन्न कार्यक्रमों में होने वाले खर्च पर अंकुश लगाना है। इस सोच को लेकर इन्होंने बिना खर्च विवाह रचाने का प्रस्ताव परिवार के समक्ष रखा।इस पर परिवार के लोग सहमत हो गए।

दुल्हे दीप बालू ने वधू पक्ष की तरफ से दहेज के रूप में मिले 11 लाख रुपये, 15 तोले सोना व फर्नीचर के सामान की बजाये एक रुपये से कन्या पक्ष से नाता जोड़ा। इस अवसर पर इनेलो के वरिष्ठ नेता अभय सिंह चौटाला ने नवविवाहितों को आशीर्वाद दिया और शुभकामनाएं दी। वहीं ग्रामीणों ने बिना खर्च की वैवाहिक परंपरा का स्वागत किया है। इनका कहना है अकसर सामाजिक स्तर पर विवाह पर होने वाले अनाप शनाप खर्च पर बल दिया जाता है। जिस प्रकार खुद से पहल करते हुए गांव बालू के बेटे ने अनूठा विवाह रचाया है वह प्रशंसा का पात्र है। दूसरे युवाओं को भी इस प्रकार की सोच का परिचय देने का आह्वान किया गया।



Next Story