Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

तीन दिन पहले आई दुल्हन पुलिस ने बाल भवन में भेजी, देखें क्या था पूरा मामला

बुलंदशहर से किसी व्यक्ति ने 1098 चाइल्ड हेल्प लाइन पर फोन कर शिकायत दी कि 7 अप्रैल को एक नाबालिग लड़की को शादी के नाम पर महम कस्बे के सैमाण गांव में लाया गया है।

तीन दिन पहले आई दुल्हन पुलिस ने बाल भवन में भेजी, देखें क्या था पूरा मामला
X

चाइल्ड लाइन विभाग की टीम के साथ नई दुल्हन।

हरिभूमि न्यूज. महम ( रोहतक)

7 अप्रैल को खरखौदा से सैमाण गांव में शादी करके लाई गई दुल्हन को नाबालिग करार देते हुए चाइल्ड लाइन द्वारा जिला बाल संरक्षण यूनिट, महम पुलिस के सहयोग से बरामद कर बाल कल्याण समिति के आदेश पर बाल भवन में भेज दिया है। आरोप है कि दुल्हन की उम्र महज 15 साल है। बताया जा रहा है कि बुलंदशहर से किसी व्यक्ति ने 1098 चाइल्ड हेल्प लाइन पर फोन कर शिकायत दी कि 7 अप्रैल को एक नाबालिग लड़की को शादी के नाम पर महम कस्बे के सैमाण गांव में लाया गया है।

शिकायतकर्ता ने यह भी बताया कि बच्ची के पिता व शादी करने वाले युवक ने एक सादे कागज पर रसीदी टिकट लगाकर लिखा है कि वे अपने पूरे होशोहवास में और बिना दान दहेज के शादी कर रहे हैं। चाइल्ड लाइन, रोहतक द्वारा तुरंत मामले को सूचना जिला बाल संरक्षण यूनिट, महिला संरक्षण एवं बाल विवाह निषेध अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी एवं बाल कल्याण समिति के संज्ञान में लाया गया।

चाइल्ड लाइन रोहतक से राजेश और सीमा, जिला बाल संरक्षण इकाई, रोहतक से अमित, अमन, महम थाना से सब इंस्पेक्टर रमेश, हवलदार सुमन, ईएसआई तेज सिंह, ईएएसआई जितेन्द्र की संयुक्त ने टीम ने महम तहसील के गांव सैमान में पहुंच कर लड़की को बरामद किया। पुलिस का कहना है कि लड़की ने मौखिक तौर पर अपने आप को बालिग करार दिया है लेकिन व उम्र सबंधित कोई कागजात न दिखा सकी। हालांकि शादी लड़की के माता पिता की सहमति से हुई है। इस संबंध में महम थाने में प्राथमिकी दर्ज करवा कर बाल कल्याण समिति के आदेश पर लड़की का मेडिकल करवाकर बाल भवन में भेज दिया।


Next Story