Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सीमा विवाद : हरियाणा और यूपी के लोगों के बीच खूनी खेल, गोली मारकर यूपी के किसान की हत्या

यमुना नदी में हर साल भूमि का कटाव होता है जिससे एक जगह की मिट्टी दूसरी जगह जमा हो जाती है और ऐसा होने से एक साल भूमि का कटाव यूपी की तरफ तो दूसरे साल भूमि का कटाव हरियाणा की तरफ होता है।

सीमा विवाद : हरियाणा और यूपी के लोगों के बीच खूनी खेल, गोली मारकर यूपी के किसान की हत्या
X

अस्पताल में मृतक के परिजनों के बयान दर्ज करती पुलिस।

सोनीपत। सोनीपत में लगातार अपराध बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार को गांव खुर्रमपुर में हरियाणा और यूपी की सीमा विवाद के चलते किसान की गोली मारकर हत्या कर दी गई। मृतक की पहचान यूपी के रहने वाले अनिल के रूप में हुई है। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव कब्जे में लेकर सोनीपत के सिविल अस्पताल में भिजवा दिया है और पुलिस मामले में जांच कर रही है।

जानकारी के मुताबिक नंदकिशोर और मृतक अनिल के खेत जमुना से सटे हुए हैं और यमुना नदी में हर साल भूमि का कटाव होता है जिससे एक जगह की मिट्टी दूसरी जगह जमा हो जाती है और ऐसा होने से एक साल भूमि का कटाव यूपी की तरफ तो दूसरे साल भूमि का कटाव हरियाणा की तरफ होता है। यह हर साल चलता रहता है और हरियाणा और यूपी की सीमा को लेकर कोई सीमा नहीं बांट रखी है। जिस कारण हर साल यहां किसानों के बीच विवाद रहता है क्योंकि यमुना का रिश्ता कभी हरियाणा के पक्ष में हो जाता है तो कभी यूपी के पक्ष में हो जाता है। यह सिलसिला करीब 50 साल से चल रहा है और इस सीमा विवाद को लेकर प्रशासन भी परेशान है। वहीं एक सप्ताह पहले ही यूपी के किसानों ने सोनीपत के उपायुक्त को ज्ञापन देकर अपनी फसल काटने के लिए फोर्स की मांग करेगी जिसके तहत वीरवार को जिला उपायुक्त ने फोर्स भेजकर यूपी के किसानों की 70 एकड़ फसल कटवाई थी। इसी को लेकर यह विवाद तूल पकड़ गया और नंदकिशोर ने यूपी के रहने वाले अनिल की गोली मारकर हत्या कर दी। जानकारी के मुताबिक नंदकिशोर पार्षद है और बीजेपी से भी संबंध रखता है।

मृतक अनिल के भाई मुकेश कुमार ने बताया कि उसके भाई ने अपने खेत में सरसों की फसल उगा रखी थी। जहां गांव खुर्रमपुर राई विधानसभा क्षेत्र के रहने वाले नंदकिशोर ने कई व्यक्तियों के साथ मिलकर अनिल के खेत में कंबाइन घुसा दी और विरोध करने पर अनिल को गोली मार दी। 42 वर्षीय अनिल खेती-बाड़ी ही करता था और इस जमीन को लेकर लंबे समय से विवाद चला हुआ था। जिसको लेकर जिला उपायुक्त से भी गुहार लगाई थी और उसके बाद जिला प्रशासन ने फोर्स भेजकर सहायता भी की थी। वहीं परिजनों ने आरोप लगाया है कि आरोपी नंद किशोर खुद को बीजेपी का पार्षद बताता है और बड़े स्तर पर भूमाफिया का काम करता है। सीमा विवाद का बहाना बनाकर प्रशासन को गुमराह करता है। वहीं मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी रवि कुमार का कहना है हरियाणा और यूपी के किसानों के बीच जमीनी विवाद है और जमीनी विवाद के बीच झगड़ा हो गया है। जिसमें अनिल की गोली लगने से मौत हो गई। शव को कब्जे में लेकर सिविल अस्पताल में रखवा दिया है पुलिस मौके पर पहुंचकर कार्रवाई कर रही है।


Next Story