Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पानीपत में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष धनखड़ का विरोध, कार्यकर्ताओं और किसानों के बीच झड़प

झपड़ के दौरान भाजयुमो के जिलाध्यक्ष विजेंद्र आर्य ने दावा किया कि झड़प के दौरान उनके पेट में चाकू मार गया। किसानों ने भाजपाइयों से पार्टी के झंडे छीनकर नाले में फैंक दिए।

पानीपत में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष धनखड़ का विरोध, कार्यकर्ताओं और किसानों के बीच झड़प
X

भाजपा के झंडे को नाले में फैंकते हुए आंदोलनकारी किसान।

पानीपत। उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के बाद पानीपत में किसानों ने मंगलवार को भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ को काले झंडे दिखाए और उनके खिलाफ जबरदस्त विरोध प्रदर्शन किया। किसानों ने जहां एसडी विद्या मंदिर स्कूल के गेट पर धरना दिया, वहीं धनखड़ के आने से लेकर जाने तक उनके खिलाफ नारेबाजी जारी रखी। वहीं किसानों की कई बार भाजपाइयों के साथ कहासुनी व हाथापाई हुई, किसानों ने भाजपाइयों से उनकी पार्टी के झंडे छीन कर नाले में फैंक दिए।

किसानों व भाजपाइयों को शांत करने के लिए पुलिस को कई बार कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। गौरतलब है कि पानीपत में भाजपा के स्थापना दिवस पर एसडी विद्या मंदिर स्कूल हुडा सेक्टर 12 में कार्यकम होना था। कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रूप में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ को आना था। शुरूआत में कार्यक्रम को भाजपाइयों ने गुप्त रखा। सोमवार को धनखड़ के पानीपत आगमन का कार्यक्रम फाइनल हो गया और यह जानकारी किसानों को मिल गई। वहीं तीनों कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों ने धनखड़ का भी पानीपत आगमन पर विरोध करने की घोषणा कर दी। प्रदेश सरकार ने जहां बड़ी संख्या में पुलिस बल को एसडी विद्या मंदिर स्कूल के चारों ओर तैनात किया, वहीं पानीपत के एसपी शशांक सावन के साथ करनाल जिला के एसपी गंगाराम पूनिया को भी पानीपत भेजा।


इधर, किसान भी पूरी तैयारी से धनखड़ का विरोध करने एसडी विद्या मंदिर स्कूल पहुंचे, किसानों के आते ही पुलिस ने जहां इस मार्ग पर यातायात आवागमन बंद करवा दिया, वहीं किसानों को गंदे नाले के पुल से पहले रोक दिया गया। भाजपाई बाइक रैली के साथ धनखड़ को लेकर एसडी विद्या मंदिर स्कूल पहुंचे, जहां किसानों ने धनखड़ के खिलाफ जोरदार नारेबाजी शुरू कर दी और उनके काफिले को काले झंडे दिखाए। इधर, बाइक रैली में शामिल भाजपाइयों ने किसानों का विरोध किया तो किसान भी उग्र हो गए और उन्होंने भाजपाइयों से उनकी पार्टी के झंडे छीन कर नाले में फैंक दिए। पुलिस ने कड़ी मशक्कत कर दोनों पक्षों को अलग किया। दूसरी ओर, झपड़ के दौरान भाजयुमो के जिलाध्यक्ष विजेंद्र आर्य ने दावा किया कि झड़प के दौरान उनके पेट में चाकू मार गया, वहीं भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ अर्चना गुप्ता ने भी दावा किया कि आर्य को चाकू मारा गया है।





Next Story