Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

HBSE का बड़ा फैसला : स्कूल की किसी भी बोर्ड से मान्यता हो लेकिन 8वीं कक्षा के विद्यार्थियों की परीक्षा हरियाणा बोर्ड लेगा

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के चेयरमैन डा. जगबीर सिंह ने बताया कि शिक्षा में सुधारीकरण की तरफ कदम बढाते हुए हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने आठवीं क्लास की परीक्षा लेने का फैसला लिया है।

Haryana Board A
X

हरियाणा बोर्ड 

हरिभूमि न्यूज : भिवानी

शिक्षा में सुधारीकरण की तरफ कदम बढाते हुए हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ( Haryana Board of School Education ) ने आठवीं क्लास की परीक्षा लेने का फैसला लिया है। खास बात यह है कि शिक्षा बोर्ड हरियाणा बोर्ड से मान्यता वाले स्कूलों के साथ साथ उन स्कूलों के आठवीं कक्षा के बच्चों की परीक्षा लेगा जो हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड से मान्यता प्राप्त नहीं है। शिक्षा बोर्ड ने हरियाणा स्कूल एजुकेशन 2003 व एजुकेशन बाई लॉज़ 1995 के तहत लिया है। शिक्षा बोर्ड ने उन स्कूलों के आठवीं कक्षा के बच्चों की जानकारी मांगनी शुरू कर दी है।

शिक्षा बोर्ड के चेयरमैन डा. जगबीर सिंह ने बताया कि परीक्षा करवाने व सिलेबस को लेकर जल्द ही बोर्ड एक बैठक आयोजित करने जा रहा है। जिसमें परीक्षा के लिए सिलेबस व परीक्षा सामग्री वितरण को लेकर आगामी रणनीति तय की जाएगी। चैयरमेन डॉ जगबीर सिंह ने बताया कि हरियाणा स्कूल एजुकेशन 2003 व एजुकेशन बाई लॉज़ 1995 के तहत बोर्ड को यह अधिकार है कि वह आठवीं की परीक्षा ले सकता है। चाहे कोई स्कूल किसी भी बोर्ड या संस्था से मान्यता प्राप्त हो, लेकिन नियमों के तहत उस प्रदेश का बोर्ड आठवीं की परीक्षा ले सकता है। उन्होंने बताया कि इसके लिए उन्होंने सभी बोर्डों को पत्र भी लिख दिया है। साथ ही सभी जिला मौलिक शिक्षा अधिकारियों को भी छात्रों की संख्या के लिए पत्र लिखा है। उन्होंने बताया कि शिक्षा में गुणवत्ता सुधार के लिए यह निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि पूरे हरियाणा के स्कूलों को भी इसकी जानकारी दे दी है।

सीबीएसई लेता है नौवी से 12 वीं तक की परीक्षाएं

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सीबीएसई अभी तक नौंवी से 12 वीं कक्षा तक के बच्चों की परीक्षा आयोजन करता है । केवल दसवीं व 12 की वीं सीबीएसई में बोर्ड की परीक्षाएं है । उससे पहले आठवीं की परीक्षा का आयोजन नहीं करता। जिसके चलते सीबीएसई ( Cbse Board ) से मान्यता प्राप्त स्कूलों के किसी भी आठवीं कक्षा के बच्चे की परीक्षा का आयोजन नहीं करता,बल्कि सीबीएसई केवल नौंवी में दाखिल होने वाले बच्चों का इनरोलमेंट करके दसवीं की परीक्षा लेता है ।

बोर्ड कराएगा परीक्षा सामग्री उपलब्ध

बोर्ड चैयरमेन ने बताया कि बच्चों को इस टेस्ट के लिए सभी सामग्री भी उपलब्ध करवाई जाएगी। बच्चाें को पास होने के लिए 2 चांस दिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि हरियाणा ही नहीं हर प्रदेश के बोर्ड के पास यह अधिकार होता है कि वह अपने अधिकार क्षेत्र में नियमावली के अनुसार नियम लागू कर सकता है। बोर्ड चैयरमेन डॉ. जगबीर सिंह ने बताया कि परीक्षा व सिलेबस के लिए आवश्यक बैठक भी आयोजित जल्द होगी। इस परीक्षा को पास करना अनिवार्य होगा। उन्होंने बताया कि सभी आठवीं के परीक्षार्थियों के लिए परीक्षा सामग्री हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ही भेजेगा ।

Next Story