Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बहादुरगढ़ : सूचना मिलने पर नहीं पहुंची खाकी, श्मशान पहुंचा शव तो उठाकर ले गए डेड हाउस

महिला के शव की दाह संस्कार (Cremation) की तैयारी चल रही थी कि पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने दाह संस्कार की प्रक्रिया रुकवाई और शव को नागरिक अस्पताल के शवगृह (Mortuary) में रखवा दिया।

bihar asthma patient dies in bhagalpur no one went to the dead body due to Corona
X
प्रतीकात्मक तस्वीर

हरिभूमि न्यूज. बहादुरगढ़

महिला के शव की दाह संस्कार (Cremation) की तैयारी चल रही थी कि पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने दाह संस्कार की प्रक्रिया रुकवाई और शव को नागरिक अस्पताल के शवगृह में रखवा दिया। अब महिला के परिजनों के आने पर ही पोस्टमार्टम हो पाएगा। इस मामले में एक अधिवक्ता ने स्वास्थ्य विभाग और पुलिस प्रशासन पर भी लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है।

मामला दुर्गा कॉलोनी का है। दरअसल, यहां सोनी नाम की एक महिला शुक्रवार की शाम मकान की छत से गिर गई। उसे परिजन नागरिक अस्पताल ले गई, वहां से महिला को पीजीआई रोहतक रेफर कर दिया गया। उपचार के दौरान शनिवार को महिला ने दम तोड़ दिया। इसके बाद परिजन शव को ले आए। यहां दाह संस्कार के लिए तैयारियां चल ही रही थी कि अचानक पुलिस (police) आ गई।

पुलिस ने दाह संस्कार की तैयारियां रुकवाई और शव को अपने कब्जे में ले लिया। लोगों से पूछताछ की और शव को नागरिक अस्पताल में ले जाकर मोर्चरी में रखवा दिया। पुलिस ने महिला के परिजनों को बुलाया है। रविवार दोपहर तक परिजन नहीं आ पाए थे। यहां आने के बाद परिजन जो बयान देंगे, उस आधार पर ही कार्रवाई करते हुए पोस्टमार्टम होगा।

महिला कैसे गिरी और उसके परिजन क्या ब्यान देते हैं, वो विषय अलग है लेकिन इस मामले में स्वास्थ्य विभाग और पुलिस पर लापरवाही बरतने के भी आरोप हैं। अधिवक्ता नवीन सिंगल ने बताया कि जिस दिन महिला छत से गिरी, उसी दिन मकान मालिक की ओर से पुलिस को सूचना दे दी गई थी लेकिन पुलिस तब मौके पर नहीं गई।

शनिवार की सुबह तक महिला बोल पा रही थी, यदि पुलिस पीजीआई पहुंचती तो शायद उसे महिला से कुछ जानकारी मिल जाती। जब इस बारे में पुलिस से बात करें तो कहती है कि उन्हें बहादुरगढ़ अस्पताल या पीजीआई रोहतक से सूचना नहीं आई। बकौल नवीन, अगर अस्पताल से सूचना नहीं गई तो यह स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही है। लेकिन मकान मालिक ने तो पुलिस को सूचना दी ही थी। उस आधार पर भी तो पुलिस जांच शुरू कर सकती थी।

उधर, लाइनपार थाना प्रभारी देवेंद्र कुमार ने कहा कि अस्पताल और पीजीआई से रुक्का नहीं आया था। हां, एक शख्स से सूचना मिली थी। तब वहां पुलिस गई, लेकिन मकान बंद था। शनिवार को गई तो पता चला कि महिला के शव की दाह संस्कार की तैयारी चल रही है। बिना जांच किए तो पोस्टमार्टम नहीं हो सकता। इसलिए शव को नागरिक अस्पताल के शवगृह में रखवाया है।

महिला के परिजनों को सूचना दे दी गई है। फिलहाल महिला के पति और एक अन्य परिचित पर भी नजर है। परिजनों के आने के बाद पोस्टमार्टम होगा। उन्हीं के बयान के आधार पर ही मामले में आगे की कार्रवाई होगी।


Next Story
Top