Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

काेरोना का प्रभाव : सवारी कम होने पर मनमाना किराया वसूल रहे ऑटो चालक

स्वास्थ्य एवं जरूरी सेवाओं से जुड़े लोग ही बाहर निकल रहे हैं। आवागमन कम हो जाने के कारण ऑटो, ई-रिक्शा चालकों को सवारियों की कमी खल रही है। इसी वजह से कुछ चालकाें द्वारा किराया ज्यादा लिया जा रहा है।

प्रीपेड बूथ नाकाम, सिटी बस के पहिए जाम, ऑटो वालों की ऐसी लूट यात्रियों से वसूल रहे दोगुना किराया
X
ऑटो बूथ (प्रतीकात्मक फोटो)

हरिभूमि न्यूज. बहादुरगढ़

कोरोना से बचने के लिए लॉकडाउन लगाया गया है। बाजार बंद हैं और लोग भी घराें से बाहर कम ही निकल रहे हैं। इस वजह से ऑटो, ई-रिक्शा चालकों का कामकाज प्रभावित हो गया है। काम मंदा होने के चलते अब कुछ ऑटो चालकों द्वारा मनमाना किराया वसूला जा रहा है। इस पर लोगों ने आपत्ति जताई है।

बहादुरगढ़ में बहादुरगढ़ शहर से बराही रोड लाइनपार, नाहरा-नाहरी रोड, नूना माजरा, सराय औरंगाबाद, सेक्टर-6, एचएसआईआईडीसी, टीकरी बॉर्डर, बालोर रोड आदि के लिए ऑटो चलते हैं। इन तमाम रूटों पर फिलहाल लॉकडाउन के कारण सवारियां बहुत कम रह गई हैं। स्वास्थ्य एवं जरूरी सेवाओं से जुड़े लोग ही बाहर निकल रहे हैं। आवागमन कम हो जाने के कारण ऑटो, ई-रिक्शा चालकों को सवारियों की कमी खल रही है। इसी वजह से कुछ चालकाें द्वारा किराया ज्यादा लिया जा रहा है।

शहर के निवासी राहुल ने बताया कि सराय रूट पर कुछ चालक दोगुणा किराया वसूल रहे हैं। जब किराया वृद्धि का विरोध करें तो ये हवाला देते हैं कि सवारियां नहीं है। विकास ने कहा कि अगर सवारियां कम हैं तो इसमें लोगों का क्या दोष, किराया वृद्धि करना गलत है। मुश्किल भरे इस दौर में हर कोई आर्थिक तंगी से जूझ रहा है। काम इस तरह करना चाहिए कि न तो खुद को और न ही दूसरों को ज्यादा नुकसान हो। उधर, ऑटो चालकों का कहना है कि काम बहुत मंदा हो गया है, लेकिन किराये में वृद्धि नहीं की गई। अधिकांश ऑटो चालक पुराना किराया ही वसूल रहे हैं। कोई एकाध चालक ही गलत तरीके से ज्यादा किराया ले रहा होगा। यदि कोई ऐसा करता है तो लोग उसकी शिकायत करें।




और पढ़ें
Next Story