Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गुरुग्राम नगर निगम में विज का छापा : अनुपस्थित मिले दो एसडीओ सस्पेंड, एक एक्सईएन किया रिलीव

मंत्री अनिल विज ने फर्जी संतुष्टि पत्र पर भुगतान के मामले में एफआईआर दर्ज करवाने के दिए निर्देश, गुरुग्राम में जलनिकासी की योजना तैयार करने के लिए किया जाएगा कमेटी का गठन।

गुरुग्राम नगर निगम में विज का छापा : अनुपस्थित मिले दो एसडीओ सस्पेंड, एक एक्सईएन किया रिलीव
X

गुरूग्राम नगर निगम में निरीक्षण करने पहुंचे मंत्री अनिल विज। फाइल फोटो

गुरुग्राम। हरियाणा के गृह एवं शहरी स्थानीय निकाय मंत्री अनिल विज ( Anil Vij ) ने बुधवार को नगर निगम गुरूग्राम ( Municipal Corporation ) के कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। वे प्रात: 10:30 बजे निगम कार्यालय पहुंच गए तथा 12:30 बजे तक अकाऊंट एवं इंजीनियरिंग विंग की कार्यप्रणाली को देखने के साथ ही कर्मचारियों से जानकारी प्राप्त की।

विज ने कार्यालय में नदारद मिलने वाले दो सहायक अभियंताओं ( Sdo) राकेश शर्मा तथा कुलदीप यादव को मौके पर ही निलंबित करने तथा कार्यकारी अभियंता ( Xen ) धर्मबीर मलिक को कार्यभार मुक्त करने के निर्देश दिए। इसके अलावा, अकाउंट ब्रांच के सैक्शन ऑफिसर भूपेन्द्र सिंह का दो घंटे का वेतन काटने के आदेश दिए। विज ने कहा कि निगम पार्षदों के फर्जी संतुष्टि-पत्र पर भुगतान के मामले में एफआईआर दर्ज करवाकर संबंधित अधिकारियों के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाए। उन्होंने चीफ अकाउंट ऑफिसर विजय कुमार की कार्यशैली पर संतुष्टि जताई तथा निगम की आय बढ़ाने के रास्तों पर ध्यान केन्द्रित करने के निर्देश भी दिए।

कार्यालय निरीक्षण के दौरान विज अधिकारियों एवं कर्मचारियों की कार्यप्रणाली से असंतुष्ट नजर आए। उन्होंने नगर निगम गुरूग्राम के आयुक्त मुकेश कुमार आहुजा से कहा कि सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों का हाजरी एवं मूवमैंट रजिस्टर होना चाहिए तथा कर्मचारियों का बेहतर उपयोग होना चाहिए। उन्होंने कहा कि 20 जुलाई को सभी कर्मचारियों एवं अधिकारियों द्वारा किए गए कार्यों की रिपोर्ट प्रत्येक कर्मचारी के हिसाब से उनके कार्यालय में भिजवाना सुनिश्चित करें।

जलभराव की समस्या के स्थाई समाधान की योजना तैयार करने के लिए कमेटी का गठन

मीडिया प्रतिनिधियों से बातचीत करते हुए मंत्री विज ने कहा कि गुरूग्राम में जलभराव की समस्या के स्थाई समाधान निकालने की योजना तैयार करने के लिए एक कमेटी का गठन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि औचक निरीक्षण के दौरान नगर निगम गुरूग्राम की कार्यप्रणाली से वे संतुष्ट नहीं हैं, इसमें बहुत सुधार की आवश्यकता है। इस बारे में उन्होंने निगमायुक्त को निर्देश दिए हैं। साथ ही प्रत्येक कर्मचारी द्वारा 20 जुलाई को किए गए कार्य की रिपोर्ट उनके कार्यालय में भिजवाने के निर्देश दिए हैं।


Next Story