Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

स्वास्थ्य मंत्री विज ने फ्रंट लाइन वर्कर्स को किया सेल्यूट, बोले- 10 दिन में सभी किशोरों को लगा देंगे वैक्सीन

हरियाणा में अब तक पहली डोज 98 प्रतिशत लोगों और 71 प्रतिशत लोगों को दूसरी डोज लगाई जा चुकी है। हरियाणा में 15.40 लाख बच्चे 15 से 18 साल की श्रेणी में आते हैं। इन बच्चों का सोमवार 3 जनवरी 2022 से पूरे हरियाणा में वैक्सीनेशन अभियान आरंभ किया गया है।

स्वास्थ्य मंत्री विज ने फ्रंट लाइन वर्कर्स को किया सेल्यूट, बोले- 10 दिन में सभी किशोरों को लगा देंगे वैक्सीन
X

 बच्चों को कोरोना वैक्सीन लगाने के कार्यक्रम के दौरान संबोधित करते अनिल विज।

अंबाला। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि निश्चित तौर पर कोरोना की तीसरी लहर दस्तक दे रही है मगर, इससे डरे नहीं- सजग रहें, कोरोना कुछ नहीं बिगाड़ पाएगा और कोरोना से बचाव की नियमों की पालना करें। अनिल विज ने प्रदेश में 15 से 18 आयु वर्ग के बच्चों को कोरोना वैक्सीन लगाने के कार्यक्रम की शुरूआत अम्बाला छावनी के एसडी कालेज में स्थापित में स्थापित वैक्सीनेशन सेंटर से की। उन्होंने बताया कि आगामी 10 जनवरी से फ्रंट लाइन वर्कर्स, हेल्थ केअर वर्कर्स और 60 वर्ष आयु से अधिक के कोमोरबिटी लोगों को प्रीकॉशन डोज लगाने का अभियान भी शुरू किया जाएगा।

हरियाणा में अब तक पहली डोज 98 प्रतिशत लोगों और 71 प्रतिशत लोगों को दूसरी डोज लगाई जा चुकी है। उन्होंने बताया कि हरियाणा में 15.40 लाख बच्चे 15 से 18 साल की श्रेणी में आते हैं। इन बच्चों का सोमवार 3 जनवरी 2022 से पूरे हरियाणा में वैक्सीनेशन अभियान आरंभ किया गया है। 'हमें उम्मीद है कि आगामी 10 दिनों में इसे पूरा किया जाएगा, हमारे पास पर्याप्त मात्रा में वैक्सीनेशन का स्टॉक उपलब्ध है और केंद्र से और स्टॉक मिलने का आश्वासन मिला है'।

मैं फ्रंट लाइन वर्कर्स को सेल्यूट करता हूं

अनिल विज ने कहा कि वह अपने स्वास्थ्य विभाग के सभी डॉक्टर्स, नर्स, पैरा मेडिकल स्टाफ, आशा वर्कर व अन्य सभी स्टाफ को सेल्यूट करते हैं जिन्होंने कोरोना के खिलाफ इस युद्ध में अपना बहुत महत्वपूर्ण योगदान दिया है। हालांकि ऐसा करते हुए कुछ लोगों को अपनी जान भी गवानी पड़ी। स्वास्थ्य विभाग के 28 लोग अपने दायित्व को निभाते हुए अपनी कुर्बानी दे चुके हैं। इसी प्रकार, पुलिस विभाग के 35 लोगों ने अपनी जान गवाई और नगर निकायों के भी कुछ लोगों को अपने प्राणों की आहूती देनी पड़ी, लेकिन डटकर सभी लोगों ने अपने दायित्व का निर्वाह किया।

प्रदेश में एक जिले को छोड़ हर जिले में आरटीपीसीआर लैब चालू

विज ने कहा कोरोना से लड़ने के लिए हमने अपनी सारी व्यवस्थाएं की है और जो-जो आवश्यक है वह सभी हरियाणा में उपलब्ध कराया जा रहा है। जब कोरोना आया था तब हरियाणा में एक भी आरटीपीसीआर लैब नहीं थी, आज एक जिले को छोड़ शेष सारे जिलों में आरटीपीसीआर लैब स्थापित है और जिस जिले में नहीं वहां भी जल्द लगने वाली है। जिनोम सिक्वेंसिंग के लिए भी हमे दिल्ली जाना पड़ता था, मगर अब तीन दिन से रोहतक के एमडीयू में लैब चालू हो चुकी है, और हम अपने अपरेट्स दिल्ली नहीं रोहतक भेज रहे हैं।

84 सरकारी व 54 प्राइवेट अस्पतालों में पीएसए प्लांट स्थापित

स्वास्थ्य मंत्री विज ने कहा कि दूसरी लहर में ऑक्सीजन की दिक्कत आई और तब हमने निर्णय लिया कि 50 बेड से ऊपर के सभी सरकारी व प्राइवेट अस्पतालों में पीएसए प्लांट लगाए गए। अब 84 सरकारी अस्पतालों में पीएसए प्लांट चालू हो चुके हैं और प्राइवेट अस्पतालों में 54 पीएसए प्लांट चालू हो चुके हैं। हमारे पास पर्याप्त मात्रा में आइसोलेशन बेड, ऑक्सीजन बेड, आईसीयू, वेंटीलेटर और बहुत बड़ी संख्या में ऑक्सीजन कंसटरेटर भी है और वह सभी दवाएं जो ईलाज में इस्तेमाल होती है उनका पर्याप्त स्टॉक हमारे पास उपलब्ध है।

और पढ़ें
Next Story