Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सोनीपत : एम्बुलेंस की सर्विस और पोलियो रिकार्ड में भी गड़बड़झाला

अज्ञात व्यक्ति ने मामले की शिकायत सीएमओ (CMO) को दी। सीएमओ ने चार सदस्यीय टीम का गठन किया है। टीम ने रिकार्ड खंगाला शुरू कर दिया है।

सोनीपत : एम्बुलेंस की सर्विस और पोलियो रिकार्ड में भी गड़बड़झाला
X

हरिभूमि न्यूज : सोनीपत

नागरिक अस्पताल (Civil Hospital) में एम्बुलेंस की सर्विस आथोराइज्ड सेंटर से न करवाने, पोलियो रिकार्ड में गड़बड़ी करने, आयुष्मान भारत योजना के तहत निजी अस्पतलों (Private hospitals) को अपने स्तर पर जोड़ने के आरोप के मामले सामने आए हैं। जिसको लेकर अज्ञात व्यक्ति ने मामले की शिकायत सीएमओ (CMO) को दी। सीएमओ ने चार सदस्यीय टीम का गठन किया है। टीम ने रिकार्ड खंगाला शुरू कर दिया है।

जिले में कुल मिलाकर 19 एंबुलेंस हैं। समय-समय पर कंडम एम्बुलेंसों की जगह नई एम्बुलेंस विभाग की तरफ से भेजी जाती है। जिनकी तकनीकी खराबी व सर्विस विभाग की तरफ से करवाई जाती है। एक व्यक्ति ने सीएमओ को शिकायत देकर बताया कि एम्बुलेंस की सर्विस ऑथोराइज्ड सेंटर से नहीं करवाई जा रही। एक चिकित्सकीय अधिकारी अपने स्तर पर अपनी मर्जी से निजी सर्विस सेंटर पर गाडि़यों की सर्विस करवा रहे हैं। शिकायतकर्ता ने बताया कि पोलियो के रिकार्ड में धांधली करते हुए गड़बड़ी की है। वहीं आयुषमान भारत मिशन के तहत अपने चहेते व निजी चिकित्सकों के रसूक के चलते उन्हें पैनल में शामिल करने का आरोप भी लगाया है।

स्वास्थ्य विभाग की तरफ से कई बार ट्रांसफर हुआ

अधिकारी का स्वास्थ्य विभाग की तरफ से कई बार ट्रांसफर हुआ। पदभार मिलने वाली महिला चिकित्सक कई बाद कार्यालय में चार्ज लेने के लिए पहुंची, लेकिन खाली हाथ ही वापस आना पड़ा। चिकित्सक की हठधर्मिता के आगे स्वास्थ्य विभाग के बड़े अधिकारी भी बोने साबित हो चुके हैं। चार्ज छोड़ने से पहले उक्त चिकित्सक अपनी राजनीति पहुंच के चलते चिकित्सक पदभार छोड़ने से पहले अपने ट्रांसफर को रूकवाने में कामयाब हो जाता। चिकित्सक ने सरकारी आदेशों की धज्जियां उड़ाते हुए समय पर चार्ज नहीं छोड़ा। उसे बाद जल्द ही ट्रांसफर रुक गया।

आयुषमान भारत मिशन में गड़बड़ी का आरोप

सीएमओ को दी शिकायत में शिकायकर्ता ने आरोप लगाया हैं कि अस्पताल में पोलियो के रिकॉर्ड में गड़बड़ी हैं। एक ही दिन में कई-कई ट्रेनिंग करवाई गई। आयुषमान भारत योजना के तहत कई प्राइवेट अस्पताल को अधिकारी ने अपने स्तर पर पैनल में जोड़ लिया। जो उचित नहीं हैं। मामले की जांच में कई खुलासे होने की बात कही हैं।

कई गंभीर आरोप लगाए

एक चिकित्सकीय अधिकारी पर शिकायकर्ता ने कई गंभीर आरोप लगाएं हैं। जिसको लेकर चार सदस्यीय कमेटी का गठन किया हैं। मामले को लेकर टीम रिकार्ड खंगाल रही हैं। जांच रिपोर्ट मिलने के बाद ही कुछ कहा जा सकेगा। सीसीटीवी मामले में मिली शिकायत पर चिकित्सक पर फटकार लगाई जा चुकी हैं। रिपोर्ट तैयार होने के बाद उच्च अधिकारियों को भेजा जायेगा। डा. बीके राजौरा, सीएमओ सोनीपत।

Next Story
Top