Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अंबाला क्लब विवाद : पूर्व चेयरमैन के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के बाद राजनीति गरमाई

त्रिखा गुट की ओर से केस दर्ज करवाए जाने की कड़ी आलोचना की गई है। साथ ही इसमें कई भाजपा नेताओं (BJP Leaders) की सोची समझी बताया जा रहा है। ज्यादातर सदस्यों ने मामले को लेकर एसपी हामिद अख्तर से मुलाकात करने की बात कही है।

अंबाला क्लब विवाद : पूर्व चेयरमैन के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के बाद राजनीति गरमाई
X

सुनील मोहन त्रिखा 

हरिभूमि न्यूज : अंबाला

अंबाला क्लब के पूर्व चेयरमैन सुनील मोहन त्रिखा के खिलाफ साजिशन धोखाधड़ी का मामला दर्ज होने के बाद शहर की राजनीति गरमा गई है। त्रिखा गुट की ओर से केस दर्ज करवाए जाने की कड़ी आलोचना की गई है। साथ ही इसमें कई भाजपा नेताओं की सोची समझी बताया जा रहा है। ज्यादातर सदस्यों ने मामले को लेकर एसपी हामिद अख्तर से मुलाकात करने की बात कही है। क्लब सदस्य आरपीएस भाटिया ने कहा कि दूसरा गुट स्तरहीन राजनीति पर उतर आया है। इसी वजह से यह केस दर्ज करवाया गया है।

उन्होंने कहा कि अगर संविधान की अवहेलना हुई थी तो तीन साल पहले यह केस क्यों दर्ज नहीं करवाया गया था। अब दूसरी गुट को अपना कार्यकाल खत्म होने के बाद संविधान के अवहेलना होने की बात क्यों याद आई। उन्होंने कहा कि जल्द ही मामले को लेकर एसपी से मुलाकात की जाएगी। इसी तरह क्लब के पूर्व चेयरमैन डॉक्टर सन्नी सिंह आहलुवालिया ने कहा कि इस मामले में हम हर जांच के लिए तैयार हैं। यह सब सोची समझी साजिश के तहत केस दर्ज करवाया गया है। पुलिस निष्पक्षता मामले की जांच करें तो सब सामने आ जाएगा। उन्होंने साफ कहा कि अगर पुलिस ने इस मामले में सियासी दबाव की वजह से कोई कार्रवाई की तो फिर वे चुप नहीं बैठेंगे।

मैं हर जांच के लिए तैयार हूं- सुनील

पूर्व चेयरमैन सुनील मोहन ने कहा कि इस मामले में वे हर तरह की जांच के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि विरोधियों ने उसके गुट को नुकसान करने के लिए यह साजिश रची है। उन्होंने कहा कि चुनाव में अपनी हार देखकर ही दूसरे गुट ने यह घटिया शरारत की है। उन्होंने कहा कि इस मामले पर वे चुप बैठने वाले नहीं हैं।

Next Story