Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा में चूहों ने कर दिया ऐसा काम, वाहन चालक बोल रहे ThankYou

आमतौर पर अपने घरों या खेत में चूहे दिखने पर हम उनको मार देते हैं या पकड़कर कहीं ओर छोड़ आते हैं, क्योंकि वे हमारा कीमती सामान और कपड़े आदि कूतरकर भारी नुकसान कर देते हैं। पर हरियाणा के जींद जिले में चूहों ने ऐसा काम कर दिया है कि लोग उनको थैंक्यू बोल रहे हैं।

हरियाणा में चूहों ने कर दिया ऐसा काम, वाहन चालक बोल रहे ThankYou
X

खटकड़ टोल प्लाजा।

जींद। आमतौर पर अपने घरों या खेत में चूहे दिखने पर हम उनको मार देते हैं या पकड़कर कहीं ओर छोड़ आते हैं, क्योंकि वे हमारा कीमती सामान और कपड़े आदि कूतरकर भारी नुकसान कर देते हैं। पर हरियाणा के जींद जिले में चूहों ने ऐसा काम कर दिया है कि लोग उनको थैंक्यू बोल रहे हैं।

जींद का खटकड़ टोल प्लाजा ( Khatkar Toll plaza ) लगभग एक वर्ष तक किसान आंदोलन ( Farmers Protest ) के कारण फ्री रहा और अब चूहों ने केबलों को काटकर टोल प्लाजा को फ्री किया हुआ है। किसान आंदोलन को समाप्त हुए पांच दिन बीत चुके हैं पर अभी तक तकनीकी दिक्कत के चलते टोल प्लाजा शुरू नहीं हो पाया है जिससे वाहन चालक खुश हैं। तकनीकी दिक्कत को दूर करने में अभी भी दो दिन और टैक्नीशियनों को लगेंगे, जिसके बाद ही यहां टोल प्लाजा शुरू हो पाएगा। फिलहाल लोग मुफ्त में जींद-पटियाला नेशनल हाईवे पर खटकड़ टोल प्लाजा से अपने वाहन निकाल रहे हैं।

बता दें कि किसान आंदोलन के चलते किसानों ने टोलों पर धरना देकर उन्हें फ्री करवाया हुआ था और धरने भी टोल प्लाजाओं पर चले हुए थे। जिसमें जींद-पटियाला नेशनल हाईवे पर खटकड़ टोल प्लाजा भी शामिल था। अब किसान आंदोलन समाप्त हो चुका है और गत 16 दिसम्बर को यहां किसानों ने टोल प्लाजा को प्रशासन के हवाले कर दिया था। टोल को चालू करने की कमान टोल प्लाजा कर्मियों ने संभाल ली थी। काफी कोशिश के बाद यहां लगा फास्ट टैग सिस्टम काम नहीं कर पाया। जिस पर कंपनी ने तकनीशियनों को बुलाया तो सामने आया कि टोल प्लाजा पर लगी वायरिंगों को चूहों ने काट डाला है। जिसके चलते खटकड़ पिछले पांच दिनों से टोल प्लाजा शुरू नहीं हो पाया है और वाहन चालक फ्री में यहां से आ-जा रहे हैं।

क्या बोले सहायक मैनेजर

टोल प्लाजा के सहायक मैनेजर रोबिन सिंह ने बताया कि 16 दिसम्बर को टोल प्लाजा शुरू करने की कोशिश की गई थी। फास्ट टैगिंग अपलोड की गई थी लेकिन टोल शुरू नहीं हो पाया। जिसके पीछे मुख्य कारण चूहों द्वारा टोल प्लाजा पर बिछाई गई वायरिंग को कुतरना रहा। उन्होंने आशा जताई कि अगले दो दिनों में वायरिंग को दुरूस्त कर टोल को शुरू कर दिया जाएगा।

और पढ़ें
Next Story