Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Hisar में अमेरिका, दक्षिण कोरिया, चीन तथा ताइवान देशों से भी बेहतर होगी एयरोट्रोपोलिस परियोजना

मुख्यमंत्री मनोहर लाल (Chief Minister Manohar Lal) से मुलाकात कर हिसार के विधायक डॉ. कमल गुप्ता (MLA Dr. Kamal Gupta) ने एक प्रस्ताव सौंपा और एयरोट्रोपोलिस परियोजना तथा विशेष आर्थिक क्षेत्र को लेकर व्यापक चर्चा की।

Hisar में अमेरिका, दक्षिण कोरिया, चीन तथा ताइवान देशों से भी बेहतर होगी एयरोट्रोपोलिस परियोजना
X

हरियाणा के हिसार में एकीकृत विमानन केंद्र की अपार संभावनाओं को देखते हुए अब इसका विश्व स्तरीय एयरोट्रोपोलिस परियोजना तथा विशेष आर्थिक क्षेत्र के रूप में विस्तार करने पर विचार किया जा रहा है। इसके लिए यहां मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मुलाकात कर हिसार के विधायक डॉ. कमल गुप्ता ने एक प्रस्ताव सौंपा और एयरोट्रोपोलिस परियोजना तथा विशेष आर्थिक क्षेत्र को लेकर व्यापक चर्चा की।

पूरी परियोजना की समीक्षा करने के उपरांत मुख्यमंत्री ने परियोजना को तैयार करने के लिए डॉ. कमल गुप्ता के कार्य की सराहना की और कहा कि वह इस संबंध में सभी संभावनाओं को तलाशेंगे और परियोजना को अमली जामा पहनाने की दिशा में गंभीर प्रयास किए जाएंगे। बैठक के दौरान डॉ. गुप्ता ने बताया कि अमेरिका, दक्षिण कोरिया, चीन तथा ताइवान आदि देशों में एयरोट्रोपोलिस परियोजनाओं का विस्तृत अध्यन करके यह प्रस्ताव तैयार किया गया है।

उल्लेखनीय है कि एकीकृत विमानन केंद्र के विस्तार के लिए 10 हजार एकड़ अतिरिक्त भूमि की जरूरत होगी। इससे भविष्य की विभिन्न जरूरतों को पूरा किया जा सकेगा। हिसार में बनने वाला यह हवाई अड्डा भारतवर्ष का एकमात्र ऐसा हवाई अड्डा होगा जो वाणिज्यिक और औद्योगिक दृष्टि से परिपूर्ण होगा। इस योजना के सफल क्रियान्वयन से हिसार की एयरोट्रोपोलिस परियोजना अमेरिका, दक्षिण कोरिया, चीन तथा ताइवान देशों से भी बेहतर होगी।

यहां हवाई यात्रियों को होटल, शॉपिंग मॉल, मनोरंजन और सांस्कृतिक गतिविधियों जैसी व्यापक सुविधाएं उपलब्ध हो सकेंगी। एयरोपोलिस परियोजना विकास की दृष्टि से डिजाइन की गई है। आने वाले दिनों में हिसार आर्थिक गतिविधियों के एक बड़े केंद्र के रूप में उभरेगा। इसके पूरी तरह से विकसित होने से न केवल हरियाणा बल्कि पड़ोसी राज्यों को भी इसका पूरा-पूरा लाभ मिलेगा।

एयरोट्रोपोलिस परियोजना में विभिन्न इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, सैन्य हार्डवेयर, एयरोस्पेस से संबंधित वस्तुएं, एयरक्राफ्ट का रख रखाव, पाट्र्स की मरम्मत व ओवरहालिंग, टेक्नोपार्क, फार्मास्यूटिकल इंडस्ट्री, मेडिकल हब, फिल्म सिटी तथा फूड पार्क सहित कुल 15 परियोजनाएं विकसित की जाएंगी, जो दुनिया के किसी एयरपोर्ट पर नहीं है। कुल मिलाकार यह एक बेहतरीन महत्वाकांक्षी परियोजना सिद्ध होगी।

Next Story