Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्रशासन बढ़ा रहा परेशानी पर कम नहीं हो रहा किसानों का हौसला

27 जनवरी को टीकरी बाॅर्डर पर बिजली काट दी और पानी की सप्लाई बंद कर दी गई। आंदोलन स्थल पर लगाए गए शौचालय भी प्रशासन ने हटा लिए।

प्रशासन बढ़ा रहा परेशानी पर कम नहीं हो रहा किसानों का हौसला
X

सेक्टर-6 के कम्युनिटी सेंटर में खड़े हटाए गए शौचालय।

हरिभूमि न्यूज. बहादुरगढ़

कृषि कानूनों के विरोध में टीकरी बॉर्डर पर 27 नवंबर से चल रहे किसान आंदोलन को विफल करने के लिए शासकीय तौर पर हर संभव प्रयास किया जा रहा है। 27 जनवरी को यहां बिजली काट दी गई और पानी की सप्लाई बंद कर दी गई। इसके अलावा आंदोलन स्थल पर लगाए गए शौचालय प्रशासन की ओर से हटा लिए गए। परेशानी बढ़ने के बावजूद किसानों के हौसले कम नहीं हुए। हालांकि इसे लेकर छपी झूठी खबरों की भी किसान नेताओं ने आलोचना की।

टीकरी बॉर्डर पर तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में जारी आंदोलन के दौरान बिजली कटौती, पानी और साफ-सफाई के अभाव जैसी समस्याओं से किसानों को दो-चार होना पड़ रहा है। पानी और बिजली, टॉयलेट जैसी बुनियादी जरूरत की चीजें अवरुद्ध करने के विरोध में ही 6 फरवरी को देशभर में दोपहर 12 बजे से तीन बजे तक तीन घंटे का चक्का जाम किया जाएगा। बता दें कि शासन की मंशा के अनुरूप प्रशासन ने आंदोलनकारी किसानों को दी जा रही बिजली, पानी व शौचालय की सुविधा कई दिन पहले वापिस ले ली थी। जिस कारण आंदोलनरत किसानों का परेशान होना स्वाभाविक है। हालांकि प्रशासन की ओर से मूलभूत सुविधाएं वापस लेने की निंदा भी हो रही है।

Next Story