Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास बोले, एक ही स्थान पर जमकर मलाई मार रहे अधिकारियों के होंगे तबादले

बताया गया है कि विभाग की ओर से प्रदेश के अंदर आम जनता को राहत (relief) देने व पारदर्शी सिस्टम बनाने की मुहिम के तहत विभाग के अंदर एक तबादला सर्कुलर जारी कर दिया गया है।

अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास बोले, एक ही स्थान पर जमकर मलाई मार रहे अधिकारियों के होंगे तबादले
X

चंडीगढ़। हरियाणा के खाद्य एवं आपूर्ति और उपभोक्ता मामलों के विभाग में अब व्यापक बदलाव की तैयारी है। लंबे समय से एक ही स्थान और जिले में जमे अधिकारियों ने कर्मचारियों को तबादला पॉलिसी (Transfer policy) के तहत बदलने के लिए होमवर्क पूरा हो गया है।

बताया गया है कि विभाग की ओर से प्रदेश के अंदर आम जनता को राहत देने व पारदर्शी सिस्टम बनाने की मुहिम के तहत विभाग के अंदर एक तबादला सर्कुलर जारी कर दिया गया है। विभाग में उपलब्ध मैन पावर के हिसाब से फिलहाल मैनुअल (manual) तबादले होंगे, जिसके लिए एक ठोस नीति तैयार कर उसको कार्य रूप देने की तैयारी हो गई है।

अब से पहले हरियाणा के सबसे बड़े शिक्षा विभाग मे तबादले की मुहिम सिरे चढ़ा चुके वरिष्ठ आईएएस अधिकारी पीके दास इन दिनों इस महकमे के अतिरिक्त मुख्य सचिव है। विभाग में व्याप्त खामियों को दूर करने और आए साल होने वाली दिक्कतों कोई स्थायी तौर पर निपटारा करने के लिए दास ने यहां पर भी पारदर्शी तबादला नीति अपनाने के बाद इसे अमलीजामा पहनाने की पहल शुरू कर दी है। विभाग में लंबे अरसे से एक ही स्थान पर जमे मलाई मार रहे लो अफसरों में कर्मियों में इस समय हड़कंप का माहौल है।

तबादला पॉलिसी में क्या है

हरियाणा खाद्य एवं आपूर्ति और उपभोक्ता मामलों के इस विभाग में फिलहाल मैनुअल तबादले होंगे। पॉलिसी में करप्शन को समाप्त कर एक ही स्थान जिले में 5 साल व ज्यादा समय से तैनात अधिकारियों को बदलने का काम प्राथमिकता पर होगा।

अधिकारियों में सहायक खाद्य एवं आपूर्ति अधिकारी, निरीक्षक खाद्य एवं आपूर्ति, के अलावा उप निरीक्षक खाद्य एवं आपूर्ति के सभी अधिकारी शामिल हैं। अर्थात अब विभाग में अपने रसूख के दम पर या जुगाड़बाजी से एक ही स्थान पर जमे रहना संभव नहीं हो सकेगा।

चार जोन तैयार किए गए

हरियाणा में खाद्य एवं आपूर्ति विभाग की ओर से चार जोन तैयार किए गए हैं। जिसमें अंबाला जोन में अंबाला, पंचकूला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र और कैथल शामिल हैं। दूसरा हिसार इसमें सिरसा, फतेहाबाद, जींद, हिसार, भिवानी, चरखी दादरी और तीसरा जोन गुरुग्राम निर्धारित किया है।

जिसमें गुरुग्राम, फरीदाबाद, पलवल, मेवात, नारनौल, रेवाड़ी जिले शामिल हैं। चौथा जोन रोहतक जिसमें रोहतक, झज्जर, सोनीपत, पानीपत, करनाल जिले शामिल है। इस तरह से क्रमशः ए.बी.सी.डी जोन तैयार किए गए।



Next Story