Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ऑनलाइन भेजी जा रही Abortion किट, बनाने वाली कंपनी सहित Amazon पर केस दर्ज

इस खुलासा तब हुआ जब कैथल जिले के डिस्ट्रिक पीएनडीटी नोडल ऑफिसर डॉ. गौरव पूनिया ने खुद ग्राहक बनकर अमेजॉन साइट से ऑनलाइन दो एमटीपी किट मंगवाई।

अब बिना पैसे भी अमेज़न समेत ये ई कॉमर्स साइट दे रही कोई भी सामान खरीदने का ऑफर, ये है ऑर्डर का तरीका
X
अमेजन पर केस दर्ज।

हरिभूमि न्यूज. कैथल

ऑनलाइन शॉपिंग साइट अमेजॉन ( Amazon) द्वारा लोगों को घराें पर ही गर्भपात करने की किट भेजी जा रही हैं। इस खुलासा तब हुआ जब कैथल जिले के डिस्ट्रिक पीएनडीटी नोडल ऑफिसर डॉ. गौरव पूनिया ने खुद ग्राहक बनकर अमेजॉन साइट से ऑनलाइन दो एमटीपी किट मंगवाई। डॉ. गौरव पूनिया द्वारा ऑर्डर करने के 7 दिन बाद ही उड़ीसा से बिल और डिलीवरी चार्ज समेत, 2 एमटीपी किट 897 रुपये में उनके घर पहुंच गई।

ऐसे में मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेग्नेंसी किट (एमटीपी) की होम डिलीवरी दवा बनाने वाली कंपनी के साथ अमेजॉन को भी महंगी पड़ी है। बता दें अमेजॉन ने बिल समेत 897 रुपये में घर पहुंचाई किट। एमटीपी किट की ऑनलाइन डिलीवरी हो रही है जो कि अवैध है। डिलीवरी के बारे में कैथल जिले के डिस्ट्रिक पीएनडीटी नोडल ऑफिसर डॉ. गौरव पूनिया ने खुद जानकारी दी, डॉ. पूनिया ने खुद ग्राहक बनकर अमेजॉन साइट से ऑनलाइन दो एमटीपी किट मंगाई हैं। डॉ. गौरव पूनिया द्वारा ऑर्डर करने के 7 दिन बाद ही उड़ीसा से बिल और डिलीवरी चार्ज समेत, 2 एमटीपी किट 897 रुपये में उनके घर पहुंच गई। उन्होंने सिविल सर्जन को किट संबंधित जानकारी से अवगत करवाया और डीसी के समक्ष भी मामला संज्ञान में लाया गया।

इस पर ड्यूटी मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में डिस्ट्रिक ड्रग कंट्रोल ऑफिसर मनदीप मान, डॉ. ललित जांगड़ा ने डॉ. गौरव पूनिया के घर से आई हुए एमटीपी किट बरामद की। डिस्ट्रिक ड्रग कंट्रोल ऑफिसर ने एमटीपी किट की ऑनलाइन सप्लाई करने पर इसे तैयार करने वाली कंपनी, बेचने वाली फर्म, डिलीवरी देने वाली अमेजॉन डॉट इन, समेत 4 के खिलाफ डिस्ट्रिक कोर्ट में केस दायर किया है। बिल सर्जन के आदेश के बाद अमेजॉन से ऑनलाइन 2 एमटीपी किट मंगवाई गई, जब डिलीवरी लेकर युवक घर पहुंचा तो डॉ. पुनिया हैरान हो गए, ऐसे में अवैध गर्भपात पर रोक लग पाना काफी मुश्किल हो रहा है।

Next Story