Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अभय चौटाला ने सत्ता में बैठे लोगों को बताया मौत का सौदागर

इनेलो के प्रधान महासचिव ने कहा प्रदेश की वर्तमान सरकार पूरी तरह से फेल साबित हुई है। उन्होंने कहा कि यदि पीजीआई रोहतक में ही स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गई हैं तो हरियाणा के अन्य अस्पतालों का अंदाजा लगाया जा सकता है कि वहां क्या स्थिति होगी?

अभय चौटाला ने सत्ता में बैठे लोगों को बताया मौत का सौदागर
X

पार्टी कार्यकर्ताओं से रूबरू होते हुए अभय चौटाला। 

सिरसा : इंडियन नेशनल लोकदल के प्रधान महासचिव व ऐलनाबाद के पूर्व विधायक अभय सिंह चौटाला ने कहा कि भाजपा की केंद्र व प्रदेश सरकार कोरोना संक्रमण के प्रति समय रहते नहीं चेती और उसकी गलत नीतियों का खमियाजा आमजन को भुगतना पड़ रहा है। वे मंगलवार को जिले के गांव गुडियाखेड़ा में पार्टी कार्यकर्ताओं से रूबरू हो रहे थे। उन्होंने कहा कि नागरिक अस्पताल में 800 वैक्सीन आई थी जिसे दिल्ली में कालाबाजारी में बेच दिया गया क्योंकि सीएमओ सिरसा ने इस वैक्सीन के समाप्त होने की बात कही थी।

इनेलो नेता ने कहा कि सत्ता में बैठे लोगों को केवल धन से प्यार है और जनता के दुख-तकलीफों से उन्हें कोई लेना-देना नहीं है। सत्ता में बैठे लोगों को मौत का सौदागर बताते हुए इनेलो नेता ने कहा कि प्रदेश की जनता ऑक्सीजन के लिए तड़प रही है और मुख्यमंत्री अब इसका प्रबंध करने में लगे हैं। उन्होंने राजकीय व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा कि एक ओर मुख्यमंत्री दावा कर रहे हैं कि रोहतक पीजीआई में कोरोना संक्रमितों के उपचार के लिए एक हजार बैड का प्रबंध किया गया है जबकि पीजीआई रोहतक प्रबंधन ने स्पष्ट किया है कि उनके पास संक्रमितों के उपचार के लिए बैड आदि की सुविधा उपलब्ध नहीं है, ऐसे में कहा जा सकता है कि प्रदेश की वर्तमान सरकार पूरी तरह से फेल साबित हुई है। उन्होंने कहा कि यदि पीजीआई रोहतक में ही स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गई हैं तो हरियाणा के अन्य अस्पतालों का अंदाजा लगाया जा सकता है कि वहां क्या स्थिति होगी?

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश की जनता को मरने के लिए राम भरोसे छोड़ दिया है। इनेलो नेता ने कहा कि प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को अपनी जिम्मेदारी बेहतर तरीके से न निभाने के लिए इस्तीफा देते हुए प्रदेशवासियों से माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सीएम मनोहर लाल भी पीएम नरेंद्र मोदी की तरह केवल भाषण देना जानते हैं और वास्तविकता को जानने से बच रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश का किसान, मजदूर व आढ़ती पूरी तरह से सरकार की गलत नीतियों की भेंट चढ़ गए हैं क्योंकि न तो किसानों की फसल की खरीद हो रही है और न ही 48 घंटे में उनके खातों में फसल की पेमेंट ही आ रही है। कांग्रेस को कठघरे में खड़ा करते हुए और उसे भाजपा की बी टीम बताते हुए अभय सिंह चौटाला ने कहा कि वह आमजन की समस्याओं को प्रदेश के राज्यपाल के पास ले जाने की बजाए केवल अखबारी बयानबाजी तक ही सीमित हो गई है।

उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष उन्होंने स्थानीय शासन को कोरोना की स्थिति में आमजन की मदद के लिए जेसीडी विद्यापीठ में 100 बैड का अस्पताल सहायतास्वरूप दिया था और इस बार भी उन्होंने प्रशासन को यह मदद देने के लिए पत्र लिखा है मगर शासन एवं प्रशासन इसमें भी राजनीति करने पर आमादा हैं। उन्होंने कहा कि कोर्ट ने जिस प्रकार कहा कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच चुनाव आयोग के साथ-साथ पश्चिम बंगाल में ज्यादा से ज्यादा चुनावी रैलियां करने वालों के खिलाफ केस दर्ज होना चाहिए, ठीक वैसे ही हरियाणा में भी जनता के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को सही तरीके से न निभाने के लिए मुख्यमंत्री के खिलाफ भी केस दर्ज होना चाहिए। उन्होंने आरोप जड़ा कि सत्ता में बैठे नेता विदेश जाकर मौज लूट रहे हैं जबकि प्रदेश की जनता आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं के लिए भटक रही है।

इनेलो नेता ने कहा कि बॉर्डर पर बैठे किसानों का आंदोलन समाप्त नहीं होगा और मई माह में किसानों की संख्या यहां पहले की अपेक्षा कई गुणा बढ़ेगी। उन्होंने केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर पर कटाक्ष करते हुए कहा कि किसानों और सरकार के बीच बातचीत का माध्यम बने तोमर की बात का कोई महत्व नहीं है। इस दौरान उन्होंने ग्रामीणों की समस्याएं भी जानी और उनका मौके पर ही समाधान भी किया। उन्होंने ग्रामीणों से पार्टी संगठन को पहले से भी ज्यादा मजबूत करने का आह्वान करते हुए इसकी नीतियों को प्रचारित करने की बात कही।

Next Story