Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना वैक्सीन लगने के बाद एक हेल्थ वर्कर को आई उल्टी

डॉ. तरुण ने कहा कि वैक्सीन को लेकर कुछ लोगों ने मिथ बढ़े हैं। उसमें कोई सच्चाई नहीं है। स्वास्थ्य विभाग की तरफ से टोल फ्री नम्बर 1075 जारी किया गया है। जिन स्वास्थ्य कर्मचारियों को वैक्सीन दी गई है।

जानिये कैसे आपके शहर में पहुंचाई जाएगी कोरोना वैक्सीन,
X

जानिये कैसे आपके शहर में पहुंचाई जाएगी कोरोना वैक्सीन

हिसार। बीते दिन कोविड-19 की वैक्सीन लगवाने वाले डिप्टी सिविल सर्जन डॉ. तरूण का कहना है कि शनिवार को जिन चिकित्सकों तथा स्वास्थ्य कर्मचारियों को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज दी गई। वह सभी स्वस्थ हैं।

बीते दिन केवल एक स्वास्थ्य कर्मचारी ने वैक्सीन लगवाने के कुछ देर बाद उल्टी की शिकायत की थी। जो कुछ देर बाद नॉर्मल भी हो गया था। इसके अलावा एक स्वास्थ्य कर्मचारी ने रात को थोड़ी ठंड लगने की शिकायत की थी। उसे नागरिक अस्पताल के चिकित्सकों ने फोन पर ही बुखार की दवा प्रिस्क्राइब की थी। वह भी अब ठीक है।

डॉ. तरुण ने कहा कि वैक्सीन को लेकर कुछ लोगों ने मिथ बढ़े हैं। उसमें कोई सच्चाई नहीं है। स्वास्थ्य विभाग की तरफ से टोल फ्री नम्बर 1075 जारी किया गया है। जिन स्वास्थ्य कर्मचारियों को वैक्सीन दी गई है।

वह सभी दुरुस्त हैं। उन्होंने कहा कि वह स्वयं भी वैक्सीन लगवाने के बाद रात 8 बजे तक ड्यूटी देते रहे और आज रविवार को भी वह ऑफिस का कामकाज संभाल रहे हैं। इससे पहले आदमपुर नागरिक अस्पताल की स्वास्थ्य कर्मचारी मौसम ने भी वैक्सीन लगवाने के बाद खुद को स्वस्थ महसूस किया था जबकि जिला नागरिक अस्पताल में वैक्सीन लगवाने वाली सुनीता ने पहले से ज्यादा आत्मविश्वास आने की बात कही थी।

गौर हो कि बीते दिन पोर्टल पर पंजीकृत हिसार जिला के 225 स्वास्थ्य महकमे से जुड़े कर्मचारियों को कोविड-19 का टीका लगाया गया था। डॉ. तरूण का कहना है कि पोर्टल पर जारी लिस्ट के हिसाब से अन्य स्वास्थ्य कर्मचारियों को भी वैक्सीन लगाई जा रही है।

इलाज के तीन-चार घंटे बाद कर्मी की हालत में सुधार

बरवाला में कोविड-19 टीकाकरण अभियान के दूसरे दिन रविवार होने के चलते किसी को भी टीके नहीं लगाए गए। हेल्थ इंस्पेक्टर विनय सेतिया ने बताया कि इस टीकाकरण अभियान के प्रथम दिन स्वास्थ्य विभाग के 65 कर्मियों को कोविड-19 के टीके लगाए गए थे।

टीके लगाने के बाद स्वास्थ्य विभाग के इन कर्मियों को आधा घंटा तक ऑब्जरवेशन रूम में रखा गया था। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग के एक कर्मी को कॉविड-19 का टीका लगने के बाद उल्टी आ गई थी और चक्कर भी आ गए थे। पीडि़त स्वास्थ्यकर्मी का तुरंत प्रभाव से इलाज किया गया था।

तीन-चार घंटे के बाद पीडि़त कर्मी की हालत ठीक हो गई थी। अभियान के प्रथम दिन कोविड-19 का प्रथम टीका मुख्य अतिथि विधायक जोगी राम सिहाग को लगाया गया था। स्वास्थ्य विभाग सोमवार को निजी अस्पतालों के कर्मियों को कॉविड- 19 के की वैक्सीन लगाएगा।



Next Story