Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा-पंजाब से आ रहा ट्रैक्टरों का काफिला, 40 हजार से अधिक ट्रैक्टर पहुंचे

पिछले 24 घंटे में 20 हजार के करीब ट्रैक्टर कुंडली बॉर्डर पहुंचे हैं। जिससे कुंडली बॉर्डर पर 40 हजार से अधिक ट्रैक्टर व करीब दो लाख किसान जुट चुके हैं। देर सायं तक हरियाणा-पंजाब से ट्रैक्टरों के काफिलों का आना जारी था।

हरियाणा-पंजाब से आ रहा ट्रैक्टरों का काफिला, 40 हजार से अधिक ट्रैक्टर पहुंचे
X

हरिभूमि न्यूज. सोनीपत। तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने से सरकार के इनकार के बाद देशभर के किसानों में आक्रोश है, किसान सरकार को ट्रैक्टर तिरंगा परेड में अपनी ताकत दिखाना चाहते हैं, यही कारण है कि हरियाणा-पंजाब से रोजाना हजारों ट्रैक्टर कुंडली बॉर्डर पहुंच रहे हैं।

पिछले 24 घंटे में 20 हजार के करीब ट्रैक्टर कुंडली बॉर्डर पहुंचे हैं। जिससे कुंडली बॉर्डर पर 40 हजार से अधिक ट्रैक्टर व करीब दो लाख किसान जुट चुके हैं। देर सायं तक हरियाणा-पंजाब से ट्रैक्टरों के काफिलों का आना जारी था। ट्रैक्टरों की अधिकता के कारण कुंडली बॉर्डर से बीसवांमील तक सबकुछ बंद हो गया।

जिससे 18 किलोमीटर तक जीटी रोड के अलावा केजीपी-केएमपी पर भी ट्रैक्टरों की कतारें लगी रही। दूर-दूर तक ट्रैक्टर ही ट्रैक्टर नजर आ रहे थे। ट्रैक्टरों की कतारें केजीपी-केएमपी के जीरो प्वाइंट को दोपहर पूर्व ही पार कर गई थी। जिससे केजीपी-केएमपी पर भी आवागमन बंद हो गया।

स्थिति गंभीर होते देख पुलिस को बहालगढ़ के पास से रूट डायवर्ट करने पड़े। देर सायं तक पुलिस जाम से निपटने के लिए प्रयास करती रही, लेकिन हरियाणा-पंजाब से आने वाले ट्रैक्टरों व अन्य वाहनों की संख्या इतनी अधिक थी कि जाम से निजात नहीं मिल पाई।

किसानों का पूरा फोकस 26 जनवरी को निकाले जाने वाली ट्रैक्टर तिरंगा परेड पर और पिछले करीब 10 दिनों से जोर-शोर से इसकी तैयारियां जारी हैं। रविवार को किसानों ने फाइलन रिहर्सल पूरी की और अब सभी ट्रैक्टर दिल्ली में एंट्री को पूरी तरह तैयार हैं।

माना जा रहा है कि किसान 25 जनवरी की रात को ही दिल्ली में एंट्री शुरू कर सकते हैं। यही कारण है कि किसान नेताओं के 24 तक हर हाल में कंुडली बॉर्डर पर पहुंचने का आह्वान किया था। रविवार को दिन भर हरियाणा-पंजाब से ट्रैक्टरों का आना जारी रहा, जिससे जीटी रोड व एक्सप्रेस-वे पर ट्रैक्टर-ट्रालियों की लंबी कतारें लग गई। जीटी रोड पर लगे जाम में ट्रैक्टरों के पीछे छोटे वाहन फंसे रहे। भीषण जाम को देखते हुए युवा किसानों ने मोर्चा संभाला और ट्रैफिक को दुरुस्त करने के लिए कतारबद्ध वाहनों को निकालना शुरू किया।

ट्रालियों में लोड कर लाए एक्स्ट्रा ट्रैक्टर

किसान नेताओं द्वारा हर घर से एक युवा के ट्रैक्टर परेड में शामिल होने और 24 जनवरी की शाम तक दिल्ली की दहलीज पर पहुंचने के आह्वान के बाद रविवार को हरियाणा-पंजाब से ट्रैक्टरों, बाइकों व अन्य वाहनों से किसानों के काफिले का पहुंचना दिन भर जारी रहा। किसान अपने ट्रैक्टरों के साथ ही ट्रालियों में भी एक्स्ट्रा ट्रैक्टर लोट कर कुंडली बॉर्डर की ओर बढ़ते रहे। किसान कहीं ट्राली में तो कहीं एक साथ दो से तीन ट्रैक्टर टोचर कर जाते दिखाई दिए। पूरा दिन ट्रैक्टरों की कतारें जीटी रोड पर लगी रहने के कारण जाम की स्थिति बनी रही।



Next Story