Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मरने के बाद मिसाल बनी ये 84 वर्षीय महिला

भरपाई इंन्सां का शरीर मेरठ के इंस्टीटयूट ऑफ मेडिकल साइंस को मेडिकल रिसर्च के लिए दान किया गया।

मरने के बाद मिसाल बनी ये 84 वर्षीय महिला
X
मां की अर्थी को कंधा देतीं बेटियां।

हरिभूमि न्यूज.भिवानी

खाड़ी महोल्ला, दिनोद गेट निवासी 84 वर्षीय बुजुर्ग महिला भरपाई इंन्सां मरने के बाद भी इंसानियत की मिसाल कायम कर गई। उन्होंने अपना मृत्यु के बाद शरीर दान मेरठ के इंस्टीटयूट ऑफ मैडिकल साईंस को मैडिकल रिसर्च के लिए दान कर दिया। 84 वर्षीय भरपाई इन्सां की मौत हो गई थी। उन्होंने अपना जीवन धार्मिक पृष्ठभूमि में गुजारा। उनहोंने डेरा सच्चा सौदा सिरसा से नामदान लिया हुआ था तथा शरीर दान का फॉर्म भी भरा हुआ था।

शरीरदानी भरपाई इन्सां चार बेटियों की माता थी। वह अपने पीछे 10 दोहते.दोहतियों का भरा.पूरा परिवार छोड़ गई। उनकी अंतिम इच्छा थी कि उनकी मृत्यु उपरांत उनके शरीर का दान मैडिकल रिसर्च के लिए किया जाए। उनकी बेटियों ने उनकी अर्थी को कांधा देकर महिला सशक्तिकरण की मिसाल भी कायम की। कांधा देकर बेटियों ने मृतिका भरपाई इन्सां के शरीर को एंबुलैंस वैन तक पहुंचाया, जो मेरठ के मैडिकल इंस्टीट्यूट में शरीर को रिसर्च के लिए ले गई। इस मौके पर शहर के गणमान्य लोग व डेरा प्रेमी भी विशेष रूप से मौजूद रहे।

Next Story