Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रोहतक पीजीआई में हड़कंप : 16 डॉक्टरों सहित 51 कर्मचारी मिले कोरोना संक्रमित, आज से 50 फीसदी मरीजों का ही इलाज होगा

पीजीआई की ओपीडी में कार्ड बनाने की संख्या निर्धारित कर दी गई है। पहले करीब 6 हजार मरीज हर रोज ओपीडी में आते थे, अब कुल 2 हजार 461 मरीजों को जांचा जाएगा।

रोहतक पीजीआई में हड़कंप : 16 डॉक्टरों सहित 51 कर्मचारी मिले कोरोना संक्रमित, आज से 50 फीसदी मरीजों का ही इलाज होगा
X

रोहतक पीजीआई।

हरिभूमि न्यूज : रोहतक

पीजीआई से बड़ी खबर ये भी है कि एक ही दिन में 51 हेल्थ केयर वर्कर संक्रमित मिले हैं। इनमें 16 डॉक्टर, 16 छात्र-छात्राएं, 7 नर्स, 4 पैरामेडिकल स्टाफ, 7 मिनिस्ट्रियल स्टाफ कर्मी और एक ड्राइवर शामिल हैं। इसी तरह हेल्थ केयर वर्कर संक्रमित होते रहे तो स्थिति इससे भी गंभीर होने वाली है।

13 से 18 अप्रैल तक पीजीआई में हालात बिगड़े हुए हैं। इन छह दिनों में कुल 217 हेल्थ केअर वर्कर वायरस की जद में आ चुके हैं। इनमें 67 डॉक्टर, 38 नर्स और 48 छात्र-छात्राएं भी शामिल हैं। 18 बियरर-स्वीपर, पैरामेडिकल स्टाफ के 20, मिनिस्ट्रियल स्टाफ के 26 कर्मचारी संक्रमित हो चुके हैं।

आज से 50 फीसदी मरीजों का ही इलाज होगा

आप पीजीआई की ओपीडी में इलाज करवाने आ रहे हैं तो ध्यान रखें कि आज से 50 फीसदी मरीजों का ही इलाज होगा। सुबह 9 से 11 बजे तक पहले की अपेक्षा आधे मरीज ही कार्ड बनवा सकेंगे। ओपीडी में कार्ड बनाने की संख्या निर्धारित कर दी गई है। पहले करीब 6 हजार मरीज हर रोज ओपीडी में आते थे, अब कुल 2 हजार 461 मरीजों को जांचा जाएगा। नई जानकारी ये भी है कि मानसिक रोग विभाग की ओपीडी भी एसआईएमएच में शिफ्ट हो गई है। मानसिक रोग विभाग की पुरानी बिल्डिंग में आने वाले मरीजों को आज से एसआईएमएच में जाना होगा। इसके लिए पुरानी बिल्डिंग के पास एक कर्मचारी तैनात कर दिया जाएगा जो मानसिक रोगियों के तिमारदारों को एसआईएमएच का रास्ता बताएगा। हालांकि कार्ड बनाने की संख्या और मानसिक रोग विभाग की ओपीडी शिफ्ट करने का निर्णय 16 अप्रैल को बैठक में ले लिया गया था, लेकिन इसे सोमवार से लागू कर दिया गया है। कोई दूर दराज से आता है तो डॉक्टर के कहने पर उसका कार्ड बनाया जाएगा।

जनरल मेडिसन में रखा ध्यान

साधरण बीमारियों के आने वाले मरीजों का ध्यान रखा गया है। जनरल मेडिसन विभाग की ओपीडी में 300 मरीज कार्ड बनवा सकते हैं। वहीं हड्डी रोग विभाग में 200 और रेडियोथेरेपी में 201 मरीजों के कार्ड बनेंगे। मानसिक रोग विभाग में कुल 60 मरीजों की जांच होगी। इनमें 20 नए और 40 पुराने मरीज शामिल होंगे। वहीं गायनी में भी 150 महिलाएं कार्ड बनवा सकती हैं।

हेल्थ केयर वर्कर्स यहां क्वारंटीन होंगे

पीजीआई ने हेल्थ केअर वर्कर्स को क्वारंटीन करने के लिए 6 जगहों पर क्वारंटीन सेंटर बनाए हैं। फैक्ल्टी हाउस में 18, एमडीयू में 20, मैना टूरिज्म में 20, तिलियार पर्यटन केंद्र में 20, विश्राम सदन में 4 और वार्ड-7 में 28 हेल्थ केअर वर्कर्स को क्वारंटीन करने की सुविधा दी है। ड्यूटी पीरियड पूरा होने के बाद वर्कर यहां क्वारंटीन हो सकते हैं।

Next Story