Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

डेंटल सर्जन भर्ती में हेरफेर : HPSC उप सचिव अनिल नागर के सहयोगी के घर से रिश्वत के 2.10 करोड़ रुपये बरामद

विजिलेंस ने Hpsc के उप सचिव अनिल नागर और दो अन्य आरोपियों को डेंटल सर्जन की भर्ती के उम्मीदवारों के अंकों में हेराफेरी करने के आरोप में गिरफ्तार किया था। .

डेंटल सर्जन भर्ती में हेरफेर : HPSC उप सचिव अनिल नागर के सहयोगी के घर से रिश्वत के 2.10 करोड़ रुपये बरामद
X

अनिल नागर

राज्य सतर्कता ब्यूरो ( State Vigilance Bureau ) हरियाणा ने हरियाणा लोक सेवा आयोग ( Hpsc ) के उप सचिव अनिल नागर ( Anil Nagar ) और दो अन्य आरोपियों को एचपीएससी द्वारा 26 सितंबर 2021 को आयोजित डेंटल सर्जन की भर्ती के लिए लिखित परीक्षा में शामिल होने वाले उम्मीदवारों के अंकों में हेराफेरी करने के आरोप में गिरफ्तार किया था। .

17 नवंबर को केस दर्ज होने के बाद छापेमारी की गई और जिला भिवानी निवासी नवीन कुमार को 20 लाख रुपये की नकद राशि लेते रंगे हाथ पकड़ा गया। उसे 18 नवंबर को अदालत में पेश कर 4 दिन के लिए पुलिस हिरासत में भेजा गया था। उससे पूछताछ करने और जांच के दौरान प्राप्त अन्य सबूतों के आधार पर, एसवीबी अधिकारियों ने झज्जर जिले अश्विनी शर्मा को गिरफ्तार किया और उसके घर की तलाशी के दौरान 1 करोड़ 7 लाख 97 हजार बरामद किए। नागर ने उसे एचपीएससी में अपने कार्यालय में पैसे सौंपने के लिए कहा था। आगे की जांच के बाद एसवीबी ने उप सचिव अनिल नागर को उनके कार्यालय में अश्विनी शर्मा से 1 करोड़ रुपये से अधिक की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया।

अनिल नागर के कब्जे से रिश्वत की राशि बरामद की गई। नागर की गिरफ्तारी के बाद उसके आवास के साथ-साथ उसके एक सहयोगी के आवास पर भी तलाशी ली गई। नागर के सहयोगी के पास से 2 करोड़ 10 लाख रुपये की नकद राशि बरामद की गई। जिसने नागर की ओर से रिश्वत के पैसे अपने पास रखे थे। इसके अलावा अनिल नागर के घर की तलाशी के दौरान 12 लाख रुपये नकद, 50 लाख रुपये की एक पंजीकृत भूमि विलेख, लैपटॉप जब्त किया गया है। अनिल नागर 4 दिन के पुलिस रिमांड पर है। इस मामले में अब तक कुल 3 करोड़ 60 लाख रुपये की नकद वसूली हुई है। मामले में आगे की जांच जारी है।

Next Story