Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रेवाड़ी में 17 वर्षीय लड़के के सिर में गोली व छाती में चाकू से वार कर हत्या

अभी तक हत्या के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला नागरिक अस्पताल के शवगृह में भेजकर मामले की जांच शुरू कर दी है।

हीरा पाॅवर विकास सेरालाइज कंपनी में फिटरमैन और सिक्योरिटी गार्ड की मौत
X

 मौत (प्रतीकात्मक फोटो)

हरिभूमि न्यूज : रेवाड़ी

शहर के गुर्जरवाड़ा निवासी एक किशोर की सिर में गोली और छाती पर चाकू से हमला कर दर्दनाक हत्या कर दी गई। हत्यारों का सुराग नहीं लगा है। सिटी पुलिस ने बोर्ड द्वारा शव का नागरिक अस्पताल में पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया है। वहीं अज्ञात बदमाशों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। इस हत्याकांड में सीआईए व सिटी पुलिस कुछ लोगों से पूछताछ भी कर रही है, लेकिन अभी तक कोई ठोस सबूत हाथ नहीं लगा है।

शहर के गुर्जरवाड़ा निवासी 17 वर्षीय पीयूष देर शाम स्कूटी पर सवार होकर घर से निकला था। पीयूष को आखिरी बार शहर के माता चौक पर देखा गया था। उसके बाद से ही वह गायब था। देर रात तक पता नहीं चलने पर परिजनों ने सिटी पुलिस को शिकायत दर्ज कराई थी।

पुलिस ने उसके मोबाइल की लोकेशन निकाली तो दिल्ली रोड पर पुलिस लाइन के आसपास की मिली। देर रात ही पुलिस लाइन के आसपास पुलिस के अलावा परिजनों ने खूब तलाश की, लेकिन पीयूष का पता नहीं चल पाया। सुबह उसकी लाश दिल्ली रोड से तुर्किवास की तरफ जाने वाले नहर के रास्ते पर पड़ी मिली। सूचना के बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लिया। पीयूष के सिर में दो गोली लगी हुई थी, जबकि छाती पर चाकू से वार किया हुआ था। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर परिजनों को सूचना दी। दोपहर तक शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद पुलिस ने परिजनों को सौंप दिया। पुलिस को अंदेशा है कि उसका अपहरण कर हत्या की गई है।

सात साल पहले हुए थी चाचा की हत्या

पीयूष के चाचा जीतराम उर्फ जीता गुर्जर की वर्ष 2013 में दिन दहाड़े कोर्ट परिसर में गोली मारकर हत्या कर दी थी। जीता पर कई अपराधिक मामले दर्ज थे। हालांकि पीयूष पर किसी तरह का कोई अपराधिक केस दर्ज नहीं है। पीयूष के बारे में बताया गया है कि उसका एक छोटा भाई भी है। दोनों घर पर ही रहते थे। उनकी किसी से कोई दुश्मनी भी नहीं बताई गई है। लेकिन पुलिस हत्याकांड की हर एंगल से जांच कर रही है।

Next Story