Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नौकरी लगवाने के नाम पर अपने ही साथी से ठग लिए 15 लाख रुपये

जलदीप ने बताया कि उसके साथ भादरा निवासी सुरेश कुमार फौज में नौकरी करता था। रिटायर होने के बाद सुरेश ने नौकरी लगवाने का झांसा दिया।

फर्जी चेक से करोड़ों ठगने वालों की संपत्ति की बन रही कुंडली, नागपुर पुलिस से मांगी डिटेल
X

ठगी (प्रतीकात्मक फोटो)

हरिभूमि न्यूज. रेवाड़ी

दो लोगों को सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर पूर्व सैनिक ने अपनी पत्नी व साले के साथ मिलकर उसके साथ ही फौज में नौकरी कर चुके एक पूर्व सैनिक के साथ 15 लाख रुपये की ठगी कर दी। पुलिस ने तीनों आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

खोल थाना पुलिस को दर्ज कराई शिकायत में पूर्व सैनिक मामड़िया अहीर निवासी जलदीप ने बताया कि उसके साथ राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले के भादरा निवासी सुरेश कुमार फौज में नौकरी करता था। दोनों रिटायर्ड होने के बाद एक दिन आपस में बैठकर बात कर रहे थे। इसी दौरान सुरेश कुमार ने जलदीप को बताया कि उसका साला सरकारी नौकरी लगवाता है। जलदीप ने पहले तो उस पर विश्वास नहीं किया, लेकिन उसके बाद वह कई बार हुई मुलाकात में उस पर विश्वास कर बैठा और अपने दो रिश्तेदारों को नौकरी लगवाने का सौदा करने पहुंच गया। आरोपित सुरेश ने एक आदमी को नौकरी दिलाने के नाम पर साढे 7 लाख रुपये की डिमांड की।

पीड़ित जलदीप ने अपने रिश्तेदारों से बात कर 9 जुलाई 2019 को एक लाख 22 हजार रुपये पहली बार सुरेश कुमार के कहे अनुसार श्री श्याम कंप्यूटर के नाम से एक अकाउंट में ट्रांसफर कर दिए। उसके बाद तीन लाख एक बार और फिर तीन लाख रुपये अगले महीने सुरेश कुमार के कहने पर एक बजरंग नाम के शख्स को दिल्ली में उसके क्वार्टर पर केश दिए। सुरेश ने बताया था कि बजरंग ही रांची जाकर उसका काम करेगा। इसके बाद अक्टूबर 2019 में आगे की कार्रवाई के लिए 7 लाख 78 हजार रुपये आरोपित सुरेश कुमार उसके घर से कैश लेकर गया। 15 लाख रुपए की नकदी देने के बाद आरोपित सुरेश कुमार व्हाट्सअप के जरिए उसे नौकरी से संबंधित फर्जी दस्तावेज भेजता रहा। काफी दिन बाद भी जलदीप के दोनों में से कोई भी रिश्तेदार नौकरी नहीं लगे तो उसने सुरेश से पैसे वापस मांगे, पहले तो आरोपित अपने साले का बहाना बनाकर उसे गुमराह करता रहा, लेकिन जब उसने दबाव बनाया तो आरोपित सुरेश ने अपनी पत्नी के जरिए झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी दी।

उसके बाद वह आरोपित की साजिश से वाकिफ हो गया। उसने भादरा में पहुंचकर उसके साले मदनलाल से संबंधित जानकारी भी जुटाई, लेकिन बार-बार कहने पर भी उसे पैसे वापस नहीं दिए। उसने खोल थाना पुलिस को शिकायत दी। पुलिस ने तीनों आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। वारदात में पीडि़त पूर्व सैनिक जलदीप ने आरोपित सुरेश की पत्नी गीता के खिलाफ भी केस दर्ज कराया है।

Next Story