Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

NSG में टेंडर के नाम पर ठगे 125 करोड़, पत्नी और बहन सहित ​BSF का डिप्टी कमांडेंट गिरफ्तार

आरोपी प्रवीण फर्जी आईपीएस बनकर एनएसजी में हाउसिंग कंस्ट्रक्शन का टेंडर दिलाने के नाम पर लोगों से ठगी कर रहा था। वह पहले एनएसजी मानेसर में डेपुटेशन पर तैनात था और कंस्ट्रक्शन का काम भी देखता था। इसलिए उसकी जान पहचान थी।

NSG में टेंडर के नाम पर ठगे 125 करोड़, पत्नी और बहन सहित ​BSF का डिप्टी कमांडेंट गिरफ्तार
X

आरोपी प्रवीण

गुरुग्राम पुलिस ( Gurugram Police ) ने एनएसजी ( nsg) में टेंडर दिलाने के नाम पर 125 करोड़ की ठगी के मामले में बीएसएफ ( bsf ) के डिप्टी कमांडेंट प्रवीण यादव, उनकी पत्नी और बहन सहित 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपी प्रवीण फर्जी आईपीएस ( ips) बनकर एनएसजी में हाउसिंग कंस्ट्रक्शन का टेंडर दिलाने के नाम पर लोगों से ठगी कर रहा था। वह पहले एनएसजी मानेसर में डेपुटेशन पर तैनात था और कंस्ट्रक्शन का काम भी देखता था। इसलिए उसकी जान पहचान थी। आरोपियों के कब्जे से 13.81 करोड़ भी मिले हैं।

इन शिकायतों पर कार्रवाई

पुलिस ने बताया कि देवेंद्र यादव डायरेक्टर ऑफ वाईएफसी प्रोजेक्टस प्रा.लि. एंड डीकेवाई प्रोजेक्टस प्रा.लि., विशाली जैन डायरेक्टर ऋषभ फर्म एंड इंडस्ट्रीज प्रा.लि. अरूम प्रोजेक्टस प्राइवेट लिमिटेड वर्किंग ऑफिस गुरुग्राम और मंगला स्पन पाइप इंडस्ट्रीज, श्याम इंडस्ट्रीज व सी हॉक सर्विस फर्म के संचालक किरणपाल यादव पुत्र फकीर चंद यादव निवासी गुरावड़ा जिला रेवाड़ी ने लगभग 125 करोड़ की ठगी करने के संबंध में शिकायत दी है।

पत्नी, बहन और जीजा के साथ मिलकर ठगी

गुरुग्राम के एसीपी प्रीतपाल ने बताया कि 8 जनवरी 2022 को मोनेश इसरानी ने शिकायत दी कि प्रवीण यादव ने एनएसजी में कंस्ट्रक्शन, सोलर जैसे बड़े टेंडर दिलाने के नाम पर झूठे अलॉटमेंट लेटर देकर 125 करोड़ की ठगी की है। उसके साथ कमल सिंह, दिनेश निवासी हिसार भी शामिल हैं। यह राशि अकाउंट में दी गई। यह अकाउंट उसकी बहन रितुराज यादव के नाम है जो एक्सिस बैंक में मैनेजर हैं। पुलिस ने प्रवीण यादव, बहन रितुराज यादव, पत्नी ममता यादव और दिनेश को गिरफ्तार किया।

Next Story