Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा में आज कोरोना से 11 की मौत व 2300 से ज्यादा केस, सख्ती बढ़ाने पर स्वास्थ्य मंत्री ने कही यह बात

प्रदेश में कोरोना के कुल केस 304638 हो चुके हैं। 3219 लोगों की मौत हो चुकी है और अभी 15237 एक्टिव केस हैं।

कोरोना के 240 नये मामले आए सामने, पांच की मौत, मरने वाले थे बी-पी सुगर के मरीज
X
कोरोना वायरस (प्रतीकात्मक फोटो)

प्रदेश में कोराना वायरस तेजी के साथ पैर पसारने लगा है। सख्ती के बाद भी लोग नियम नहीं मान रहे जिस कारण कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। बुधवार को प्रदेश में कोरोना के 2366 केस सामने आए और 11 लोगों की मौत भी हुई। वहीं 1198 लोगों ने कोरोना को मात भी दी। प्रदेश में कोरोना के कुल केस 304638 हो चुके हैं। इनमें से 286182 लोग स्वस्थ हो चुके हैं और 3219 लोगों की मौत हो चुकी है। अभी 15237 एक्टिव केस हैं जबकि रिकवरी दर 93.94 प्रतिशत है। प्रदेश में 2127118 लोगों को कोरोना की वैक्सिन लगाई जा चुकी है।

बुधवार को कहां पर कितने केस मिले

Gurugram 611, Faridabad 280, Sonipat 170, Hisar 58, Ambala 129, Karnal 222, Panipat 112, Rohtak 79, Rewari 8, Panchkula 107, Kurukshetra 166, Yamunanagar 141, Sirsa 43. Mahindergarh 4, Bhiwani 27, Jhajjar 47, Palwal 3, Fatehabad 33, Kaithal 9, Jind 112, Nuh 2, Charkhi Dadri 3

पुलिस और यूएलबी को सख्ती के आदेश, बिना मास्क होगा चालान : विज

एक बार फिर से कोविड-19 का संक्रमण सिर चढ़कर बोलने लगा है, पड़ोसी राज्य पंजाब सहित अन्य कईं राज्यों में नाइट कर्फ्यू की शुरुआत हो गई है। एक दिन पहले ही प्रदेश के गृह एवं सेहत मंत्री अनिल विज ने केंद्रीय मंत्री डाक्टर हर्षवर्धन की वीसी में हिस्सा लेकर राज्य में इंतजामों और संक्रमण के बारे में जानकारी दी थी। अनिल विज ने साफ कर दिया है कि हालात एक बार फिर से चुनौतीपूर्ण हैं, इस संबंध में गुरुवार की शाम को पीएम राज्यों के साथ में वीसी करेंगे।

जिसके बाद ही कोई अहम फैसला लिया जा सकता है। हमने यूएलबी (अरबन लोकल बाडी) विभाग के आला अफसरों व पुलिस अफसरों से एक बार फिर एक्शन में आने व बिना मास्क घूमने वालों के चालान काटने के लिए कहा है। प्रदेश के गृह, सेहत व शहरी निकाय मंत्री अनिल विज ने देर शाम को हरिभूमि की ओर से किए गए कईं सवालों को लेकर जवाब दिए। राज्य में संक्रमण बढ़ने और मरीजों की संख्या बढ़ने हालातों पर विज का कहना है कि वास्तव में पिछले साल जैसे हालात बन गए हैं लेकिन वैक्सीन लगवाने व बचाव रखने की जरुरत है। दूसरा हमने सभी आइसोलेशन सेंटरों, कोविड अस्पतालों को लेकर समीक्षा कर ली है, जिसके लिए तैयार रहने को कहा गया है। विज का कहना है कि सरकारी केंद्रों में अभी से मरीजों की अच्छी खासी संख्या है, इसीलिए निजी क्षेत्र के अस्पतालों को लेकर समीक्षा की तैयारी की जा रही है। जिन्हें तैयार रहने के लिए कहा गया है।

Next Story