Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भूख हड़ताल पर बैठे यासीन मलिक की तबियत बिगड़ी, डॉक्टर को लेटर लिखकर की ये गुजारिश

राजधानी दिल्ली के तिहाड़ जेल (Tihar Jail) में आजीवन कारावास (Life Imprisonment) की सजा काट रहे कश्मीरी अलगाववादी नेता यासीन मालिक ( Yasin Malik) को बुधवार को एक अस्पताल में भर्ती कराया गया हैं। मलिक पिछले शुक्रवार से भूख हड़ताल पर बैठा हुआ हैं।

भूख हड़ताल पर बैठे यासीन मलिक की तबियत बिगड़ी, डॉक्टर को लेटर लिखकर की ये गुजारिश
X

राजधानी दिल्ली के तिहाड़ जेल (Tihar Jail) में आजीवन कारावास (Life Imprisonment) की सजा काट रहे कश्मीरी अलगाववादी नेता यासीन मालिक ( Yasin Malik) को बुधवार को एक अस्पताल में भर्ती कराया गया हैं। मलिक पिछले शुक्रवार से भूख हड़ताल (Hunger Strike) पर बैठा हुआ हैं।जिसके कारण यासीन मलिक की आज यानी (बुधवार) को आरएमएल अस्पताल (RML Hospital) में भर्ती कराया गया हैं।

सूत्रों ने बताया कि मलिक ने अस्पताल के डॉक्टरों को पत्र लिखकर कहा है कि वह इलाज नहीं कराना चाहता हैं। एक सूत्र ने बताया, "उसे बीपी में उतार-चढ़ाव के बाद मंगलवार को आरएमएल अस्पताल (RML Hospital) में भर्ती कराया गया था।" रुबैया सईद के अपहरण मामले की सुनवाई कर रही जम्मू की एक अदालत में केंद्र द्वारा उन्हें पेश नहीं होने देने के बाद उन्होंने भूख हड़ताल शुरू की।

मलिक इस मामले में आरोपी है। मलिक को तिहाड़ जेल नंबर सात में उच्च जोखिम वाली कोठरी में अकेला रखा गया है। अलगाववादी नेता यासीन मलिक (Separatist Leader Yasin Malik) को जेल के मेडिकल जांच कक्ष में ले जाया गया, जहां उसने IV तरल पदार्थ दिए जा रहा था। जेकेएलएफ प्रमुख मलिक आतंकवाद (Terrorism) के वित्तपोषण के एक मामले में उम्रकैद की सजा काट रहा है।

बता दें यासीन मलिक 90 के दशक में कश्मीरी पंडितों (Kashmiri Pandits) की हत्या का मास्टरमाइंड है। इसके अलावा उस पर 1990 में वायुसेना के 4 जवानों की हत्या का भी आरोप है। वायुसेना के जवानों (Air Force personnel) पर हमला 25 जनवरी 1990 को हुआ था, जब जवान श्रीनगर में एयरपोर्ट जाने के लिए बस का इंतजार कर रहे थे। इस हमले में स्क्वाड्रन लीडर रवि खन्ना समेत चार जवान शहीद हो गए थे, जबकि 40 लोग घायल हो गए थे।

और पढ़ें
Next Story