Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi News: दिल्ली में यमुना खतरे के निशान से ऊपर, सत्येंद्र जैन बोले- हम बाढ़ जैसी समस्या से निपटने के लिए तैयार

Delhi News: हरियाणा के यमुनानगर के हथिनीकुंड बैराज से दो दिन से पानी छोड़ा जा रहा है। लाखों क्यूसेक पानी दिल्ली की ओर आ रहा है। यमुना के बढ़ते जलस्तर को देखते हुए लोहे का पुल बंद कर दिया गया है। शुक्रवार की सुबह दिल्ली में यमुना का जलस्तर 205.17 मीटर पर था जो अब खतरे के निशान को पार कर चुका है। दिल्ली सरकार में जलमंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि हमने पूरी तैयारियां कर ली है।

Delhi News: दिल्ली में यमुना खतरे के निशान से ऊपर, सत्येंद्र जैन बोले- हम बाढ़ जैसी समस्या से निपटने के लिए तैयार
X

दिल्ली में यमुना खतरे के निशान से ऊपर

Delhi Yamuna Water Level दिल्ली में बारिश (Delhi Rain) का सिलसिला जारी है। वहीं दूसरी तरफ लाखों क्यूसेक पानी यमुना नदी में छोड़ा जा रहा है जिससे यमुना खतरे के निशान से ऊपर चली है। क्योंकि हथिनी कुंड (Hathnikund Barrage) के पानी से दिल्ली पर बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। निचले इलाकों में रहने वाले लोगों के लिए समस्या बढ़ गई है। वहीं प्रशासन 24 घंटे हालात पर नजर बनाए हुए है। यमुना नदी में पानी बढ़ने से उफान पर पहुंच गई है। क्योंकि जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। वहीं आईटीओ पर यमुना का बहाव काफी तेज हो गया है।

उधर, हरियाणा के यमुनानगर के हथिनीकुंड बैराज से दो दिन से पानी छोड़ा जा रहा है। लाखों क्यूसेक पानी दिल्ली की ओर आ रहा है। यमुना के बढ़ते जलस्तर को देखते हुए लोहे का पुल बंद कर दिया गया है। शुक्रवार की सुबह दिल्ली में यमुना का जलस्तर 205.17 मीटर पर था जो अब खतरे के निशान को पार कर चुका है। दिल्ली सरकार में जलमंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि हमने पूरी तैयारियां कर ली है।

अगर बाढ़ की स्थिति पैदा होती है तो हम तैयार हैं। जैसे ही यमुना का स्तर खतरे के निशान के पास पहुंचेगा अलर्ट जारी कर दिया जाएगा। क्योंकि किनारे पर जितने भी इलाके हैं, वह प्रभावित हो सकते हैं। उन इलाकों चिह्नित किया हुआ है, जिसकी लिस्ट भी जारी की जाएगी। सारे डीएम की ड्यूटी तैनात किए गए है। अभी ऐसी स्थिति नहीं आई है कि फ्लडलाइन के इलाकों को खाली कराया जाए।

दिल्ली के लिए मौसम विभाग ने यमुना से सटे क्षेत्रों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया है। अगर हालात गंभीर हुए तो यमुना के किनारे बसे कुछ और इलाकों को खाली कराया जा सकता है। वहीं प्रशासन राहत और बचाव का काम संभाल सकता है। हथिनी कुंड बैराज से बुधवार को यमुना नदी में 1.6 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया, जिसका बहाव दिल्ली की तरफ है। वहीं, गुरुवार को भी 1.14 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया। जिससे दिल्ली में यमुना नदी का जलस्तर बढ़ता जा रहा है।

Next Story