Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सोशल मीडिया पर पत्नी की अश्लील तस्वीरें कर दी वायरल, पुलिस ने पति को ऐसे किया गिरफ्तार, साथ ही पढ़ें नोएडा की टॉप न्यूज

पुलिस ने बताया कि हरियाणा के भोडसी के रहने वाले रविंद्र राघव का अपनी पत्नी से विवाद चल रहा था जिसके कारण वह ससुराल छोड़कर ग्रेटर नोएडा में रहने लगी तथा एक कंपनी में नौकरी करने लगी। इस बात से परेशान रविंद्र ने फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाया और अपनी पत्नी का आपत्तिजनक वीडियो उस पर अपलोड कर दिया

सोशल मीडिया पर पत्नी की अश्लील तस्वीरें कर दी वायरल, पुलिस ने पति को ऐसे किया गिरफ्तार, साथ ही पढ़ें नोएडा की टॉप न्यूज
X

सोशल मीडिया पर पत्नी की अश्लील तस्वीरें कर दी वायरल

Noida Crime नोएडा में एक व्यक्ति ने विवाद के बाद अपनी पत्नी (Wife) को बदनाम करने के इरादे से उसकी आपत्तिजनक तस्वीर (Indecent Pictures) और वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर अपलोड कर दी। पुलिस (Delhi Police) ने घटना की रिपोर्ट दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार (Arrested) कर लिया है। थाना ईकोटेक-3 के प्रभारी निरीक्षक भुवनेश कुमार ने बताया कि हरियाणा के भोडसी के रहने वाले रविंद्र राघव का अपनी पत्नी से विवाद चल रहा था जिसके कारण वह ससुराल छोड़कर ग्रेटर नोएडा में रहने लगी तथा एक कंपनी में नौकरी करने लगी। इस बात से परेशान रविंद्र ने फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाया और अपनी पत्नी का आपत्तिजनक वीडियो उस पर अपलोड कर दिया। उन्होंने बताया कि पीड़िता ने थाना ईकोटेक-3 में घटना की रिपोर्ट दर्ज कराई है। मामले की जांच कर रही पुलिस ने मंगलवार को आरोपी को गिरफ्तार कर लिया और उसका मोबाइल फोन भी जब्त कर लिया है।

युवती की कहानी सुन पुलिस के उड़े होश

नोएडा के सेक्टर-39 थाने में खून से लथपथ और घायल हालत में पहुंची युवती की कहानी से पुलिस के होश उड़ा दिए थे। इसके बाद पुलिस अलर्ट मोड पर आई और युवती द्वारा बताई गई सोसायटी को चारों तरफ से घेर लिया, लेकिन सीसीटीवी फुटेज और सिक्यॉरिटी गार्ड के बयान से युवती की झूठी कहानी की पोल खुल गई। इसके बाद पुलिस ने झूठा मुकदमा लिखवाने के आरोप में युवती पर केस दर्ज कर लिया है। युवती ने रविवार को सेक्टर-39 पुलिस को बताया था कि कुछ युवक उसे उठाकर सोसायटी के एक फ्लैट में ले गए और रेप की घटना को अंजाम दिया है। यही नहीं, उन्‍होंने जान से मारने की नियत से मेरे पैर में भी गोली मार दी है। वह किसी तरह जान बचाकर भाग निकली है। युवती की बात को लेकर पुलिस ने ताबड़तोड़ एक्‍शन ले डाले, लेकिन मौके पर पहुंचने के बाद मामला कुछ और ही निकला।

गौतम बुद्ध नगर जिले में कोविड की स्थिति में सुधार

उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर जिले में पृथक-वास में रह कर कोविड-19 का इलाज करवा रहे मरीजों की संख्या 100 से नीचे चली गयी है। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। कोविड-19 महामारी की दूसरी भयावह लहर के चरम पर पहुंचने के दौरान यह संख्या सात हजार के करीब थी। राज्य के स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक गौतमबुद्ध नगर और उसके आस-पास के क्षेत्रों में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या 176 पर पहुंच गयी है। कोविड-19 को लेकर बनाए गए जिले के निरीक्षण अधिकारी डॉ सुनील दोहरे ने पीटीआई-भाषा से कहा, ''आज कोविड-19 के 72 मरीज घर में रहकर अपना इलाज करवा रहे हैं, जबकि एक समय यह संख्या सात हजार तक थी।'' गौरतलब है कि 30 अप्रैल को गौतमबुद्ध नगर में कोविड-19 के 1,478 नये मामले सामने आये थे जबकि सोमवार को केवल आठ नये मामले दर्ज किए गए। दूसरी लहर के दौरान यह सबसे गंभीर रूप से प्रभावित जिलों में से एक था। जिले में इस महामारी के कारण अब तक 466 लोगों की मौत हो चुकी है।

बच्ची से दुष्कर्म का प्रयास करने वाला पड़ोसी गिरफ्तार

नोएडा के थाना सेक्टर-20 के अंतर्गत एक गांव में छह वर्षीय बच्ची से उसके पड़ोस में रहने वाले एक व्यक्ति ने कथित तौर पर बलात्कार का प्रयास किया। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने इस बारे में बताया। थाना सेक्टर-20 के प्रभारी निरीक्षक मुनीष चौहान ने बताया कि क्षेत्र के एक गांव में रहने वाले व्यक्ति ने सोमवार को रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसकी छह वर्षीय बेटी को उसके पड़ोस में रहने वाला अशोक दास अपने कमरे में बहला-फुसलाकर ले गया तथा उससे दुष्कर्म करने का प्रयास कर रहा था। इसी दौरान परिजन वहां पर पहुंच गए। उन्होंने बताया कि घटना की रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच कर रही पुलिस ने मंगलवार सुबह आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

गाजियाबाद में कांग्रेस ने किया प्रदर्शन

कांग्रेस ने गाजियाबाद नगर निगम के गृह कर में 15 प्रतिशत की वृद्धि के निर्णय को वापस लेने की मांग करते हुए कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के कारण लोग पहले ही आर्थिक संकट का सामना कर रहे हैं, ऐसे में इस फैसले को वापस लिया जाना चाहिए। पार्टी की गाजियाबाद इकाई ने सोमवार को कवि नगर के रामलीला मैदान में धरना दिया और फिर नगर निगम के फैसले के खिलाफ रैली निकाली। गाजियाबाद कांग्रेस के अध्यक्ष मनोज कौशिक ने बताया कि गाजियाबाद नगर निगम द्वारा ऐसे समय में गृह कर में वृद्धि करना एक क्रूर कदम है, जब लोग पहले ही आर्थिक परेशानियों का सामना कर रहे हैं। कौशिक ने कहा कि लॉकडाउन ने लोगों की आर्थिक स्थिति बद से बदतर कर दी है। करों में कुछ रियायत देने के बजाय नगर निगम ने 15 प्रतिशत गृह कर बढ़ा दिया है।

Next Story