Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Unlock 8: दिल्ली मेट्रो और डीटीसी बसों में पूरी क्षमता के साथ संचालन शुरू, लेकिन यात्रियों को आई ये परेशानी

Delhi Unlock 8: नए अनलॉक दिशानिर्देश के तहत दिल्ली की जीवनरेखा दिल्ली मेट्रो का परिचालन सोमवार से शत प्रतिशत सीट क्षमता के साथ करने की घोषणा की गई है, लेकिन यात्रियों को खड़े होकर सफर करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। सूत्रों ने पहले बताया था कि प्रत्येक डिब्बे में 50 लोग ही यात्रा कर सकते हैं।

Delhi Unlock 8: दिल्ली मेट्रो और डीटीसी बसों में पूरी क्षमता के साथ संचालन शुरू, लेकिन यात्रियों को आई ये परेशानी
X

दिल्ली मेट्रो और डीटीसी बसों में पूरी क्षमता के साथ संचालन शुरू

Delhi Unlock 8 कोरोना के मामलों (Delhi Coronavirus) में आई कमी के मद्देनजर आज से दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) और डीटीसी बसों (DTC Buses) में पूर्ण क्षमता के साथ संचालन शुरू हो गया है। इसका मतलब जितनी सीट उतने ही यात्री सफर कर सकेंगे। लेकिन यात्रियों के खड़े होकर यात्रा करने पर अब भी मना जारी हैं। यानी सिर्फ सीटों पर ही लोग बैठकर यात्रा कर पाएंगे। दिल्ली मेट्रो रेल निगम (DMRC) कोरोना के कारण लंबे समय के बाद मेट्रो सेवाएं बहाल होने पर सात जून से 50 प्रतिशत सीट क्षमता के साथ ट्रेनों का परिचालन कर रहा है। यात्रियों की संख्या बढ़ने के मद्देनजर 16 मेट्रो स्टेशन पर 16 अतिरिक्त द्वार भी खोल दिए गए हैं, ताकि यात्रियों की आवाजाही को बेहतर बनाया जा सके।

सभी स्टेशनों पर 276 द्वार का इस्तेमाल की मंजूरी

दिल्ली में अप्रैल और मई महीने में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के दौरान संक्रमण के मामलों और मौत की संख्या में वृद्धि देखी गई थी। हालांकि, पिछले कुछ हफ्तों में स्थिति में सुधार आया है, जिसके बाद सरकार चरणबद्ध तरीके से शहर को दोबारा खोल रही है। डीएमआरसी ने पहले ही 260 प्रवेश द्वार यात्रियों के लिए खोल गए थे, अब इनके अलावा 16 और प्रवेश द्वार खोले गए हैं। अब लोग सभी स्टेशनों पर 276 द्वार का इस्तेमाल कर सकते हैं। डीएमआरसी के अनुसार, जिन स्टेशनों पर अतिरिक्त द्वार खोले गए हैं, उनमें जनकपुरी पश्चिम, केन्द्रीय सचिवालय, एमजी रोड, करोल बाग, वैशाली और कश्मीरी गेट शामिल हैं।

हर डिब्बे में 50 लोग ही कर सकते यात्रा

नए अनलॉक दिशानिर्देश के तहत दिल्ली की जीवनरेखा दिल्ली मेट्रो का परिचालन सोमवार से शत प्रतिशत सीट क्षमता के साथ करने की घोषणा की गई है, लेकिन यात्रियों को खड़े होकर सफर करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। सूत्रों ने पहले बताया था कि प्रत्येक डिब्बे में 50 लोग ही यात्रा कर सकते हैं। इससे पहले एक डिब्बे में 300 लोग यात्रा करते थे, 50 सीट पर बैठकर और 250 लोग खड़े होकर यात्रा करते थे। डीएमआरसी ने लोगों से अवश्यक होने पर ही यात्रा करने की अपील की है। डीएमआरसी में 242 स्टेशनों में 10 लाइनें हैं, और गुड़गांव में रैपिड मेट्रो सहित कुल 264 स्टेशन हैं।

मेट्रो स्टेशनों पर दिखी भीड़

दिल्ली मेट्रो का आज पूरी क्षमता के साथ चलने का पहला दिन था, ऐसे में सुबह से ही अलग-अलग स्टेशन पर लंबी लाइनें लग गईं। बदरपुर बॉर्डर मेट्रो स्टेशन, आनंद विहार मेट्रो स्टेशन, निर्माण विहार मेट्रो स्टेशन समेत दिल्ली के अलग-अलग मेट्रो स्टेशन पर सुबह लंबी लाइनें दिखीं। इस दौरान मेट्रो में कुछ देर दिक्कत आने के कारण कुछ स्टेशन पर गेट भी नहीं खुले, ऐसे में लोगों को काफी परेशानी हुई। लोग इस बात से खुश थे कि लंबे वक्त के बाद मेट्रो पूरी कैपिसिटी में चलने से कुछ आसानी होगी, लेकिन पहले ही दिन जमकर गड़बड़ी दिखी।

Next Story